--Advertisement--

मानिकपुर एक्सीडेंट की रिलीफ ट्रेन पहुंची मुगलसराय स्टेशन, नाश्ते पर टूट पड़े लोग

मानिकपुर में हुए रेल हादसे में कुछ घायल यात्रियों को लेकर रिलीफ ट्रेन मुगलसराय स्टेशन पर पहुंची।

Danik Bhaskar | Nov 24, 2017, 06:15 PM IST
चित्रकूट के मानिकपुर स्टेशन क चित्रकूट के मानिकपुर स्टेशन क

चंदौली. मानिकपुर में हुए रेल हादसे में कुछ घायल यात्रियों को लेकर रिलीफ ट्रेन मुगलसराय स्टेशन पर पहुंची। यहां घायल रेल यात्रियों के लिए रेल प्रशासन की ओर से नाश्ते के पैकेट और पानी का अरेंजमेंट के साथ ही मेडिकल की टीम को लगाया गया था। हांलाकि, इंतजाम देखकर यात्री काफी नाखुश हुए।

यात्री बोले- 200 में 10 ही लोगों को कुछ मिला होगा...

- यात्री संतोष ने बताया, किसी को चाय-पानी तक नहीं मिला होगा। 200 लोगों में चेहरा देखकर 10 को कुछ मिला हो तो कहा नहीं जा सकता है। बाकी तो छीना-झपटी शुरू हो गई थी, पानी तक नहीं पूछा गया। कुली तक की व्यवस्था नहीं की गई कि घायलों का सामान तक ले जाए।

- यात्री संजय मित्तल ने बताया, रिलीफ ट्रेन में करीब 350 से 400 यात्री रहे होंगे। पानी और नाश्ते के लिए लोग जूझते नजर आए। भूखे-प्यासे लोग पानी के लिए टूट पड़े।
- रश्मि ने बताया, महिलाओं के लिए कोई व्यवस्था नहीं थी। भीड़ में कोई महिला कैसे पानी और पैकेट लेती। लोग एक दूसरे से छीना-झपटी कर रहे थे।

क्या बोले अधि‍कारी ?


- मुगलसराय स्टेशन के डायरेक्टर हिमांशु शुक्ला ने बताया, 7 कोच में यात्री आए थे। 200 लोगों के चाय-नाश्ता, 200 बोतल पानी और मेडीकल फैसि‍लिटी का इंतजाम किया गया था।
- मुगलसराय मंडल के डीआरएम किशोर कुमार ने कहा कि रिलीफ ट्रेन लेकर जब यात्रियों को लेकर पहुंची तो सभी को चाय-नाश्ते का अरेंजमेंट किया गया था।

हादसे में 3 की मौत, 13 जख्मी

- चित्रकूट के मानिकपुर स्टेशन के पास वास्को डी गामा-पटना एक्सप्रेस शुक्रवार सुबह पटरी से उतर गई। इस हादसे में 3 लोगों की मौत हो गई और 13 जख्मी हो गए।
- ट्रेन गोवा के मडगांव स्टेशन से चलकर पटना जा रही थी। बाद में ट्रेन को सात कोच के साथ पटना रवाना कर दिया गया।

हादसे की वजह क्या रही?

- इसे लेकर अलग-अलग बातें सामने आईं। घटना के कुछ देर बाद यूपी के एडीजी (लॉ एंड ऑर्डर) ने स्थानीय लोगों के हवाले से बताया कि हादसा पटरी के टूटने की वजह से हुआ है। दूसरी तरफ, प्रिंसिपल सेक्रेटरी होम अरविंद कुमार ने बताया कि यह हादसा तकनीकी खराबी की वजह से हुआ। उन्होंने यह बात रेलवे अफसरों के हवाले से मीडिया से कही।