वाराणसी

--Advertisement--

बुर्का हटवा कर की गई महिलाओं की चेकिंग, बोलीं- अच्छा नहीं लगा-1st टाइम ऐसा हुआ

तीसरे और अंतिम चरण के लिए हो रहा है मतदान।

Danik Bhaskar

Nov 29, 2017, 01:02 PM IST
तीसरे फेज के चुनाव के लिए हो रही है वोटिंग। तीसरे फेज के चुनाव के लिए हो रही है वोटिंग।

चंदौली. नगर निकाय के तीसरे और अंतिम चरण के लिए 26 जिलों की 26 जिलों की 233 सीटों पर हो रही वोटिंग हो रही है। चंदौली जिले में नगर पालिका के लिए मतदान करने आई मुस्लिम महिलाओं का महिला पुलिसकर्मियों ने बुर्का हटवा कर जांच की।

-नगर पालिका मुगलसराय में महिला कांस्टेबल मुस्लिम महिलाओं का बुर्का हटवाकर चेहरे का मिलान पहचान पत्र (आई कार्ड) की। इस दौरान बुर्कानशी महिलाओं ने नराजगी जताई।

इस्लाम नहीं देता इजाजत


-मुस्लिम महिलाओं का कहना है- "इस इस्लाम इसकी इजाजत नहीं देता। अगर जांच करनी है तो पब्लिक के सामने नहीं किया जाना चाहिए बल्कि इसके लिए इंतजाम करके रखना चाहिए था।
-रेहाना नाम की एक वोटर ने कहा- "ऐसा पहली बार हुआ है जो अच्छा नहीं लगा। ऐसा नहीं होना चाहिए।
-वहीं, वोटर फरहत नाज ने बताया- "मुसलमानो के लिए गलत है, इसको हम लोग सही नहीं मानते हैं। किसी के ऊपर आरोप लगाकर चेक किया जा रहा है।"
-सलमा ने बताया- "बिल्कुल गलत किया जा रहा है, क्या मुंह खुलवाकर फर्जी मतदान रुक जाएगा। हमारा आधार कार्ड है, क्या वो भी फर्जी बनवा लिया गया है।

प्रशासन ने साधी चुप्पी


-पूरे मामले पर कोई भी जिम्मेदार अधिकारी कुछ भी बात करने को तैयार नहीं है। जांच कर रही महिला कांस्टेबल ने बस इतना कहा- "फर्जी मतदान रोकने के लिए सभी के सहयोग की आवश्यकता है।"


योगी की रैली में भी हटवाया गया था नाम


-निकाय चुनाव के प्रचार के सीएम योगी आदित्यनाथ ने बलिया जिले में एक जनसभा को संबोधित किया था। इसी रैली में एक मुस्लिम महिला भी मौजूद थी। वहां मौजूद पुलिस और सुरक्षाकर्मियों ने महिला का बुर्का उतरवाया था।

महिलाओं ने कहा- ऐसा करने की इजाजत इस्लाम नहीं देता। महिलाओं ने कहा- ऐसा करने की इजाजत इस्लाम नहीं देता।
उनका कहना है की इसके लिए अलग से व्यवस्था की जानी चाहिए। उनका कहना है की इसके लिए अलग से व्यवस्था की जानी चाहिए।
Click to listen..