वाराणसी / केंद्रीय मंत्री गजेंद्र शेखावत ने ट्रीटमेंट प्लांट का किया निरीक्षण, कहा - गंगा का पानी आचमन योग्य बनाना ही लक्ष्य

दीनापुर सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण करते हो केंद्रीय मंत्री दीनापुर सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण करते हो केंद्रीय मंत्री
X
दीनापुर सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण करते हो केंद्रीय मंत्रीदीनापुर सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण करते हो केंद्रीय मंत्री

  • बोले- चार हजार करोड़ रुपए खर्च हुआ लेकिन अब तक प्रभाव नहीं दिखा
  • केंद्र में मोदी की सरकार बनने के बाद पहली बार केंद्रीय मंत्री का आगमन

Jun 18, 2019, 04:53 PM IST

वाराणसी. केंद्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने मंगलवार को यहां के दीनापुर ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण किया। इसके बाद उन्होंने कहा कि गंगा के पानी को आचमन योग्य बनाना ही उनका लक्ष्य है और सरकार इस दिशा में पूरी गंभीरता से काम कर रही है। 

 

सुबह बनारस पहुंचने के साथ ही सबसे पहले दीनापुर स्थित 80 व 140 एमएलडी की स्थापित सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट का निरीक्षण किया। इस दौरान एसटीपी की क्षमता के अनुसार कार्य करने की दक्षता का आकलन किया। इसके बाद गजेंद्र सिंह शेखावत ने कहा कि  गंगा सफाई अभियान पर 4 हजार करोड़ का खर्च हुआ, लेकिन अभी तक वैसा प्रभाव नहीं दिखा। नेशनल मिशन फ़ॉर गंगा क्लीनिंग स्थापित किया गया है। गंगा का पानी आचमन योग्य बने यही हमारा लक्ष्य है। 

 

उत्तराखंड और झारखंड में एसटीपी प्लांट के प्रोजेक्ट इस वर्ष के अंत तक पूरे हो जाएंगे। यूपी में 87 प्रोजेक्ट लिए गए थे, जिसमें से अभी तक 15 प्रोजेक्ट पूरे हुए हैं। इसमे 3 बनारस के हैं। उन्होंने बताया कि रिवर सरफेस क्लीनिंग के तहत 26 घाटों का निर्माण होना है। कानपुर में टेनरी के इंफ्लुएंट को रोकने काम चल रहा है। अविरलता सबसे बड़ी आवश्यकता है। इसके लिए सहायक नदियों की पवित्रता और अक्षुणता के लिए भी काम चल रहा है। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना