गाजीपुर / सीआरपीएफ जवान महेश कुमार का हुआ अंतिम संस्कार, पिता ने दी मुखाग्नि



X

  • जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में हुए आतंकी हमले में हुए थे शहीद
  • शहीद का राजकीय सम्मान के साथ हुआ अंतिम संस्कार
  • अंतिम विदाई में उमड़ी भीड़, पाकिस्तान मूर्दाबाद के लगे नारे

Dainik Bhaskar

Jun 14, 2019, 04:50 PM IST

गाजीपुर. जम्मू कश्मीर के अनंतनाग में आतंकी हमले में शहीद हुए सीआरपीएफ जवान महेश कुशवाहा का पार्थिव शरीर गुरुवार देर रात गाजीपुर स्थित उनके पैतृक गांव पहुंचा। जैतपुरा गांव में शहीदों का शव पहुंचने से पहले ही बड़ी संख्या में लोग पहुंच गए। लोगों ने शहीद के पार्थिव शरीर पर माल्यापर्ण कर शहीद को नमन किया। इसके बाद पूरे राजकीय सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया गया। पिता ने बेटे के पार्थिव शरीर को मुखाग्नि दी। 

 

बाबतपुर एयरपोर्ट पर पहुंचे उत्तर प्रदेश सरकार के राज्य मंत्री नीलकंठ तिवारी ने श्रद्धांजलि अर्पित करने के साथ ही पार्थिव शरीर के साथ देर रात गाजीपुर पहुंचे। इस दौरान पूरे गांव में हिंदुस्तान जिंदाबाद पाकिस्तान मुर्दाबाद के नारे गूंज उठे। हजारों हाथों ने अपने जिले के लाल की शहादत पर फक्र जाहिर करते हुए भावभीनी श्रद्धांजलि अर्पित की। पूरे राजकीय सम्मान के साथ शहीद को अंतिम सलामी दी गई।

 

अनंतनाग मुठभेड़ में शहीद हुए थे महेश कुशवाहा
गाजीपुर के जैतपुरा गांव के रहने वाले महेश कुशवाहा पिछले दिनों जम्मू काश्मीर में आतंकियों से मुठभेड़ के दौरान शहीद हो गए। जिसके बाद से शहीद जवान के परिजनों समेत गांव में गम का माहौल है।  शहीद का शव पहुंचते ही लोग जुट गये और शहीदों के पार्थिव शरीर पर अपने श्रद्धा सुमन अर्पित किये। 

 

जैतपुरा के रहने वाले गोरखनाथ कुशवाहा के पुत्र महेश कुशवाहा की 2010 में बतौर कांस्टेबल ज्वाइनिंग हुईं थी। इससे पहले 2009 में 4 जून को उनकी शादी निर्मला से हुई। कुशवाहा का एक पुत्र और एक पुत्री है।

गाजीपुर में शहीद महेश कुशवाहा को दी गई श्रद्धांजलि

 

 

COMMENT