--Advertisement--

लापरवाही / 50 से अधिक लोगों की आंखों में संक्रमण, मेडिकल टीम पहुंचने के बाद मिली राहत



आखों में संक्रमण फैलने के बाद इलाज कराते लोग आखों में संक्रमण फैलने के बाद इलाज कराते लोग
X
आखों में संक्रमण फैलने के बाद इलाज कराते लोगआखों में संक्रमण फैलने के बाद इलाज कराते लोग

  • चिकित्सकों के मुताबिक, संक्रमण के बाद पैदा हुई ऐसी स्थिति
  • गांव में कैंप लगाकर किया उपचार, कुछ को कराया गया अस्पताल में भर्ती

Dainik Bhaskar

Nov 11, 2018, 11:28 AM IST

गाजीपुर. यहां के एक गांव में शुक्रवार रात बिरहा सुन कर लौटे 50 से अधिक लोगों को शनिवार सुबह दिखना बंद हो गया। आंखें नहीं खुलने और असहनीय दर्द से लोग तड़प उठे। गांव में अफरा तफरी का माहौल पैदा हो गया। सूचना पाकर स्वास्थ्य विभाग की टीम पहुंची और उनका इलाज शुरू किया। कुछ लोगों को अस्पताल में भर्ती कराया। चिकित्सक इसे आंख का संक्रमण बता रहे हैं।

 

पिपनार गांव में शुक्रवार को मां काली के पूजन उत्सव के दौरान राजभर बस्ती के पास बिरहा का आयोजन किया गया था। देर रात तक बिरहा सुनने के बाद ग्रामीण घर चले गए। सुबह उठने पर कई लोगों की आंखें खुल नहीं रही थीं। देखते ही देखते यह शिकायत कई घरों से आने लगी। कोई दर्द से कराह रहा थे तो कोई आंख की रोशनी चले जाने की आशंका से रोने लगा था। पीड़ितों की संख्या पचास से अधिक होने से पूरे गांव में अफरा तफरी का माहौल पैदा हो गया। डॉक्टरों ने पीड़ितों को दवा दी वहीं कई लोगों को अस्पताल भेजा गया।

 

नेत्र चिकित्सक डॉ. छांगुर राम ने बताया कि आयोजकों ने ऊसर भूमि में पानी भर कर जोते गए खेत में पुआल रख कर उस पर दरी बिछा दी थी। वहां कुछ हैलोजन भी लगे हुए थे। जो लोग जमीन पर बैठकर बिरहा सुन रहे थे उन्हें संक्रमण की शिकायत हुई है। सभी का उपचार कराया जा रहा है।

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..