वाराणसी / झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने परिवार संग देखी गंगा आरती, कहा- नदियों का संरक्षण करना हम सबका दायित्व

X

  • शादी की सालगिरह के मौके पर शुक्रवार को पत्नी और बच्चों के साथ काशी पहुंचे थे सोरेन
  • शनिवार को विन्ध्यवासिनी मंदिर मिर्जापुर में परिवार के साथ दर्शन और पूजन करेंगे

दैनिक भास्कर

Feb 08, 2020, 12:41 PM IST

वाराणसी. काशी में झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन गुरुवार को पत्नी और बच्चों के साथ शादी की सालगिरह पर गंगा मैया से लेकर मंदिरों में मत्था टेकने पहुंचे। सीएम बनने के बाद सोरेन पहली बार वाराणसी में बाबा विश्वनाथ दरबार में आए हैं। हालांकि, उन्होंने मीडिया के सवालों से बचने की कोशिश की। कहा- यहां निजी कार्यक्रम में आया हूं। इसलिए कुछ बयान देना सही नहीं है।

गंगा आरती में हिस्सा लेने के बाद शुक्रवार देर शाम हेमंत ने कहा कि इससे पहले काशी में आम व्यक्ति की तरह ही आया था। यहां जो भी चीजें हैं, वो ईश्वर की दी हुईं हैं। उनसे क्या मांगा जाए। जो मिला है, उसी को संभाल लिया जाए। यही सबसे बड़ी चुनौती है। 

जलवायु परिवर्तन, विकास को लेकर हेमंत ने कहा कि नदियों पर प्रहार हो रहा है। नदियों को संरक्षित करना सबकी जिम्मेदारी है। सरकार का भी दायित्व है। क्योंकि गंगा एक अदृश्य शक्ति है जो सभी को एक साथ बांधे हुए हैं।

पत्नी और बच्चों के साथ काशी आए हैं सोरेन
प्रोटोकॉल के अनुसार, झारखंड के मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन शुक्रवार को वाराणसी के बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचे। इस दौरान उनके साथ उनकी पत्नी और बच्चे भी थे। उन्होंने काशी विश्वनाथ के दर्शन-पूजन किया। शाम को विश्व प्रसिद्ध गंगा घाट की आरती में भाग लेने के बाद काशी विश्वनाथ मंदिर में दर्शन-पूजन किया। शनिवार को मिर्जापुर में मां विंध्यवासिनी के दर्शन-पूजन के लिए जाने का कार्यक्रम है। वहां पूजा-अर्चना कर वह वाराणसी होते हुए वापस लौटेंगे।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना