वाराणसी / 123 साल के शिवानंद ने किया वोट; उबला चावल खाकर करते हैं गुजारा, 105 साल के शिवरंजन ने भी डाला मत



loksabha election 2019 oldest voter shivranjan and shivanand done his vote in varanasi
loksabha election 2019 oldest voter shivranjan and shivanand done his vote in varanasi
loksabha election 2019 oldest voter shivranjan and shivanand done his vote in varanasi
X
loksabha election 2019 oldest voter shivranjan and shivanand done his vote in varanasi
loksabha election 2019 oldest voter shivranjan and shivanand done his vote in varanasi
loksabha election 2019 oldest voter shivranjan and shivanand done his vote in varanasi

  • काशी के दो सबसे बुजुर्ग मतदाताओं ने किया मताधिकार का प्रयोग
  • बोले- देश की मजबूती के लिए यह वोट

Dainik Bhaskar

May 19, 2019, 10:47 AM IST

नई दिल्ली. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संसदीय क्षेत्र वाराणसी में सबसे बुजुर्ग मतदाता ने वोटर्स से मतदान कर देश को मजबूत करने की अपील की। बुजुर्ग बाबा भिखारी के नाम से मशहूर 123 साल के शिवानंद ने मतदान किया। उनके अलावा यहां 105 साल के शिवरंजन मिश्रा ने भी वोट डाला।

 

चुनाव अधिकारियों ने श्याम सरन का लोक धुनों से स्वागत किया

हिमाचल में किन्नौर के कल्पा में देश के प्रथम मतदाता 103 साल के श्याम सरन नेगी ने वोट डाला। नेगी का मतदान केंद्र पर रेड कारपेट पर फूल-मालाएं पहनाकर और लोक धुनें बजाकर स्वागत किया गया। श्याम सरन नेगी बैंक अधिकारी के पद से सेवानिवृत्त हो चुके हैं। वे 1951 से लगातार मतदान में हिस्सा ले रहे हैं।

 

 

शिवानंद का बांग्लादेश में जन्म हुआ

शिवानंद का जन्म बांग्लादेश के श्रीहट्ट जिले में हुआ था। शिवानंद जब 6 साल के थे तब से ही प.बंगाल आ गए थे। वे अपने को देश का सबसे अधिक आयु का बुजुर्ग बताते हैं, इसके लिए उन्होंने गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकार्ड को आमंत्रित किया है। पासपोर्ट और आधार कार्ड पर बाबा शिवानंद की जन्म तिथि 8 अगस्त 1896 दर्ज है।

 

r

 

बिहार: सिर से जुड़ी दो बहनों ने अलग-अलग किया मतदान
राजधानी पटना में सिर से आपस में जुड़ीं दो बहनों ने समनपुरा पोलिंग बूथ पर मतदान किया। दोनों ने अपने-अपने पसंदीदा प्रत्याशियों को वोट डाला। सबाह और फराह का 2015 में हुए बिहार विधानसभा चुनाव में एक ही मतदाता पहचान पत्र था। इसलिए उनका एक ही वोट माना गया था। लेकिन इस बार उनके अलग-अलग वोट हैं।

 

b

 

स्वीडन से वोट डालने मऊ पहुंचीं प्रिया
यूरोपीय देश स्वीडन में रहने वाली भारतीय मूल की महिला रविवार को उत्तरप्रदेश के मऊ में एक पोलिंग बूथ पर वोट डालने पहुचीं। प्रिया ने घोसी लोकसभा स्थित निजामुद्दीनपुरा बूथ पर मताधिकार का प्रयोग किया। वोट डालने के बाद प्रिया ने कहा- जिन हाथों ने देश को मजबूत किया। उन हाथों को और मजबूत करना चाहिए। विदेशों में तो बहुत कुछ बदला है यहां भी बदलाव की जरूरत है। उन्होंने कहा कि हमारे देश को विकास की जरूरत है। 

 

व
COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना