--Advertisement--

तलाश / पीएम मोदी की पहल पर अपने पूर्वजों को ढूंढने अगले माह बलिया आएंगे मॉरीशस के प्रधानमंत्री



उच्चायुक्त ने लोगों से मदद के लिए अनुरोध किया। उच्चायुक्त ने लोगों से मदद के लिए अनुरोध किया।
X
उच्चायुक्त ने लोगों से मदद के लिए अनुरोध किया।उच्चायुक्त ने लोगों से मदद के लिए अनुरोध किया।

  • 23 जनवरी को वाराणसी में होने वाले प्रवासी भारतीस दिवस में शामिल होंगे मॉरीशस के पीएम
  • भारत में नियुक्त उच्चायुक्त ने बुधवार शाम डीएम से की मुलाकात, बताया आने का उद्देश्य

Dainik Bhaskar

Dec 07, 2018, 03:18 PM IST

बलिया. मॉरीशस के प्रधानमंत्री प्रविंद जगन्नाथ अपनी पुश्तैनी जड़ें तलाशने के लिए अगले माह जनवरी में बलिया आएंगे। इससे पहले उन्होंने भारत में मॉरीशस के उच्चायुक्त जगदीश्वर गोवर्धन को यहां भेज दिया है। उच्चायुक्त ने बुधवार की शाम डाक बंगले में डीएम से मुलाकात की और अपने बलिया आने का उद्देश्य भी साझा किया। बताया कि, प्रधानमंत्री प्रविंद के पूर्वजों के नाम बलिया के रसड़ा तहसील में दर्ज हैं। इस इलाके से उनका पुराना रिश्ता है। जनवरी माह में आयोजित होने वाले प्रवासी भारतीय दिवस में शिरकत करने के बाद प्रधानमंत्री प्रविंद बलिया पहुंचेंगे।

चार पीढ़ी पहले पुरखे थे गिरमिटिया मजदूर

उच्चायुक्त जगदीश्वर गोवर्धन ने बताया कि, चार पीढ़ी पहले प्रधानमंत्री प्रविंद के पूर्वज गिरमिटिया मजदूर थे। उनके पूर्वज विदेशी अपनी पत्नी बतसिया देवी के साथ 26 मार्च 1873 में कलकत्ता से जल मार्ग से होते हुए मॉरीशस गए थे। इन्हीं के पीढ़ी के अनिरुद्ध जगन्नाथ प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति बने। उनके बेटे प्रविंद जगन्नाथ आज पीएम हैं। बताया कि प्रधानमंत्री प्रविंद ने भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से अपने पूर्वजों की तलाश कराने की इच्छा जताई थी। लेकिन अभी पता नहीं लग सका है। उच्चायुक्त ने जिला प्रशासन व रसाड़ा तहसील क्षेत्र में रहने वाले लोगों से बाकी पूर्वजों की तलाश में मदद करने का अनुरोध किया है।  

 

23 जनवरी को आएंगे प्रधानमंत्री प्रविंद
डीएम भवानी सिंह ने बताया कि 23 जनवरी को प्रवासी भारतीय दिवस वाराणसी में मनाया जाएगा। जिसमें मॉरीशस के प्रधानमंत्री शामिल होंगे। वहीं से वह बलिया पहुंचेंगे। प्रधानमंत्री प्रविंद के पूर्वजों का रसाड़ा में होने का साक्ष्य मिला है। उसी की रिपोर्ट पर उच्चायुक्त आए थे। उस समय बलिया गाज़ीपुर में था। परिवार को ढूंढा जा रहा है। 

Bhaskar Whatsapp
Click to listen..