वाराणसी / मानव संसाधन मंत्री ने कहा- देश में आएगी जल्द नई शिक्षा नीति, चल रहा ड्रॉफ्टिंग का काम

मेधावी छात्रा को सम्मानित करते एचआरडी मंत्री। मेधावी छात्रा को सम्मानित करते एचआरडी मंत्री।
X
मेधावी छात्रा को सम्मानित करते एचआरडी मंत्री।मेधावी छात्रा को सम्मानित करते एचआरडी मंत्री।

  • शुक्रवार को आईआईटी बीएचयू में मनाया गया आठवां दीक्षांत समारोह
  • बतौर मुख्य अतिथि मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने मेधावियों को बांटे मेडल
  • दीक्षांत समारोह में 1282 मेधावी छात्रों को दी गयी उपाधि

दैनिक भास्कर

Nov 08, 2019, 05:30 PM IST

वाराणसी. भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान बीएचयू के दीक्षांत समारोह में मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक ने कहा कि, जल्द ही नई शिक्षा नीति भारत में आएगी। पब्लिक डोमेन में सार्वजनिक करने के बाद दो लाख से ज्यादा सुझाव इस पर आ चुके हैं। ड्रॉफ्टिंग का काम चल रहा है। मसौदा भी जल्द तैयार कर लिया जाएगा। कहा कि, आज देश को अनुसंधानकर्ताओं की आवश्यकता है। 

 

मंत्री रमेश पोखरियाल ने कहा कि, लाल बहादुर शास्त्री ने जय जवान जय किसान का नारा दिया था तो अटल जी ने उसमे जय विज्ञान जोड़ा था और आज जय अनुसंधान उसमें जुड़ चुका है। देश के युवा चुनैतियों से बखूबी लड़ रहे हैं। महामना जी ने गुलामी के समय इतनी बड़ी सोच से बीएचयू के निर्माण कर दिया। आपको देश, विदेश में देख लोगों को लग जाता है कि बीएचयू से पढ़ा है तो इसके अंदर कुछ तो है।


इस मौके पर संस्थान के विभिन्न पाठ्यक्रमों के 1,282 मेधावी छात्रों को उपाधि प्रदान की गयी। साथ ही कुल 81 मेडल और 17 प्राइज मेधावियों को दिए गए। 

 

प्रेसीडेंटस स्वर्ण पदक देने की परंपरा वर्ष 2018 में आरंभ की गई थी। इस वर्ष बीटेक, सिरामिक इंजीनियरिंग की छात्रा श्रुति राजलक्ष्मी इस पदक को पाने वाली संस्थान की पहली छात्रा बनी। वहीं, साई पवन एस.एन. को सभी बीटेक स्नातकों के बीच उत्कृष्ट ऑल राउंड प्रदर्शन और उत्कृष्ट संगठनात्मक क्षमताओं एवं नेतृत्व गुणों के लिए निदेशक स्वर्ण पदक से सम्मानित किया गया।

 

DBApp

 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना