आजमगढ़ / एनकाउंटर में डेढ़ लाख का इनामी ढेर, 44 मामलों में पुलिस को थी तलाश



मौके पर पुलिस अफसर व ग्रामीण। मौके पर पुलिस अफसर व ग्रामीण।
X
मौके पर पुलिस अफसर व ग्रामीण।मौके पर पुलिस अफसर व ग्रामीण।

  • मुठभेड़ में स्वाट टीम का एक सिपाही घायल, एसपी के बुलेटप्रूफ जैकेट पर लगी गोली
  • मारे गए बदमाश का साथी मौके से फरार, तलाश में जुटी पुलिस

Dainik Bhaskar

Oct 10, 2019, 01:08 PM IST

आजमगढ़. यूपी के दो जिलों में अपराध का पर्याय बने शातिर बदमाश लक्ष्मण यादव को आजमगढ़ पुलिस ने गुरुवार सुबह मुठभेड़ में मार गिराया। उस पर 44 मामले दर्ज थे। हाल ही में लक्ष्मण ने पूर्व डीआईजी जेपी सिंह के भाई रवि प्रकाश सिंह की हत्या को अंजाम दिया था। इस मुठभेड़ में एक सिपाही भी घायल हुआ है। उसे जिला अस्पताल पहुंचाया गया है। पुलिस के अधिकारी मौके पर पहुंचे हैं। 

 

डीआईजी मनोज तिवारी ने बताया कि, महाराजगंज थाना क्षेत्र के बनकटा नेहरुपुर गांव के समीप पानी से भरे धान के खेत में पुलिस और बदमाशों के बीच गुरुवार की सुबह मुठभेड़ हुई। मुठभेड़ में बाइक सवार एक बदमाश पुलिस की गोली से ढेर हो गया। जबकि दूसरा बदमाश पुलिस पर फायर करते हुए बाइक समेत मौके से भागने में सफल हो गया। मुठभेड़ में मृत बदमाश की शिनाख्त डेढ़ लाख रुपए के इनामी अपराधी लक्ष्मण यादव पुत्र स्वर्गीय राम दरश यादव महाराजगंज थाना क्षेत्र के देवारा गांव निवासी के रूप में हुई। 

 

इस मुठभेड़ में बदमाशों की गोली से स्वाट टीम के हेड कांस्टेबल सुरेंद्र यादव भी घायल हो गए। जबकि एसपी ग्रामीण एनपी सिंह समेत अन्य पुलिसकर्मियों के बुलेट प्रूफ जैकेट पर गोली लगी, जिससे वे बाल-बाल बच गए। मुठभेड़ में मारे गए बदमाश के पास से .32 एमएम का पिस्टल, हेलमेट, चप्पल बरामद हुआ। उसके ऊपर आजमगढ़ समेत पूर्वांचल के विभिन्न जनपदों में 44 मुकदमा दर्ज हैं। मृतक लक्ष्मण पर आजमगढ़ में 50 हजार और अंबेडकरनगर में एक लाख का इनाम घोषित था।

 

DBApp

 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना