बलिया / दूषित पानी पीने से बच्ची की मौत, 50 बीमार, बढ़ रहा रोगियों का ग्राफ



बीमार बच्चों का इलाज करते डॉक्टर। बीमार बच्चों का इलाज करते डॉक्टर।
X
बीमार बच्चों का इलाज करते डॉक्टर।बीमार बच्चों का इलाज करते डॉक्टर।

  • बलिया जिले के नागपुर गांव का मामला
  • पानी सप्लाई के लिए बिछाई गई पाइप के जरिए घरों तक पहुंच रहा था नाले का पानी 

Dainik Bhaskar

Oct 11, 2019, 02:57 PM IST

बलिया. यहां नागपुर गांव के मियां बारी (राजभर बस्ती) में प्रशासनिक सुस्ती ग्रामीणों के लिए जानलेवा साबित हुई है। दूषित पानी पीने से करीब 50 लोग बीमार हो गए हैं। सभी को उल्टी-दस्त की शिकायत है। करीब 40 बीमार लोगों को अस्पताल पहुंचाया गया। जहां एक आठ वर्षीय बच्ची की मौत हो गई। इस घटना से ग्रामीणों में रोष व्याप्त है।  

दरअसल, गांव में पेयजल की सप्लाई के लिए जल निगम की तरफ से पानी की टंकी बनवाई गई है। लेकिन एक हफ्ते पहले आपूर्ति के लिए लगी पाइप टूट गई। जिसके जरिए लोगों के घरों में नाले का दूषित पानी पहुंचने लगा। गांव के लोगों ने पाइप को दुरुस्त कराने के लिए जल निगम को सूचना दी। बावजूद इसके कोई उपाय नहीं किए गए। 

 

गुरुवार शाम से शुक्रवार दोपहर तक गांव के 50 लोग दूषित पानी के सेवन से डायरिया से पीड़ित हो चुके हैं। सबसे अधिक बीमार बच्चे हुए हैं। गांव निवासी श्याम कुमारी (35 वर्ष), चंदा देवी (25 वर्ष), राज (5 वर्ष), आरती (12 वर्ष), अंकित (6 वर्ष), गुड़िया (35 वर्ष), श्रीराम (43 वर्ष), अन्तु (10 वर्ष), लक्ष्मी (12 वर्ष), नीतू (14 वर्ष), रूबी (12 वर्ष), किरण (24 वर्ष), राकेश (9 वर्ष), ज्योति (8 वर्ष) आदि मरीजों का अस्पताल में इलाज किया जा रहा है। जिसमें पूजा (8 वर्ष) पुत्री राजनारायण की मौत हो गई।  

 

सीएचसी अधीक्षक डॉक्टर वीरेंद्र कुमार ने बताया कि नागपुर में डायरिया की शिकायत मिली है, जिस पर जिला अस्पताल को भी सूचित कर दिया गया है। यहां की भी डाक्टरों की टीम गांव में भेज दी गई है और जिला की भी टीम पहुंचने ही वाली है।

 

DBApp

 


 

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना