सोनभद्र हत्याकांड / खेत की मेड़ पर चलकर घटनास्थल पर पहुंचीं प्रियंका, कहा- निर्दोष महिलाओं पर दर्ज किए गए केस



पीड़ित आदिवासियों से मुलाकात करतीं प्रियंका गांधी। पीड़ित आदिवासियों से मुलाकात करतीं प्रियंका गांधी।
वाराणसी एयरपोर्ट पर प्रियंका गांधी। वाराणसी एयरपोर्ट पर प्रियंका गांधी।
वाराणसी में कांग्रेसियों से मुलाकात करतीं प्रियंका गांधी। वाराणसी में कांग्रेसियों से मुलाकात करतीं प्रियंका गांधी।
सोनभद्र के लिए रवाना। सोनभद्र के लिए रवाना।
up news priyanka gandhi visit umbha villege of sonebhadra
up news priyanka gandhi visit umbha villege of sonebhadra
up news priyanka gandhi visit umbha villege of sonebhadra
up news priyanka gandhi visit umbha villege of sonebhadra
up news priyanka gandhi visit umbha villege of sonebhadra
up news priyanka gandhi visit umbha villege of sonebhadra
X
पीड़ित आदिवासियों से मुलाकात करतीं प्रियंका गांधी।पीड़ित आदिवासियों से मुलाकात करतीं प्रियंका गांधी।
वाराणसी एयरपोर्ट पर प्रियंका गांधी।वाराणसी एयरपोर्ट पर प्रियंका गांधी।
वाराणसी में कांग्रेसियों से मुलाकात करतीं प्रियंका गांधी।वाराणसी में कांग्रेसियों से मुलाकात करतीं प्रियंका गांधी।
सोनभद्र के लिए रवाना।सोनभद्र के लिए रवाना।
up news priyanka gandhi visit umbha villege of sonebhadra
up news priyanka gandhi visit umbha villege of sonebhadra
up news priyanka gandhi visit umbha villege of sonebhadra
up news priyanka gandhi visit umbha villege of sonebhadra
up news priyanka gandhi visit umbha villege of sonebhadra
up news priyanka gandhi visit umbha villege of sonebhadra

  • प्रियंका ने कहा- यहां निर्दोष महिलाओं पर दर्ज किए गए केस, सरकार वापस ले
  • उप मुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा- प्रियंका को पछतावे के साथ वहां जाना चाहिए 
  • प्रियंका का सोनभद्र का यह दूसरा दौरा, 19 जुलाई को गईं थी, लेकिन मिर्जापुर में पुलिस ने रोक लिया था
  • तब 26 घंटे के प्रदर्शन के बाद प्रशासन ने पीड़ितों से प्रियंका की कराई थी मुलाकात

Dainik Bhaskar

Aug 13, 2019, 09:35 PM IST

सोनभद्र. कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने आज (मंगलवार) सोनभद्र के घेरावल तहसील के उभ्भा गांव का दौरा किया। यहां प्राथमिक विद्यालय में बने पंडाल में प्रियंका ने पीड़ित परिवार की महिलाओं से मुलाकात की। करीब सवा दो घंटे महिलाओं के साथ बातचीत करने के बाद रहने के बाद प्रियंका खेत की मेड़ पर चलकर घटनास्थल का भी जायजा लिया। प्रियंका करीब 100 मीटर तक खेत की मेड़ों पर चलीं। प्रियंका ने प्रशासन पर पीड़ित महिलाओं को परेशान करने का आरोप लगाया है। उन्होंने कहा, आरोपियों ने पीड़ित महिलाओं पर गुंडा एक्ट जैसे 80 से 90 फर्जी मुकदमे दर्ज कराए हैं। निर्दोष लोगों के ऊपर से मुकदमे सरकार को वापस लेना चाहिए। 

 

इससे पहले सुबह प्रियंका दिल्ली से विशेष विमान के जरिए वाराणसी के बाबतपुर एयरपोर्ट पहुंचीं। इसके बाद वह घोरावल तहसील के उभ्भा गांव पहुंचीं। 17 जुलाई को उभ्भा गांव में जमीनी विवाद में 10 आदिवासियों की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। प्रियंका हत्याकांड में मारे गए रामयज्ञ के घर भी गईं।

 

प्रियंका ने कहा कि उन्होंने दोबारा आने का वायदा किया था। इसलिए वे महिलाओं के बीच पहुंची हैं। प्रियंका ने जम्मू-कश्मीर से केंद्र सरकार द्वारा अनुच्छेद 370 हटाए जाने को असंवैधानिक करार दिया। कहा कि, सरकार ने संविधान को दरकिनार कर यह काम किया है।

 

प्रियंका मंगलवार यहां दूसरी बार आई हैं। इससे पहले भी उन्होंने 19 जुलाई को पीड़ित परिजनों से मुलाकात की थी और 10-10 लाख रुपए की आर्थिक सहायता दी थी। प्रियंका के दौरे के बाद ही मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी  उम्भा गांव पहुंचकर पीड़ितों के परिजनों से मुलाकात की थी।

 

डिप्टी सीएम ने कहा- प्रियंका कर रहीं स्टंट

उपमुख्यमंत्री दिनेश शर्मा ने कहा कि, प्रियंका गांधी वाड्रा को पछतावे की भावना के साथ सोनभद्र का दौरा करना चाहिए। क्योंकि, यह घटना एक तरह से सत्तारूढ़ कांग्रेस नेताओं द्वारा किए गए भूमि अधिग्रहण से जुड़ी है। लेकिन, मुझे लगता है कि वह मीडिया ट्रायल का हिस्सा बन रही हैं। उनका यह दौरा राजनीतिक स्टंट है। 

 

धारा 144 का हवाला देकर नहीं जाने दिया था प्रियंका को

19 जुलाई को प्रियंका सड़क मार्ग से सोनभद्र जा रही थीं। लेकिन, प्रशासन ने जिले में धारा-144 लगी होने का हवाला देते हुए उन्हें मिर्जापुर में रोक लिया। इसके बाद प्रियंका करीब 26 घंटे तक धरने पर बैठ गई। बाद में प्रशासन ने पीड़ितों के परिजनों को उनसे मिर्जापुर में ही मिलवाया था। इसके बाद प्रियंका लौटी थी।

 

मामले की जांच कर रही एसआईटी
बीते दिनों सीएम योगी आदित्यनाथ ने हत्याकांड की जांच रिपोर्ट आने के बाद डीएम व एसपी को हटा दिया। इसके अलावा नौ गजेटेड व सात नॉन गजेटेड अधिकारियों पर भी कार्रवाई की थी। इस मामले की जांच एसआईटी कर रही है, जो अपनी रिपोर्ट तीन माह में सीएम को सौंपेगी। सीएम ने कहा था कि, इस कांड के लिए कांग्रेस सरकार की जिम्मेदार है, क्योंकि उन्हीं के सरकार में जमीनों को सोसाइटी के नाम दर्ज किया गया था।

 

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना