वाराणसी / खतरे के निशान से ऊपर बह रही गंगा, तटवर्ती इलाकों में जलभराव



X

  • बलिया व गाजीपुर में भी खतरे के निशान से ऊपर बह रही गंगा नदी
  • डीएम ने लोगों को सुरक्षित स्थानों पर पहुंचने का निर्देश दिया

Dainik Bhaskar

Sep 16, 2019, 12:12 PM IST

वाराणसी. इस सीजन में पहली बार गंगा नदी का जलस्तर खतरे के निशान को पार कर गया है। इससे तटवर्ती इलाकों में जलभराव हो गया। लोग पलायन कर रहे हैं। गाजीपुर, बलिया में भी गंगा नदी खतरे के निशान को पार कर गई है। जिसके चलते कई गांवों में पानी घुस गया है।

 

केंद्रीय जल आयोग के अनुसार, सोमवार को वाराणसी में गंगा चेतावनी बिंदु 70.26 मीटर को क्रास कर 70.64 पर पहुंच गई है। वाराणसी में गंगा 2 सेंटीमीटर प्रति घंटे की रफ्तार से बढ़ रही है। गाजीपुर में चेतावनी बिंदु 63.10 मीटर के सापेक्ष जलस्तर 63.19 मीटर और बलिया में 57.61 मीटर के सापेक्ष 58.75 मीटर जलस्तर पहुंच गया है।


जिलाधिकारी सुरेन्द्र सिंह ने बताया कि, बाढ़ग्रस्त इलाकों में अब तक उपलब्ध कराई गईं सुविधाओं के बारे में विस्तार से समीक्षा की। उन्होंने निर्देशित किया कि ग्रामीण क्षेत्रों में प्रधानों की मदद से डुगडुगी पिटवाकर सभी बाढ़ग्रस्त इलाकों के लोगों को सावधान कर दिया जाए कि लोग वहां से हटकर सुरक्षित जगह पर चले जाएं या प्रशासन द्वारा जो भी बाढ़ राहत केन्द्र बनाए गए हैं, वहां पर शिफ्ट हो जाएं।

 

जिलाधिकारी ने पुलिस विभाग से कहा है कि प्रत्येक बाढ़ चौकी पर बीट इंचार्ज नियुक्त किया जाए, ताकि 24 घंटे की ड्यूटी केन्द्रों पर रहे। जिससे कोई घटना घटित न होने पाए।सभी राहत कैम्पों में विद्युत की पर्याप्त व्यवस्था किए जाने के लिए अधीक्षक अभियन्ता विद्युत को निर्देशित किया है। 

 

डीएम ने कहा कि शेल्टर होम में खाने-पीने और रहने कि व्यवस्थाएं की जाएं। जानवरों के लिए भूसा आदि कि व्यवस्थाए हो जाए। समस्त अधिकारी अपने फोन खुले रखें, मजिस्ट्रेटगण अपने साथ जैकेट, टॉर्च और आवश्यक सामान गाड़ियों में रखें।

 

DBApp

COMMENT

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना