वाराणसी / दो बच्चों की हत्या के बाद दंपती ने फांसी लगाकर खुदकुशी की, सुसाइड नोट में आर्थिक तंगी बताई वजह

चेतन व ऋतु। -फाइल
हर्ष। -फाइल हर्ष। -फाइल
गुनगुन। -फाइल गुनगुन। -फाइल
X
हर्ष। -फाइलहर्ष। -फाइल
गुनगुन। -फाइलगुनगुन। -फाइल

  • पुलिस के मुताबिक- दंपती ने बच्चों को खाने में नींद की गोलियां दी, फिर गला दबाकर मार डाला
  • व्यक्ति पेशे से पंखा व्यापारी था, कुछ दिनों से कारोबार न चलने के कारण अवसाद में था

दैनिक भास्कर

Feb 14, 2020, 10:23 AM IST

वाराणसी. वाराणसी में दो बच्चों की गला दबाकर हत्या करने के बाद दंपती ने फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। बच्चों के शव एक कमरे में बेड पर मिले, दूसरे कमरे में पति और पत्नी के शव फांसी के फंदे से झूल रहे थे। एसएसपी प्रभाकर चौधरी ने बताया- मौके से मिले सुसाइड नोट में आर्थिक तंगी, अवसाद का जिक्र है।

घटना आदमपुर थाने के मुकिमगंज की है। चेतन तुलस्यान पंखा कारोबारी थे। वह ऑर्डर लेकर पंखा बनाया करते थे। बताया जा रहा है कि उन्होंने खुदकुशी से पहले हेल्पलाइन 112 पर कॉल करके सूचना दी थी। जब पुलिस मौके पर पहुंची तो सभी मृत पाए गए। आईजी जोन विजय सिंह मीणा और फॉरेंसिक टीम भी मौके पर पहुंची।

आईजी ने बताया कि शुरूआती जांच में सामने आया है कि दंपति ने बेटे हर्ष और बेटी गुनगुन को खाने में नींद की गोली दी। बेहोश होने पर दोनों को गला दबाकर मार दिया गया। इसके बाद चेतन और उनकी पत्नी ऋतु ने कमरे में फांसी लगाकर खुदकुशी कर ली। मौके से तीन पन्ने का सुसाइड नोट मिला है। इसमें शादी के बाद से ही पति-पत्नी में विवाद, कारोबार के चौपट होने से अवसाद ग्रस्त होना, आर्थिक मंदी आदि का उल्लेख है।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना