वाराणसी

  • Home
  • Uttar pradesh
  • Varanasi
  • US से लौटी, तैयारी की और शादी के 4 साल बाद बन गई IAS, UPSC result 2017
--Advertisement--

US से लौटी, तैयारी की और शादी के 4 साल बाद क्रैक किया UPSC Exam; इंटरव्यू में इस जवाब ने पैनल को चौंकाया

बीएचयू में एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट के प्रोफेसर वीके मिश्रा की बहू अनुकृति ने 355th रैंक हासिल किया है।

Danik Bhaskar

May 02, 2018, 04:05 PM IST
अनुकृति ने 355th रैंक हासिल किया है। अनुकृति ने 355th रैंक हासिल किया है।

वाराणसी. UPSC ने 2017 के रिजल्ट शुक्रवार को डिक्लेयर कर दिए। इसमें बीएचयू में एग्रीकल्चर डिपार्टमेंट के प्रोफेसर वीके मिश्रा की बहू अनुकृति ने 355th रैंक हासिल किया है। वो मूल रूप से राजस्थान के जयपुर की रहने वाली हैं। पिता दीन दयाल शर्मा प्लानिंग कमीशन में असिस्टेंट डॉयरेक्टर के पद से रिटायर हुए हैं। वहीं, मां मधु शर्मा इंग्लिश की लेक्चरर हैं। जनवरी, 2013 में वैभव मिश्रा से अनुकृति की शादी हुई। अनुकृति को एग्जाम में ससुराल पक्ष से भरपूर सपोर्ट मिला। उन्होंने कभी कोचिंग नहीं की, बल्कि ससुराल में ही रहकर तैयारी की। अनुकृति ने बताया कि इंटरव्यू में दिए एक सवाल के जवाब में पैनल चौंक गया था। उन्होंने DainikBhaskar.com से इंटरव्यू में पूछे गए कुछ सवाल शेयर किए हैं।

Q - ग्लोबलाइजेशन से भारत को क्या फायदा है?

A - भारत को वही करना चाहिए जो उसके हित में हो। अगर रोजगार बढ़ा रहा है, तो ठीक है। 'मेक इन इंडिया' को आगे बढ़ाना चाहिए।

Q - ग्लोबलाइजेशन प्रोटेक्शनिजम भी होना चाहिए ?
A -
सेक्टर टू सेक्टर होना चाहिए। किसी को प्रॉब्लम न हो, ऐसे प्रॉसेस होने चाहिए। नौकरियां बढ़े, शोषण न हो किसी का।

Q - समाज में मीडिया का रोल क्या होना चाहिए ?
A -
सच और निष्पक्ष। लोगों को मीडिया पर विश्वास होता है। हमेशा क्रेडिबिलिटी पर ध्यान रखना चाहिए। न्यूज वैल्यू होना चाहिए।

Q - मीडिया में सरकार को दखल देना चाहिए ?
A -
अभी नहीं। मीडिया इंडिपेन्डेंट है। उसको रोकना उचित नहीं होगा। वो अपना मानक खुद तय कर ले।

Q - आखिर मीडिया एक ही मुद्दे को दिनभर क्यों दिखाती या जगह देती है ?
A -
रेवेन्यू बहुत बड़ा कारण है। पब्लिक ऐसे ही मुद्दे पसंद करती है। लोग यही देखना और पढ़ना चाहते हैं।

Q - माना आप बहुत आइडियल है, IAS क्यों बनना चाहती हैं; दो कारण बताएं ?
A -
मेरे पास कोई कारण नहीं है। मैं अमेरिका में अर्थ साइंस से पीएचडी कर रही थी। छोड़कर लौटी, तो मेरे पास सब कुछ था। बस मन में था अब नहीं लौटी तो समय निकल जाएगा।

Q - जियोलॉजी, अर्थ साइंस से पढ़ाई करके ज्योग्राफी क्यों चुना ?
A -
सबसे आसान मुझे यही लगा। कम समय में अच्छे से रीड कर पाऊंगी सिविल के लिए।

अर्थ साइंस में हैं गोल्ड मेडलिस्ट

- अनुकृति ने जयपुर इंडो भारत इंटरनेशनल स्कूल इंटर कंप्लीट की।
- फिर आईआईटी जेईई के थ्रू इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस एजुकेशन एंड रिसर्च, कोलकाता पढ़ने चली गईं।
- 2007-12 तक वहां पढ़ाई किया और अर्थ साइंस में गोल्ड मेडलिस्ट रहीं।
- इसी दौरान वैभव से उनकी मुलाकात हुई थी। इसके बाद दोनों साथ में यूएस पढ़ने गए।

Click to listen..