जोश टॉक / कैसे मैनें अपनी कमज़ोरी को बनाया ताक़त | Anurag Mishra

Nov 07,2019 1:25 PM IST

अंग्रेज़ी एक ग्लोबल भाषा है। यह भाषा दुनियाभर में बोली जाती है। पर कई लोगों के लिए अंग्रेज़ी करियर में रूकावटें पैदा करती है। जिस कारण हम अपने जीवन लक्ष्य को पूरा नहीं कर पाते। हिंदी मीडियम से अंग्रेज़ी मीडियम में पढ़ने जाना। छोटे शहर से बड़े शहर रहने जाना।  

इस दौरान हम अंग्रेज़ी के वातावरण में खुद को ढाल नहीं पाते। कभी-कभी खराब अंग्रेज़ी के कारण हंसी का पात्र भी बनते हैं। लोगों को फराटेदार अंग्रेज़ी बोलते देख हम ये सोचते हैं कि ‘क्या हम कभी ऐसी अंग्रेज़ी बोल पाएगें ?

ऐसा ही कुछ अनुराग मिश्रा के साथ भी हुआ। अंग्रेज़ी के कारण उन्होनें अपने व्यवसाय में कई परेशानियों को झेलना पड़ा। पर उन्होनें हार ना मानते हुए उस परेशानी का सामना किया और अपने अंग्रेज़ी बोलने के डर पर जीत हासिल की। आज अनुराग एक लेखक, यूट्यूबर और ब्लॉगर है।