• Home
  • Videos
  • Rajya
  • Chandu Chauhan News Updates: Indian soldier Chandu Babulal Chauhan Wants Euthanasia Death

महाराष्ट्र / सैनिक ने राष्ट्रपति से इच्छा मृत्यु मांगी

Dec 10,2019 1:57 PM IST

मुंबई. गलती से 2015 में पाकिस्तान की सीमा में जाने वाले अहमदनगर के सैनिक चंदू चव्हाण ने राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद से इच्छा मृत्यु की गुहार लगाई। चंदू ने प्रधानमंत्री, गृहमंत्री और रक्षा मंत्री को भी पत्र भेजा है। इसमें आरोप लगाया है कि अहमदनगर स्थित जिस यूनिट में उसकी पोस्टिंग है, वहां के आला अधिकारी उसे लगातार अपमानित कर रहे हैं। इससे पहले चंदू ने आरोप लगाया था कि पाकिस्तान से लौटने के बाद उसे शक की नजर से देखा जा रहा है। 

चंदू 2016 की सर्जिकल स्ट्राइक के बाद 29 सितंबर के दिन अनजाने में पाकिस्तान चला गया था। चार महीने तक वहां हिरासत में रहने के बाद वह भारत लौट आया था। जिलाधिकारी के माध्यम से राष्ट्रपति को भेजे पत्र में चंदू ने कहा है कि वे फिलहाल छुट्टी पर हैं और 29 दिसंबर को उन्हें फिर से रेजीमेंट जॉइन करना है। उन्हें संदेह है कि यूनिट में जाने के बाद उनके साथ फिर भेदभाव बरता जाएगा। लगातार परेशान किए जाने के कारण वे इच्छा मृत्यु चाहते हैं। 

7 महीने से नहीं मिली तनख्वाह

चंदू ने बताया कि उसे पाक से लौटने पर कोर्ट ऑफ इन्क्वायरी का सामना करना पड़ा। सेना की जेल में 90 दिन की सजा काटनी पड़ी। उन्होंने बताया कि अहमदनगर में पोस्टिंग दी गई है, लेकिन पिछले सात महीने से उसे वेतन नहीं मिला है। चंदू ने अपना मोबाइल फोन और पहचान पत्र भी जब्त कर लिए जाने का आरोप लगाया है।

चंदू के खिलाफ चल रहे हैं अनुशासनहीनता के पांच मामले

इससे पहले चंदू अपनी मांगों को लेकर जंतर-मंतर पर आमरण अनशन पर भी बैठे थे। जहां से उन्हें दिल्ली पुलिस ने हिरासत में लेकर सेना पुलिस को सौंप दिया था। भारतीय सेना के सूत्रों के मुताबिक, चव्हाण के खिलाफ अनुशासनहीनता के 5 मामले चल रहे हैं। इसके अलावा, पिछले लोकसभा चुनाव में प्रचार के दौरान धुले में प्रशासन से भी चंदू के खिलाफ शिकायत मिली थी। इसे मीडिया में भी दिखाया गया था।