• Home
  • Videos
  • Rajya
  • up news janamashtami huge demand of lord krishna dresses across globe

उप्र / मथुरा में बनी कान्हा की ड्रेस की डिमांड

Aug 19,2019 3:28 PM IST

मथुरा. 24 अगस्त को श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का पर्व देश ही नहीं विदेशों में मनाया जाएगा। खासकर कान्हा की नगरी मथुरा में अभी से भक्तों के आने का सिलसिला शुरू हो गया है। कान्हा के वस्त्रों, झूला व अन्य सामानों से मथुरा के बाजार व गलियां सराबोर हैं। मथुरा-वृंदावन में बनने वाली आकर्षक डिजायन वाली पोशाक श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर दुनियाभर में ठाकुरजी धारण करेंगे। इसके लिए सिर्फ भारतीय भक्त ही नहीं सात समंदर पार से भी बालकृष्ण के जन्मोत्सव के लिए स्पेशल पोशाक तैयार कराने के ऑर्डर मिल चुके हैं। अलग-अलग साइज और वैरायटी की डिमांड को पूरा करने में कारीगर दिन-रात जुट गए हैं। 

 

मथुरा-वृंदावन में बनती हैं ड्रेस व श्रृंगार के सामान

राधा-कृष्ण के वस्त्र (पोशाक) और श्रृंगार का सामान विशेष तौर पर वृंदावन-मथुरा में ही तैयार होता है और जन्माष्टमी पर देश ही नहीं बल्कि विदेश से भी स्थानीय दुकानदारों को ठाकुरजी की आकर्षक पोशाक और श्रृंगार का सामान तैयार करने के आर्डर हर साल मिलते हैं और जन्माष्टमी से कम से कम दो दिन पहले ही यह सामान तैयार कर खरीददार को देना होता है। 

 

यहां से मिले ऑर्डर

पोशाक विक्रेता आशीष ने बताया कि उनके यहां सौ रुपए से लेकर हजारों रुपये तक की पोशाक तैयार रहती है। व्यवसायी श्रीदास प्रजापति ने बताया कि वृंदावन में सालभर देश और दुनिया भर से कृष्ण भक्तों के आने का सिलसिला चलता रहता है। ऐसे में यहां के मंदिरों में ठाकुरजी के होने वाला विशेष श्रृंगार उन्हें इतना लुभाता है कि वो भी इसी तरह अपने आराध्य का श्रृंगार करना और उसे सजाना-संवारना चाहते हैं। उन्हौने बताया कि अमेरिका, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड, यूके, रुस और मैक्सिको के अलावा कई देशों से आर्डर मिल चुके हैं, जिन्हे कारीगर पूरा करने में लगे है। पोशाक विक्रेता मिश्री लाल बतातें हैं कि पिछले कुछ सालों में विदेशों में भी अब वृंदावन में तैयार होने वाली पोशाक और मुकुट के अलावा श्रृंगार सामग्री की डिमांड बढ़ी है। ये सभी काम हर हाल में जन्माष्टमी से कम से कम दो दिन पूर्व पूरा कर उन्हें सौंपने हैं।