पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

बगीचे के औजार:पौधों की निराई-गुड़ाई हो या कटाई-छंटाई, बागवानी के लिए ये औजार हैं जरूरी

3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

बागवानी का शौक रखने वालों के लिए पौधों और उनकी देखभाल की जानकारी के साथ सबसे जरूरी हैं वो औजार जिनके बिना वे खाली हाथ सैनिक जैसे हैं। किचन गार्डन में उगने वाली सब्जियों की क्यारियां हों या क्रीपर्स और हैंगिंग पॉट्स मेंं लटकते पौधे, इनकी सही देखभाल के लिए कई औजारों की अहम भूमिका है। तो आइए जानते हैं उन टूल्स के बारे में जो बागवानी के अलग-अलग कामों के लिए जरूरी हैं...

गुड़ाईः बुवाई के लिए मिट्टी को तैयार करना

  • बड़े बगीचे में गुड़ाई करने के लिए फावड़ा इस्तेमाल होता है।
  • बड़े गमलों की गुड़ाई के लिए खुरपी होनी चाहिए। वहीं छोटे गमलों की गुडाई पेचकस की तरह दिखने वाले हैंड वीडर से करना चाहिए।
  • हैंड वीडर गमलों में से कीडे़ वाली पत्तियां निकालने में इस्तेमाल किया जाता है।
  • पेडों के पत्तों से कीडों के अंडे हटाने के लिए प्रॉन्ग कल्टिवेटर का इस्तेमाल करना चाहिए।
  • खरपतवार हटाने के लिए वीडिंग फोर्क का इस्तेमाल करें।

कटाईः पौधों की डाली या घास काटना

  • स्टील गार्डन सीजर कटाई के लिए सबसे बेहतरीन औजार है।
  • लॉन में लगी घास को ग्रास शीयर की मदद से काटना चाहिए।
  • छोटे पौधों को श्रब एंड एजिंग शीयर की मदद से काटना चाहिए।

प्रूनिंगः पेड़-पौधों की अलग-अलग आकार में छंटाई करना

  • बोन्साई और फाइकस जैसे पौधों का आकार प्रूनिंग करने से बेहद सुंदर हो जाता है।
  • पौधों की प्रूनिंग हेज प्रूनर से और पेडों की ट्री प्रूनर से करना चाहिए।

बडिंग एंड ग्राफ्टिंगः टहनियों की कलम काटकर पौधे उगाना

  • गुलाब, सिट्रस प्लान्ट्स, बोन्साई आदि पौधों की समय-समय पर बडिंग व ग्राफ्टिंग की जाती है।
  • इसके लिए आम चाकू की जगह बडिंग एंड ग्राफ्टिंग नाइफ का इस्तेमाल अच्छा होता है।

अपने गार्डनिंग टूल्स की ऐसे करें देखभाल

  • सभी औजारों को नमी से दूर रखें।
  • सभी बडिंग, ग्राफ्टिंग, कटिंग व प्रूनिंग के औजारों को इस्तेमाल के बाद पोंछकर रखें।
  • स्टोर में रखने से पहले कुछ देर के लिए औजारों को खुली हवा में छोड़ दें।
  • कीड़े लगे पौधों की कटाई या छंटाई के बाद औजारों को डिटर्जेंट वाले पानी से साफ जरूर करें।
  • समय-समय पर स्प्रेयर की ऑइलिंग करते रहें। नोजल को साफ रखें।
  • स्प्रेयर को इस्तेमाल के बाद एक बार साबुन के पानी से धो लें।