पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

महिलाओं के 5 दिलचस्प झूठ:क्या आप भी अपनी गायनाकोलॉजिस्ट से झूठ बोलती हैं ? आपकी सेक्सुअल हेल्थ के लिए खतरनाक हो सकते हैं ये झूठ।

14 दिन पहलेलेखक: कमला बडोनी
  • कॉपी लिंक

गायनाकोलॉजिस्ट से बेधड़क हर बात कहना आसान नहीं, लेकिन झूठ बोलने से मामला बिगड़ सकता है और ये आपकी सेहत के लिए सही नहीं।

जब आप अपने गायनाकोलॉजिस्ट से रेग्युलर विजिट या किसी हेल्थ प्रोब्लम के सिलसिले में मिलने जाती हैं, तो वो आपसे ये उम्मीद करते हैं कि आप उन्हें अपनी सेहत के बारे में सब सच बताएं, लेकिन शर्म, हिचकिचाहट और डर के मारे कई महिलाएं झूठ बोलती हैं। ब्लूम आईवीएफ की मेडिकल डायरेक्टर गायनाकोलॉजिस्ट नंदिता पालशेतकर कहती हैं, “हमारे लिए ये झूठ कोई नई बात नहीं है। ज्यादातर केसेस में हमें पता होता है कि महिला झूठ बोल रही है, लेकिन हमारे लिए झूठ से ज्यादा जरूरी उसकी सेहत होती है, लेकिन कई बार झूठ बोलने से ट्रीटमेंट मुश्किल हो जाता है। कई महिलाओं को पहले टीबी हुआ होता है, जिसके कारण उनकी फैलोपियन ट्यूब ब्लॉक हो जाती है। शादी के बाद जब उन्हें बच्चे नहीं हो पाते, तब भी वो अपनी बीमारी की बात छुपाती हैं। लेप्रोस्कोपी से हमें सच्चाई पता चल जाती है, लेकिन महिलाएं खुद ये बात नहीं बताती।” नंदिता पालशेतकर ने हमें बताया कि महिलाएं ये 5 झूठ अक्सर अपनी गायनाकोलॉजिस्ट से कहती हैं, लेकिन ये झूठ उनकी सेक्सुअल हेल्थ के लिए खतरनाक हो सकते हैं।

झूठ 1- हम हमेशा कंडोम इस्तेमाल करते हैं

आपके पार्टनर को इंफेक्शन था। इसके बावजूद आप दोनों के बीच बिना कंडोम के सेक्स हुआ और आपको भी वेजाइनल इंफेक्शन हो गया। जब आप ट्रीटमेंट के लिए जाती हैं, तो अपने गायनाकोलॉजिस्ट से झूठ कहती हैं कि आपने सेफ सेक्स किया, इसके बावजूद आपको इंफेक्शन हो गया।

ये हो सकता है इस झूठ का परिणाम

समय पर इलाज न कराया जाए तो वेजाइनल इंफेक्शन महिलाओं के लिए बहुत खतरनाक हो सकता है। यदि महिला को पति की वजह से इंफेक्शन हुआ है, तो उसके ट्रीटमेंट के बावजूद पति के कारण उसे फिर से इंफेक्शन हो सकता है। ऐसी स्थिति में दोनों की जांच और दोनों का ट्रीटमेंट जरूरी है।

झूठ 2- मुझे पहले कभी एसटीडी नहीं हुआ

आप पहले भी एसटीडी (सेक्सुअल ट्रांसमिटेड डिजीज) की तकलीफ से गुजर चुकी हैं, फिर भी आप झूठ बोलती हैं कि आपको पहले कभी एसटीडी नहीं हुआ है।

ये हो सकता है इस झूठ का परिणाम

वेजाइनल इंफेक्शन का ट्रीटमेंट वैसे तो बहुत आसान है, लेकिन इलाज में देरी होने पर आपको हॉस्पिटलाइज्ड भी होना पड़ सकता है। कई महिलाएं जब प्रेग्नेंसी टेस्ट के लिए आती हैं, उस समय उन्हें वेजाइनल इंफेक्शन रहता है, लेकिन ये बात वो गायनाकोलॉजिस्ट से छुपाती हैं, जिससे बाद में प्रोब्लम हो सकती है। ऐसी स्थिति में भी पति-पत्नी दोनों का ट्रीटमेंट जरूरी है।

झूठ 3- मैं पिल्स लेना कभी नहीं भूलती

अनवांटेड प्रेग्नेंसी हो जाने पर महिलाएं गायनाकोलॉजिस्ट से झूठ कहती हैं कि वो पिल्स लेना कभी नहीं भूलती, फिर पता नहीं कैसे वो प्रेग्नेंट हो गई। ऐसी स्थिति में महिलाएं डर की वजह से झूठ बोलती हैं।

ये हो सकता है इस झूठ का परिणाम

पिल्स लेना भूल जाना आम बात है, ये गलती कोई भी महिला कर सकती है और इस झूठ के बारे में गायनाकोलॉजिस्ट को पता भी नहीं चल पाता, लेकिन इसके परिणाम महिला की सेहत के लिए सही नहीं होते। अनवांटेड प्रेग्नेंसी और अबोर्शन की स्थिति में महिला को शारीरिक-मानसिक तकलीफ से गुजरना पड़ता है।

झूठ 4- मैं ड्रिंक और स्मोक नहीं करती

जो महिलाएं ड्रिंक और स्मोक की आदी होती हैं, प्रेग्नेंसी के समय वो झूठ बोलती हैं कि अब उन्होंने पीना छोड़ दिया है.

ये हो सकता है इस झूठ का परिणाम

प्रेग्नेंसी के समय ड्रिंक और स्मोक करने से बच्चे की सेहत पर बुरा असर पड़ता है। जो महिलाएं ये आदत छोड़ नहीं पातीं, उन्हें साइकेट्रिक ट्रीटमेंट की ज़रूरत पड़ती है. कुछ मामलों में ऐसी महिलाओं को डी-एडिक्शन ट्रीटमेंट के लिए भेजना पड़ता है.

झूठ 5- हमारी सेक्स लाइफ परफेक्ट है

सेक्स के दौरान दर्द, जलन, ब्लीडिंग जैसी तकलीफ होने पर महिलाएं जब गायनाकोलॉजिस्ट के पास जाती हैं, तो वो ये नहीं कह पातीं कि उनकी सेक्स लाइफ सही नहीं है, वो सिर्फ अपनी शारीरिक तकलीफ बताती हैं।

ये हो सकता है इस झूठ का परिणाम

सेक्स में तकलीफ का कारण इंफेक्शन, सिस्ट कुछ भी हो सकता है, इसकी मानसिक वजह भी हो सकती है। जब तक आप डॉक्टर को सही वजह नहीं बताएंगी, आपका सही ट्रीटमेंट नहीं हो पाएगा। आपको सिस्ट के कारण दर्द हो रहा है और आपका ट्रीटमेंट इंफेक्शन का हो रहा है, तो आपकी तकलीफ कम नहीं होगी। ऐसे में आपकी गायनाकोलॉजिस्ट को सही समस्या को ढूंढने में समय लगेगा और आपकी तकलीफ बढ़ जाएगी। अपनी सेक्सुअल हेल्थ की सही जानकारी देकर आप गायनाकोलॉजिस्ट का समय और अपनी तकलीफ दोनों को कम कर सकती हैं।

खबरें और भी हैं...