• Hindi News
  • Women
  • Health n fitness
  • Flat Or Inverted Nipples : Mother's Milk Is The Initial Food Of A Newborn. In This Way All The Needs Of The Child's Body Are Fulfilled. If In The Midst Of All This

फ्लैट निप्पल:वे हालात जिनमें मां बच्चे को दूध नहीं पिला पाती

13 दिन पहलेलेखक: श्वेता कुमारी
  • कॉपी लिंक

नवजात का शुरुआती आहार मां का दूध ही होता है। इससे ही बच्चे के शरीर की सारी जरूरतें पूरी होती है। इन सबके बीच अगर बच्चे को दूध पीने में परेशानी हो, तो इससे न सिर्फ बच्चा प्रभावित होता है, बल्कि मां भी दुखी होती हैं। वैसे तो कई ऐसी वजहें हो सकती हैं, जिससे बच्चे को मां का दूध न मिल पाए। लेकिन दोनों के स्वस्थ रहते हुए भी अगर ऐसी स्थिति आती है, तो कई बार इसकी वजह फ्लैट निप्पल भी देखी जाती है। क्या है यह समस्या और कैसे मां और बच्चे दोनों इससे प्रभावित होते हैं, बता रही हैं अपोलो हॉस्पिटल की सीनियर गायनेकोलॉजिस्ट एंड ऑन्कोलॉजिस्ट डॉ. सारिका गुप्ता और श्री वैद्य आयुर्वेद पञ्चकर्मा हॉस्पिटल की अल्टरनेटिव मेडिसिन एक्सपर्ट डॉ. सोनिया।

क्या होता है फ्लैट निप्पल?

आमतौर पर निप्पल का शेप कुछ ऐसा होता है कि बच्चे को ब्रेस्ट फीडिंग में कोई परेशानी न हो। लेकिन कई महिलाओं में फ्लैट या इनवर्टेड निप्पल की परेशानी देखी जाती है। ऐसा क्यों होता है, इस बात का जवाब देते हुए डॉ. गुप्ता कहती हैं कि इसका कोई ठोस कारण नहीं होता। किसी को यह परेशानी मां के गर्भ से ही हो सकती है, जबकि कुछेक मामलों में देखा जाता है कि होर्मोनाल चेंज या शारीरिक विकास के दौरान यह होता है। बचपन में इस बात का पता नहीं चलता है, लेकिन प्यूबर्टी (यौनारंभ) के दौरान इसकी पहचान की जा सकती है। अगर समय रहते इसके लिए डॉक्टर से सलाह ली जाए, तो फ्लैट या इनवर्टेड निप्पल से बचा जा सकता है।

फ्लैट निप्पल पर ये है एक्सपर्ट की राय।
फ्लैट निप्पल पर ये है एक्सपर्ट की राय।

डॉ. सोनिया बताती हैं कि यह समस्या महिलाओं में बड़ी संख्या में होती है, लेकिन लापरवाही की वजह से इसका पता गर्भावस्था के दौरान या उसके बाद चलता है। हालांकि, बाकी समय डॉक्टर से ट्रीटमेंट लेने में कोई परेशानी नहीं है, लेकिन गर्भावस्था के दौरान अगर किसी महिला को उसके फ्लैट निप्पल होने का पता चले, तो एक्सपर्ट की सलाह के हिसाब से ही आगे बढ़ने की जरूरत है। उनके मुताबिक, निप्पल्स कुल चार तरह के होते हैं।

  • नॉर्मल निप्पल - ये सामन्य होते हैं और बच्चे को दूध पिलाने के लिए सही होते हैं,
  • फ्लैट निप्पल - इसमें निप्पल फ्लैट होते हैं, जिसकी वजह से बच्चे को दूध पीने में परेशानी होती है।
  • इनवर्टेड निप्पल - इसमें निप्पल्स अंदर की तरफ मुड़े होते हैं, बच्चे के लिए दूध पीना कठिन होता है।
  • यूनीलैटरल निप्पल - जब एक निप्पल फ्लैट हो और दूसरा सामान्य हो, वह यूनीलैटरल निप्पल कहलाता है।

फ्लैट निप्पल के क्या उपाय हैं?

ब्रेस्ट शेल्स - प्लास्टिक के बने ये शेल्स ब्रा के अंदर लगाए जाते हैं। धीरे-धीरे इस पर प्रेशर देना होता है। डॉक्टर्स के मुताबिक, इसके नियमित इस्तेमाल से फ्लैट या इनवर्टेड निप्प्ल्स ऊपर की ओर उभरने लगते हैं। इसके इस्तेमाल से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

ब्रेस्ट सक्शन - यह एक तरह का पम्प होता है, जिसकी मदद से निप्पल को बाहर की ओर निकाला जाता है। ये ऑनलाइन भी आसानी से मिल जाते हैं, लेकिन बिना एक्सपर्ट से इसकी जानकारी और जरुरत पर बात किए, इस्तेमाल करने से बचें।

सिरिंज सकिंग मेथड - इस थेरेपी में निप्पल पर सिरिंज लगाकर मुंह से आगे की ओर खींचा जाता है। यह तरीका भी फ्लैट या इनवर्टेड निप्पल को ठीक करने में कारगर साबित होता है।

ऑयल बाथ - आयुर्वेद में इस ट्रीटमेंट के ज़रिये भी फ्लैट निप्पल भी समस्या को ठीक किया जाता है। अगर आप ऐसे किसी ट्रीटमेंट का सोचती हैं, तो आयुर्वेदाचार्य की सलाह अवश्य लें।