सर्दियों की खुश्की का करें इलाज:सिरका पानी में डालकर नहाएं, सरसों के तेल से मालिश करें, गन्ने का जूस, सेब, मूली डाइट में शामिल करें

21 दिन पहलेलेखक: मरजिया जाफर
  • कॉपी लिंक

सर्दी के मौसम में ड्राइनेस आम समस्या है। स्किन में इस कदर रूखापन आ जाता है कि ध्यान न दिया जाए तो स्किन सेल्स डेड होकर झड़ने लगते हैं और स्किन सफेद नजर आने लगती है। सर्द मौसम की ड्राइनेस से बचा कैसे जाए, क्या सिर्फ तेल की मालिश करना या लोशन लगाना काफी है? मेरठ मेडिकल कॉलेज के स्किन डिपार्टमेंट के एचओडी डॉ. अमरजीत सिंह इसके बारे में बता रहे हैं।

स्किन के ड्राई होने के कई कारण हैं, जैसे स्किन में सीबम का कम बनना, ठंडी हवा का स्किन की नमी को सोख लेना, गर्म पानी में नहाना, नहाने के बाद स्किन पर तेल या लोशन न लगाना।

ड्राई पैच होने के कारण

डॉ सिंह कहते हैं कि सर्दियों में रूखापन बढ़ता है। चेहरे पर ड्राई पैच दिखाई पड़ते हैं, स्किन की नमी खो जाती है। कम नमी के कारण स्किन का हाइड्रोजन लेवल बनाए रखने में भी परेशानी होती है। स्किन केयर का गलत तरीका भी इन ड्राई पैच की वजह हो सकता है। चेहरे को बहुत ज्यादा स्क्रब करते हैं या ज्यादा प्रोडक्ट इस्तेमाल करते हैं तो स्किन ड्राई हो सकती है। रोजाना चेहरा साफ न करने की वजह से भी स्किन की बाहरी लेयर में बैक्टीरिया जमा होने से स्किन का रूखापन बढ़ता है।

ड्राई पैच को ऐसे ठीक करें

स्किन में ज्यादा ड्राइनेस हो रही है, तो स्किन पील और टोनर जैसे प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना बंद कर दें। स्किन को ठीक करने के बाद आप इन्हें दोबारा इस्तेमाल कर सकते हैं। चेहरे को माइल्ड क्लींजर से साफ करें। साबुन के इस्तेमाल से बचें। खुशबू से स्किन को परेशानी हो सकती है और रूखापन बढ़ सकता है, इसलिए खुशबूदार मॉइस्चराइजर की बजाय सादा मॉइस्चराइजर लगाएं। दिन में 2 बार मॉइस्चराइजर लगाएं। खासकर जब स्किन गीली हो तब मॉइस्चराइजर लगाना बेहतर होता है।

सर्द मौसम के रूखेपन से बचने के लिए कुछ घरेलू उपाय करके भी इस समस्या से निपटा जा सकता है।

सर्दियों में स्किन का खास ख्याल रखें, स्किन सॉफ्ट बनाने के लिए अच्छी डाइट जरूरी है
सर्दियों में स्किन का खास ख्याल रखें, स्किन सॉफ्ट बनाने के लिए अच्छी डाइट जरूरी है

सेब का सिरका

सर्दी के मौसम में करीब सभी लोग गुनगुने पानी से नहाते हैं, जो ड्राइनेस को और ज्यादा बढ़ाता है। इस परेशानी से बचने के लिए गुनगुने पानी में एक से डेढ़ कप सेब का सिरका मिला लें। अगर आप बाथ टब में नहा रहे हैं तो दो से तीन कप सिरका मिलाएं और फिर नहायें। सिरका के पानी से स्नान करने के बाद दोबारा नॉर्मल पानी से नहाने की जरूरत नहीं है। हो सके तो नहाने के बाद स्किन को पोंछे नहीं बल्कि सूखने दें और हल्का सूखने पर ही लोशन या तेल लगाएं। किसी भी बॉडी पार्ट में रैशेज ज्यादा हैं तो सेब के सिरके में रुई भिगोकर उस जगह पर लगाएं और 15 से 20 मिनट बाद धो लें। समस्या ज्यादा हो तो आप इसे 30 मिनट के लिए भी लगा सकते हैं।

सरसों का तेल

सर्दी के मौसम में स्किन पर लगाने के लिए सरसों का तेल सबसे ज्यादा इस्तेमाल होता है। चेहरे और गर्दन को छोड़कर पूरे शरीर पर इस तेल से मालिश करें। यह भी बेहतर रहेगा कि आप नहाने के बाद इस तेल को लोशन की तरह बॉडी पर लगाएं और फिर कपड़े पहनें। इससे ठंड का असर भी दूर होगा और स्किन को मॉइश्चर भी मिल जाएगा। सरसों का तेल सर्दी के मौसम में स्किन के लिए इसलिए ज्यादा असरदार होता है क्योंकि यह तेल स्किन पर देर तक टिका रहता है। रात को सोने से पहले तेल शरीर पर लोशन की तरह लगाकर हल्की मसाज करते हैं और फिर सोते हैं तो अगले दिन नहाने के बाद स्किन सॉफ्ट रहेगी। यही वजह है कि जब सर्दी के मौसम में हर दिन एक बार भी सरसों का तेल लगा लेते हैं तो पूरे दिन स्किन पर ड्राइनेस का असर नहीं होता। सरसों का तेल एंटीफंगल, एंटीबैक्टीरियल और एंटी इन्फ्लामेट्री है इसलिए खुजली, रैशेज, वुलन से एलर्जी और विंटर ऐक्ने जैसी समस्या से बचाता है।

डाइट का रखें ख्याल

इस मौसम में स्किन पर सबसे ज्यादा खुजली की समस्या रहती हैं जिसकी वजह से स्किन पर खुजा-खुजा कर रैशेज बन जाते हैं। सर्द मौसम में स्किन पर रैशेज होने का सबसे बड़ा कारण हमारा खान-पान है। सर्दियों में लोग कम पानी पीते है, नमकीन चीजों का अधिक सेवन करते है और पसीना कम निकलने के कारण स्किन रूखी हो जाती हैं। कम तापमान भी स्किन को ड्राई करता है जिसकी वजह से स्किन पर खुजली होने लगती है। सर्द मौसम में खुजली से बचने के लिए सबसे पहले ज्यादा से ज्यादा पानी का सेवन करें और इन चीजों को अपनी डाइट में शामिल करें-

सर्द मौसम में स्किन की नमी बनाए रखने के लिए थोड़ी-थोड़ी देर में कोल्ड क्रीम या ऑयल लगाते रहें
सर्द मौसम में स्किन की नमी बनाए रखने के लिए थोड़ी-थोड़ी देर में कोल्ड क्रीम या ऑयल लगाते रहें

गन्ने का जूस

सर्द मौसम में एक्जिमा और स्किन की सारी समस्याएं दूर करेगा गन्ने का रस। इस मौसम में हफ्ते में 3-4 गिलास गन्ने के जूस का सेवन करें।

मूली का सेवन करें

सर्द मौसम में मूली मीठी और ताजी आने लगती है। इस मौसम में खाने में मूली जरूर शामिल करें। मूली में भरपूर मात्रा में फोलिक एसिड, विटामिन C और एंथोकाइनिन पाए जाते हैं। इस मौसम में मूली का सेवन करने से स्किन की सारी परेशानियां दूर होती हैं।

ड्राइनेस का इलाज सेब

सेब स्किन की ड्राइनेस दूर करके खुजली कम करता है। सेब में फ्लेवोनोइड्स होते हैं, जो फ्री रेडिकल्स को नष्ट करते हैं और स्किन की उम्र बढ़ने से रोकते हैं। सेब में मॉइस्चराइजिंग गुण होते हैं, जो ड्राई स्किन का इलाज करते हैं। स्किन संबंधी समस्याओं के साथ बीमारियों से निजात पाने के लिए रोजाना खाली पेट सेब का सेवन जरूर करें।

डिस्क्लेमर- इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीकों और दावों को सिर्फ सलाह के तौर पर लें, हम इसकी पुष्टि नहीं करते। इस तरह के किसी भी इलाज, डाइट और सुझाव पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना जरूरी है।

खबरें और भी हैं...