अच्छा या बुरा खाना:तीन चीजें जिन्हें आप हेल्दी समझकर खाने की गलती करते हैं, असल में अनहेल्दी हैं

6 महीने पहलेलेखक: श्वेता कुमारी
  • कॉपी लिंक

जब भी हम फैट शब्द सुनते हैं, आंखों के सामने एक मोटे शरीर के व्यक्ति की तस्वीर उभरती है। फैट शब्द सुनकर हमारे दिमाग में मोटे इंसान की तस्वीर बनती है, बजाय खाने के। हमारी डाइट में शामिल फूड में सैचुरेटेड और अनसैचुरेटेड फैट होता है, जिसे हम गुड और बैड फैट के नाम से भी जानते हैं। अनसैचुरेटेड फैट किन चीजों में होता है और डाइट में हेल्दी फैट को शामिल करने के लिए क्या करना चाहिए, बता रही हैं न्यूट्रिशनिस्ट डॉ. खुशबू शर्मा।

शरीर के लिए फैट क्यों जरूरी है?

अमेरिकन हार्ट एसोसिएशन की रिपोर्ट के मुताबिक हर दिन की डाइट में 25 से 35% तक फैट लेना चाहिए। हालांकि, इस बात का ध्यान रखना जरूरी है कि इसमें अनसैचुरेटेड फैट अधिक होना चाहिए। एक अन्य रिपोर्ट के मुताबिक, अपनी डाइट में गुड और बैड दोनों ही फैट को शामिल करना जरूरी है, क्योंकि फैट हमारे शरीर को एनर्जी देता है। इन दोनों फैट को लेने से हमारा शरीर आलस और कमजोरी से दूर रहता है।

क्या है सैचुरेटेड और अनसैचुरेटेड फैट?

डाइट में मौजूद हर तरह के फैट को डाइट्री फैट या फैटी एसिड कहा जाता है। पेड़-पौधों और जानवरों से मिलने वाले फूड में यह पाया जाता है, जिनमें अच्छे और बुरे दोनों तरह के फैट मौजूद होते हैं। अनसैचुरेटेड यानी गुड फैट की बात करें, तो यह हमारी हेल्थ के लिए फायदेमंद साबित होता है। यह शरीर में गुड कोलेस्ट्रॉल को बढ़ाता है। यह फैट, फिट रखने के साथ-साथ कई बीमारियों से लड़ने में भी मदद करता है।

वहीं, सैचुरेटेड फैट या बैड फैट की वजह से कई बीमारियां हो सकती हैं। डॉ. खुशबू कहती हैं कि इसकी वजह से कोलेस्ट्रॉल, डायबिटीज, ओबेसिटी और दिल की बीमारी होने का खतरा बना रहता है। हमें यह गलतफहमी होती है कि फुल क्रीम युक्त दूध, चिकन स्किन और चीज सेहत के लिए अच्छा होता है, लेकिन हमें ये जानना चाहिए कि इन सब में बैड फैट होते हैं।

इन फूड्स में होते हैं गुड और बैड फैट

अगर डाइट में सैचुरेटेड फैट एड करना चाहते हैं, तो अपनी फूड हैबिट्स में बादाम, अखरोट, पीनट बटर, पंपकिन सीड्स, सनफ्लावर सीड्स, तिल, अलसी, मछली, जैसी चीजें जरूर जोड़ लें। इन सब में गुड फैट पाया जाता है। अनसैचुरेटेड फैट की बात करें, तोक्रीम युक्त दूध, चीज और चिकन स्किन के अलावा यह फ्रेंच फ्राइज, चीज, आइसक्रीम, फास्ट फूड, बेकरी प्रोडक्ट्स, चिकन, रेड मीट, कुकीज, चिप्स और प्रोसेस्ड फूड्स में भी पाया जाता है। इन तमाम फूड्स में बैड फैट पाया जाता है।

बैड फैट से ऐसे बचें

  • कुकीज, चिप्स और बेक्ड फूड्स कम से कम खाएं।
  • तले-भुने खाने को न कहने की आदत डालें।
  • कोई भी डिश बनाने के लिए हाइड्रोजेनेटेड ऑयल का इस्तेमाल न करें।
  • एक बार इस्तेमाल किए हुए तेल को दोबारा इस्तेमाल न करें।
  • खाना बनाने के लिए ऑलिव और मूंगफली का तेल इस्तेमाल करें।
  • प्रोसेस्ड फूड्स से बचें। (इन फूड्स को फ्रेश रखने के लिए हाइड्रोजेनेटेड ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है।)