डाइट सही नहीं तो होंगे गंजेपन का शिकार:विटामिन A ज्यादा मिल रहा, रिफाइंड शुगर भी ले रहे हैं तो नहीं रुकेगा बालों का झड़ना

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

डाइट का बालों से गहरा संबंध है। हम जो खाते हैं उसका सीधा असर बालों पर पड़ता है। आयुर्वेद में कहा गया है कि गलत खाने के जो साइड इफेक्ट होते हैं वो बालों से दिख जाता है। विटामिन या खनिज की कमी हो तो बाल समय से पहले सफेद होने लगते हैं। बाल पहले पतले होते हैं फिर झड़ने लगते हैं। जो प्रक्रिया उम्र बढ़ने के साथ होनी चाहिए वो पहले ही शुरू हो जाती है।

शोधों में बताया गया है कि हर दिन किसी व्यक्ति के कम से कम सौ बाल रोज टूटते हैं। लेकिन डाइट गड़बड़ हो तो इसकी रफ्तार तेज हो जाती है। महिलाओं की डाइट में यदि सिंपल कार्बोहाइड्रेट की मात्रा अधिक हो तो बाल तेजी से झड़ते हैं। जैसे कैंडी, केक, कुकीज में रिफाइंड शुगर होती है। वहीं पास्ता, ब्रेड आदि चीजों में रिफाइंड ग्रेंस होते हैं। इन्हें अधिक खाने से बालों को नुकसान होता है।

एक शोध में यह भी बताया गया है कि तली हुई चीजें खाने से भी बालों पर बुरा असर पड़ता है। कुल मिलाकर बालों में सही मात्रा में विटामिन, प्रोटीन और खनिज न हो तो गंजापन की आशंका बढ़ जाती है।

क्लिनिकल रिसर्च इंटीग्रेटिंग एलोपैथी एंड आयुर्वेद, रांची के फाउंडर डॉ. सुरेश अग्रवाल कहते हैं बालों की सेहत के लिए अच्छी डाइट जरूरी है। पहले के समय में खाने-पीने में उन चीजों से परहेज होता था जिससे बालों को नुकसान होता हो। लेकिन आज लाइफस्टाइल की वजह से समस्याएं गंभीर हुईं हैं। कम उम्र में ही बाल सफेद होने लगते हैं। 22-23 साल के युवा भी गंजेपन के शिकार हो जाते हैं। लड़कियां भी बाल झड़ने की समस्या से जूझती हैं। इसके पीछे फास्ट फूड, कोल्ड ड्रिंक आदि का अधिक इस्तेमाल है।

डॉ. सुरेश बताते हैं कि बालों का बढ़ना एक नियमित प्रक्रिया है। शरीर में जो पोषक पदार्थ होते हैं उनकी सहायता से फॉलिकल्स लगातार बाल बनाते हैं। लेकिन जब प्रोटीन, विटामन, मिनरल्स का संतुलन गड़बड़ होता है तो बाल तेजी से झड़ने लगते हैं।

अमीनो एसिड की है बड़ी भूमिका

प्रोटीन वाली डाइट जिसमें अमीनो एसिड होते हैं बालों की ग्रोथ के लिए जिम्मेदार होते हैं। बालों की जड़ में एल-लाइजीन एमीनो एसिड होता है जो बालों को शेप देता है, घना बनाता है। इसकी कमी से बाल झड़ते हैं।

महिलाओं में माहवारी के दौरान खून की कमी होती है। कई तो एनेमिक हो जाती हैं। इससे आयरन की कमी हो जाती है जो कि बाल झड़ने का प्रमुख कारण है। शरीर में जिंक की कमी हो तो बाल सूखे हो जाते हैं। वहीं प्रोटीन की कमी से बाल बेजान दिखते हैं।

वैसे तो बालों के ग्रोथ के लिए विटामिन जरूरी है। लेकिन अधिक मात्रा में विटामिन डी और विटामिन ए लेने से बालों को फायदे से अधिक नुकसान होने लगता है। विटामिन ए जिसे रेटीनॉल भी कहते हैं। इससे बालों में सेबम का प्रोडक्शन होता है। लेकिन डाइट में विटामिन की मात्रा अधिक ली जाए तो बाल झड़ने भी लगते हैं।

खबरें और भी हैं...