• Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • 13 year old Tanishka From Indore Will Do BA In Psychology From DAVV, Sought Law To Fulfill Her Father's Dream But Was Not Approved

छोटी उम्र में कर दिया कमाल:इंदौर निवासी 13 साल की तनिष्का DAVV से सायकोलॉजी में करेंगी BA, पिता का सपना पूरा करने के लिए लॉ मांगा था पर मंजूरी नहीं मिली

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

DAVV में पहली बार 13 साल की एक बच्ची को BA में एडमिशन दिया गया है। एरोड्रम क्षेत्र में रहने वाली तनिष्का सॉयकॉलोजी में BA करेंगी। हालांकि कोरोना से कुछ समय पहले गुजर चुके पिता का सपना पूरा करने के लिए उन्होंने BA LLB मांगा था, लेकिन उसकी मंजूरी नहीं मिल पाई है। इसके पहले वह 12 साल में 12वीं पास कर एशिया बुक ऑफ अवॉर्ड और 11 वर्ष की आयु में 10वीं पास कर इंडिया बुक ऑफ अवॉर्ड में अपना नाम दर्ज करा चुकी हैं। कुलपति और उच्च शिक्षा विभाग की विशेष अनुमति से उसे यूनिवर्सिटी के तक्षशिला परिसर के स्कूल ऑफ लाइफ लाॅन्ग लर्निंग में BA में एडमिशन मिला है। उन्हें एडमिशन नवंबर में मिला था, जो अब कन्फर्म हो गया है। तनिष्का आंखों पर पट्टी बांधकर भी लिख और पढ़ लेती हैं।

कॉलेज में पूछा-क्या 1 साल की उम्र में ही आपने पढ़ना शुरू कर दिया था?

ढाई वर्ष की उम्र में नर्सरी से शुरू कर साढ़े आठ वर्ष की उम्र तक तनिष्का ने पांचवी की पढ़ाई की। इसके बाद होम स्कूलिंग शुरू की। 11 वर्ष की उम्र में विशेष अनुमति लेकर मालवा कन्या स्कूल से 10वीं की प्रायवेट परीक्षा दी। फर्स्ट क्लास पास भी हुईं। अगले साल उन्होंने ऐसे ही 12वीं की परीक्षा पास कर ली। कॉलेज में एडमिशन की बारी आई तो पहले पूरे रिकॉर्ड मांगे गए कि आपने क्या एक वर्ष की उम्र से पहली कक्षा से पढ़ना शुरू कर दिया था। शासन की विशेष अनुमति से उन्हें एडमिशन मिल पाया।

तनिष्का ने कहा- कोरोना से चल बसे पिता, अब उनका सपना पूरा करना चाहती हूं

तनिष्का के पिता सुजीत का हाल ही में कोरोना से निधन हो गया। अब वह पिता के सपने को पूरा करने के लिए जज बनना चाहती हैं। वह कहती हैं इतनी कम उम्र में कॉलेज की पढ़ाई शुरू होना ही मेरी मंज़िल नहीं है। पिता ने मुझे विशेष अनुमति दिलवाने के लिए खूब प्रयास किए। मां अनुभा कहती हैं कि अब मैं तनिष्का को BA LLB में एडमिशन दिलाने के लिए केंद्र, राज्य शासन और BCI से अनुमति के लिए प्रयास करूंगी।

खबरें और भी हैं...