• Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • Active Girls' Personal Beauty Guide What Experts Say On Prevention And Solutions To All The Problems That Arise During Workouts.

एक्टिव गर्ल्स की पर्सनल ब्यूटी गाइड:वर्कआउट के दौरान होने वाली तमाम दिक्कतों से बचाव और समाधान पर क्या कहते हैं एक्सपर्ट्स

2 महीने पहलेलेखक: शालिनी पाण्डेय
  • कॉपी लिंक
  • पसीने से हेयरफॉल रोकने में मदद करेगा केमिकल फ्री शैम्पू
  • हार्मोनल है एक्ने की समस्या, स्किन की सफाई है समाधान

एक्टिव गर्ल्स की पर्सनल ब्यूटी गाइड

आप जिम जाती हैं? वेटलिफ्ट, स्विमिंग, रनिंग या फिर जॉगिंग जैसा वर्कआउट करती हैं? फिजिकल फिटनेस का खयाल रखती हैं?

वर्कआउट करने पर सनबर्न, टैनिंग, बेजान बाल, ऑयली, रूखी स्किन की रेडनेस या स्कैल्प में इचिंग जैसी दिक्कतें हो सकती हैं। हमने बात की एक्सपर्ट्स से और जाना की एक्टिव वुमेन, आमतौर पर ऐसी किन और परेशानियों का सामना करती हैं साथ ही किस तरह इनसे आसानी से निपटा जा सकता है।

बॉडी ब्रेकआउट

पीठ, हिप्स या सीने पर होने वाले एक्ने ऐसी समस्या है जो स्किन की सही सफाई नहीं करने और औरतों में होने वाले तमाम हार्मोनल बदलाव के कारण होती है। यह एक तरह का फंगल इन्फेक्शन है जिससे बचने के लिए बॉडी को साफ़ सुथरा रखना चाहिए। नहाने से पहले सरसों के तेल की मालिश और नहाते हुए स्क्रब का इस्तेमाल, आपको इस समस्या से दूर रखेगा।

ब्रूज्ड टोनेल-

क्या आपके पैरों के अंगूठे के नाखून में इनग्रोथ है यानी नाखून स्किन के अन्दर घुस कर चुभता और दर्द करता है? यह ब्रूज्ड टोनेल या जॉगर्स टो है, जो एक आम समस्या है।

सुवर्णा त्रिपाठी, ब्यूटी एक्सपर्ट
सुवर्णा त्रिपाठी, ब्यूटी एक्सपर्ट

ब्यूटी एक्सपर्ट सुवर्णा त्रिपाठी बताती हैं कि इसके कारण रनिंग या जॉगिंग के दौरान जूते पहनने पर नाखून आपके पैर के आसपास की स्किन में घुस जाते हैं। आपको भी यह परेशानी है तो ध्यान रखिए कि आपके पैर के नाखून हमेशा छोटे हों। ऐसी दिक्कत आए तो आप पैडीक्योर की दो से तीन सिटिंग लेकर आसानी से इससे निजात पा सकते हैं।

ऑयली या ड्राई स्कैल्प और हेयर फॉल

फिजिकल एक्टिवीज करते हुए बालों को पोनी टेल में बाँध कर रखा जाता है। जिसके कारण स्कैल्प पर पसीना काफी देर तक रह जाता है। स्वेटिंग के कारण स्कैल्प में ड्राईनेस या इचिंग जैसी दिक्कतें आती हैं जिनसे आपके बालों को नुकसान पहुंचता है। इससे बचने के लिए आप जब भी फिजीकल एक्टिविटी करके लौटें तो गुनगुने पानी से शॉवर ज़रूर लें। नहाने से पहले बालों में की गई ऑयलिंग स्कैल्प और बालों को ड्राई नहीं होने देती। अपना शैम्पू चुनते हुए ध्यान रखें कि उसमें सल्फेट या पैराफिन जैसे कैमिकल ना हों। फिर भी अगर यह समस्या आ रही है तो आप हेयरफौल ट्रीटमेंट की पावर डोज ले सकती है जो इस समस्या का कारगर उपाय है।

एथलीट फुट

नाम से कहीं आपने इसे किसी एथलीट का फुट तो नहीं समझ लिया? दरअसल स्किन पर होने वाली रैशेज़, रेडनेस, खुजली और जलन की दिक्कतों को एथलीट फुट के नाम से जाना जाता है।

पूनम झा, ब्यूटी एक्सपर्ट
पूनम झा, ब्यूटी एक्सपर्ट

ब्यूटी एक्सपर्ट पूनम झा बताती हैं कि यह परेशानी वर्कआउट करने वाली महिलाओं में होने की सबसे बड़ी वजह है स्वेटिंग के बाद बॉडी को सलीके से साफ नहीं किया जाना आमतौर पर लोग या तो पसीना सुखा लेते हैं या पसीना पोंछ कर कपड़े बदल लेते हैं। इससे बचने का आसान तरीका है कि एक्सरसाइज़ के बाद आप गुनगुने पानी से जरूर नहाएं। बॉडी के जिन हिस्सों पर स्वेटिंग होती है उनपर पाउडर लगाएं और सोने से पहले उसे साफ जरूर करें। अगर यह दिक्कत बनी रहे तो उस जगह पर हर्बल क्रीम या प्योर नारियल का तेल लगा कर रखें ताकि उस जगह की नमी ख़त्म होने के कारण वहां खुजली न हो।

खबरें और भी हैं...