• Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • Alopecia Disorder Can Also Be The Reason, Know The Reasons And Remedies, Prevent Hair Loss With Home Remedies

एलोपेसिया डिसऑर्डर हो सकता है गंजेपन की वजह:जानें बाल झड़ने के कारण, किचन में है इसका आसान उपाय

4 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पुरुषों के मुकाबले महिलाओं में गंजेपन के मामले कम ही पाए जाते हैं, लेकिन अब कुछ मात्रा में महिलाओं में भी यह समस्या पायी जाने लगी है। बाल झड़ने की समस्या को समय रहते रोकने और इससे छुटकारा पाने के घरेलू उपाय बता रही हैं ब्यूटी एक्सपर्ट शहनाज हुसैन।

बाल झड़ने के कारण

बालों के झड़ने के कुछ सबसे सामान्य कारणों में तनाव, पोषण की कमी, रूसी, स्कैल्प का बहुत ऑयली होना, लंबी बीमारी, थायरॉइड का असंतुलन आदि हैं। इसके अलावा केमिकल युक्त हेयर कलर, हेयर ट्रीटमेंट, लोशन के कारण बालों का नुकसान होता है। तनाव भी बाल झड़ने का एक आम कारण है और महिलाओं में बढ़ते स्ट्रेस के कारण उनमें बालों का झड़ना और गंजापन जैसी समस्याएं बढ़ती जा रही हैं। प्रेग्नेंसी, मेनोपॉज, हार्मोनल इम्बैलेंस के कारण भी कई महिलाओं के बाल इतने ज्यादा झड़ते हैं कि गंजेपन की नौबत तक आ जाती है।

एलोपेसिया डिसऑर्डर भी है वजह

एलोपेसिया जिसे स्पॉट बाल्डनेस भी कहते हैं। इसमें सिर के कुछ हिस्सों में बाल नहीं होते। यह पुरुषों, महिलाओं और यहां तक कि बच्चों में भी देखा जाता है। एलोपेसिया में गोलाकार पैच में गंजापन नजर आता है। गंजेपन वाला यह पैच एक जगह पर भी हो सकता है और बढ़कर दूसरी जगहों पर भी दिखाई दे सकता है। डॉक्टरों का मानना है कि यह एक ऑटो-इम्यून डिसऑर्डर हो सकता है, जो तनाव और चिंता से बढ़ सकता है। एलोपेसिया डिसऑर्डर के केस में बालों या स्कैल्प की मालिश जोर से या रगड़कर नहीं करनी चाहिए। बाल झड़ने की ऐसी समस्या का क्लीनिकल इलाज किया जाता है। इसमें हेयर टॉनिक का भी इस्तेमाल किया जाता है।

यदि बालों की जड़ें कमजोर हैं, तो जोरदार मालिश से वे झड़ सकते हैं।
यदि बालों की जड़ें कमजोर हैं, तो जोरदार मालिश से वे झड़ सकते हैं।

बालों की हफ्ते में कितनी बार धोएं

यह एक आम सवाल यह है कि बालों को हफ्ते में कितनी बार धोना चाहिए। बालों को धोने से ज्यादा ये जरूरी है कि आप कैसे हेयर प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल कर रहे हैं। बालों के प्रकार और मौसम के अनुसार बालों को धोना और सही प्रोडक्ट्स का इस्तेमाल करना चाहिए। माइल्ड हर्बल शैम्पू का इस्तेमाल करें। कम शैम्पू लें और थोड़े से पानी से उसे पतला करें। ऑयली बालों को हफ्ते में 3 बार धोएं, सामान्य से सूखे बालों को हफ्ते में दो बार धोएं। यदि काम के लिए लंबी दूरी तय करनी पड़ती है, तो बहुत कम शैम्पू का उपयोग करके बालों को बार-बार धोना चाहिए। यदि बाल बहुत ऑयली हैं, तो बार-बार शैम्पू करने के बजाय उन्हें रिंस भी किया जा सकता है। इसके लिए एक मग पानी में दो बड़े चम्मच एप्पल साइडर विनेगर मिलाएं और इससे बाल धो लें, बाल घने और चमकीले दिखेंगे।

घरेलू उपाय से रोकें बालों का झड़ना

अंडा, नारियल तेल, नींबू का रस और ग्लिसरीन को मिलाकर बालों पर लगाएं। एक घंटे रहने दें, फिर बाल धो लें। ऐसा करने से बालों का झड़ना रुकता है और बाल तेजी से बढ़ते हैं।

बाल ड्राई हैं तो पके केले में 2 अंडे और एक नींबू का रस मिलाएं। इस पैक को आधे घंटे के लिए बालों पर लगाएं। फिर शैम्पू कर लें। ऐसा नियमित रूप से करने से बाल सॉफ्ट और मजबूत बनते हैं।

मेथी के बीजों को रात भर पानी में भिगो दें। इन्हें पीसकर पेस्ट बना लें। पेस्ट को स्कैल्प पर लगाएं और आधे घंटे के लिए छोड़ दें। बीजों को छान लें और पानी का उपयोग बालों को धोने के लिए करें। मेथी के बीज स्कैल्प को इंफेक्शन और डैंड्रफ से बचाते हैं। ऐसा नियमित रूप से करने से बालों का झड़ना रुकता है।

केमिकलयुक्त हेयर कलर और हेयर-केयर प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से भी बचें।
केमिकलयुक्त हेयर कलर और हेयर-केयर प्रोडक्ट्स के इस्तेमाल से भी बचें।

ताजा करी पत्ते में नारियल का तेल डालकर तक उबालें, जब तक कि काला अवशेष न बन जाए। मिश्रण को ठंडा करें और स्कैल्प पर लगाएं। इसे एक घंटे तक लगा रहने दें और फिर बालों को धो लें। ऐसा हफ्ते में 2 या 3 बार करने से बालों का झड़ना रुकता है।

यदि बाल बहुत ज्यादा झड़ रहे हैं तो सिर की तेज मालिश न करें और चौड़े दांतों वाली कंघी का इस्तेमाल करें।

खबरें और भी हैं...