• Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • Deepika Padukone And Sonam Kapoor's Personality Perfect For Tiger Print, Chinese Lunar New Year Effect India

चीन से चला टाइगर का ट्रेंड:सब पर सूट नहीं करता टाइगर प्रिंट, दीपिका-सोनम की पर्सनैलिटी के लिए परफेक्ट, जानें- अपना हिसाब-किताब

नई दिल्ली4 महीने पहलेलेखक: निशा सिन्हा
  • कॉपी लिंक

एनिमल प्रिंट्स हमेशा से महिलाओं के फेवरेट रहे हैं। इस बार बड़े ब्रांड्स चीनी ‘लूनर न्यू ईयर’ को देखते हुए टाइगर के प्रिंट की ड्रेसेज और एक्सेसरीज लॉन्च कर रहे हैं। डिजाइनर्स यह मानते हैं कि चूंकि बड़े ब्रांड्स ने इसमें एंट्री की है, तो इंडियन फैशन वर्ल्ड भी इससे अछूता नहीं रहेगा।

फैशन ब्रांड गुची के स्कर्ट, वुलन वियर, एक्सेसरीज व स्नीकर्स सभी पर बाघ के मोटिफ्स रहेंगे।
फैशन ब्रांड गुची के स्कर्ट, वुलन वियर, एक्सेसरीज व स्नीकर्स सभी पर बाघ के मोटिफ्स रहेंगे।

टाइगर प्रिंट्स सब पर सूट नहीं करते
मशहूर ब्रांड के फैशन आइटम्स में बाघ के कलर, मोटिफ और प्रिंट का इस्तेमाल किया जा रहा है। फैशन डिजाइनर्स का मानना है कि एनिमल प्रिंट्स हमेशा ही वार्डरोब में जगह बनाते रहे हैं। “जहां तक टाइगर प्रिंट्स की बात है, तो यह हर महिला पर नहीं जंचता, खासकर सॉफ्ट लुक की युवतियों पर ताे बिलकुल भी नहीं, ऐसा मानना है लाषा डिजाइन्स की फैशन डिजाइनर अभिलाषा का।

फिल्म प्रमोशन के दौरान विद्या बालान ने बाघ की मोटिफ्स की यह साड़ी पहनी थी।
फिल्म प्रमोशन के दौरान विद्या बालान ने बाघ की मोटिफ्स की यह साड़ी पहनी थी।

अभिलाषा बताती हैं कि टाइगर प्रिंट दीपिका पादुकोण और सोनम कपूर जैसी बोल्ड दिखने वाली एक्ट्रेस पर सूट करता है। आलिया भट्‌ट जैसी सॉफ्ट नेचर वाली और भोली शक्ल की एक्ट्रेस पर इस प्रिंट का प्रभाव नजर नहीं आएगा।

‘पिग’ को समर्पित लूनर न्यू ईयर रहा था विवादों में
चीनी राशि चक्र में 12 पशुओं का जिक्र है। हर साल किसी न किसी पशु को समर्पित होता है। इन जानवरों में सांप, ड्रैगन, जैसे खूंखार तो खरगोश और बकरी जैसे मासूम जानवर भी शामिल होते हैं।

एक फरवरी को चाइनीज न्यू इर्यर की शुरुआत होगी, यह साल बाघ के नाम होगा।
एक फरवरी को चाइनीज न्यू इर्यर की शुरुआत होगी, यह साल बाघ के नाम होगा।

लूनर न्यू ईयर के जानवर काे देखते हुए लोग इसे फैशन और सजावट से जुड़ी चीजों में इस्तेमाल करने लगते हैं इसलिए इसका असर फैशन इंडस्ट्री पर भी पड़ता रहता है। साल 2019 को ‘ईयर ऑफ पिग’ कहा गया था। इस वजह से इस्लामिक देशों में इसे लेकर बहस छिड़ गई थी। यहां पर इस पशु को अपवित्र माना जाता है।

सानिया मिर्जा ने भी टाइगर प्रिंट जैकेट से सबका ध्यान अपनी ओर खींचा था।
सानिया मिर्जा ने भी टाइगर प्रिंट जैकेट से सबका ध्यान अपनी ओर खींचा था।

जेब्रा प्रिंट से ज्यादा स्मार्ट है टाइगर प्रिंट
इस साल विश्व के 12 मशहूर ब्रांड्स फैशन मार्केट में टाइगर का डिजाइन भर रहे हैं। इसमें एनिमल प्रिंट के लिए मशहूर ब्रांड ‘बोटेगा वेनेटा’ भी शामिल है। इसके अलावा ‘प्राडा’, ‘म्यू म्यू’, ‘फेंडी’, ‘गुची’, ‘वेलेंटिनो’ के उत्पादों में भी इसका असर दिखेगा।

वाइट टाइगर प्रिंट की ड्रेस में प्रियंका की यह फोटो काफी चर्चा में रही थी।
वाइट टाइगर प्रिंट की ड्रेस में प्रियंका की यह फोटो काफी चर्चा में रही थी।

फैशन डिजाइनर अभिलाषा के मुताबिक एनिमल प्रिंट में लेपर्ड प्रिंट भी खूब पसंद किए जाते हैं। वॉलेट, बैग और फुटवियर में भी इन प्रिंट्स का खूब इस्तेमाल देखा गया है। जेब्रा प्रिंट को ज्यादा वैल्यू नहीं मिल पाती क्योंकि वह जेब्रा क्राॅसिंग जैसी फीलिंग को समेटे हुए रहता है।

एस्ट्रोलॉजर आरती दहिया के मुताबिक त्योहार भी चंद्र कैलेंडर पर आधारित होते हैं।
एस्ट्रोलॉजर आरती दहिया के मुताबिक त्योहार भी चंद्र कैलेंडर पर आधारित होते हैं।

क्या टाइगर का जादू भारत पर चलेगा
ज्योतिषविद् आरती दहिया के अनुसार, “भारत में चंद्र पर आधारित पंचांग बनते रहे हैं। ज्योतिषीय गणनाओं में चांद का असर हमेशा देखा जाता रहा है। भारतीय तीज-त्योहार चंद्र कैलेंडर पर आधारित होते हैं। टाइगर निडरता की निशानी है। इसके साथ ही यह शक्ति और व्यक्तिगत मजबूती को भी दर्शाता है। ऐसे में इस तरह का फैशन स्टेटमेंट मजबूती का संकेत देता है।”

खबरें और भी हैं...