ब्यूटी फर्स्ट:झड़ते बाल और बढ़ती उम्र को रोकता है डर्मा रोल, एक्सपर्ट से जानें क्या है इसकी खूबी

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

खूबसूरत और परफेक्ट दिखने के लिए लोग हर वो विकल्प आजमाते हैं, जो बाजार में उपलब्ध हैं। चेहरे को जवां बनाए रखने और बालों को संवारने का क्रेज महिला और पुरुष दोनों में बराबर देखा जाता है। इसी क्रेज को बनाए रखने के लिए बाजार में मौजूद है डर्मा रोलर। इसका नाम ही ये समझने के लिए काफी है कि डर्मा रोलर स्किन से जुड़ी समस्याओं में काम आता है। क्या है ये प्रोडक्ट और किस तरह इसके इस्तेमाल का चलन लोगों में बढ़ता जा रहा है, बता रही हैं डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. इप्शिता जोहरी।

कैसे काम करता है डर्मा रोलर?

किसी भी आम रोलर की तरह नजर आने वाला ये ब्यूटी गैजेट चेहरे को जवां बनाए रखने में मदद करता है। इसके इस्तेमाल से चेहरे की रंगत निखरती है, ओपन पोर्स भरते हैं। इसके अलावा चेहरे की फाइन लाइन्स और रिंकल्स कम करते हुए ये एक एंटी एजिंग की तरह काम करता है। डॉ. जोहरी बताती हैं कि ये रोलर स्किन में कोलेजन यानी प्रोटीन बनाने का काम करता है, जिससे बढ़ती उम्र के लक्ष्ण कम होने लगते हैं।

रोलर के ये हैं फायदे

इस रोलर के इस्तेमाल से चेहरे का ब्लड सर्कुलेशन बेहतर बना रहता है, जिससे चेहरे पर नई चमक आ जाती है। साथ ही ये मुंहासों की वजह से चेहरे पर पड़े निशान कम करने में मदद करता है। डॉ. जोहरी के मुताबिक इस रोलर में छोटे-छोटे माइक्रो नीडल्स यानी छोटी सुइयां लगी होती हैं और हल्के हाथों से प्रेस करते हुए चेहरे के चारों तरफ घुमाते हुए मसाज किया जाता है, जिसकी वजह से चेहरे की चमक बनी रहती है। बाजार में .25 से लेकर 2 एमएम तक के नीडल्स वाले डर्मा रोलर्स मिलते हैं।

बालों और चेहरे को संवारने के लिए इस्तेमाल होता है डर्मा रोलर
बालों और चेहरे को संवारने के लिए इस्तेमाल होता है डर्मा रोलर

इन बातों को न लें हल्के में

डॉक्टर के मुताबिक लोग इन रोलर्स को बाजार या ऑनलाइन शॉपिंग के जरिए खरीद लेते हैं और इसका इस्तेमाल बिना एक्सपर्ट एडवाइस लिए करने लगते हैं, इसलिए रिजल्ट उम्मीद से बिल्कुल अलग आ सकता है। सही रिजल्ट के लिए पहले अपनी स्किन टाइप पर डॉक्टर से सलाह लें, उसके बाद ही डर्मा रोलर का इस्तेमाल करें। उन्होंने आगे बताया कि इसे क्लीनिक में करवाना ही सेफ होता है, क्योंकि किसी भी इमरजेंसी में एक्सपर्ट मौजूद रहते हैं। चूंकि इस गैजेट में नीडल्स लगे होते हैं, इसलिए एक ही जगह पर बार-बार इसका इस्तेमाल करने से स्किन डार्क हो सकती है। इसे 10-15 दिनों के गैप में करवाएं। डॉ. इप्शिता ने बताया कि 6-8 सिटिंग में ही बदलाव नजर आने लगता है। चेहरे को जवां बनाए रखने के लिए हर सिटिंग का चार्ज 3000 से 5000 रुपये तक आता है, जबकि हेयर री-ग्रोथ के लिए ये चार्ज 3000 से 4000 रुपये तक के बीच का होता है।

खबरें और भी हैं...