सर्दियों में वैक्सिंग करते समय न करें ये गलतियां:अनचाहे बालों को रोकने के लिए हेयर रिमूविंग का सही तरीका अपनाएं

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

सर्दियों में त्वचा रूखी और खुरदरी हो जाती है इसलिए वैक्सिंग कराते समय कुछ बातों का ध्यान रखना जरूरी है। कुछ महिलाएं विंटर में वैक्सिंग कराने से बचती हैं, लेकिन ऐसा करना सही नहीं है। विंटर में वैक्सिंग का सही तरीका बता रही हैं ब्यूटी एक्सपर्ट शहनाज हुसैन।

कुछ महिलाएं सोचती हैं कि सर्दियों में वैक्स कराने की कोई जरूरत नहीं है, क्योंकि गर्म रखने के लिए आपके हाथ और पैर बालों से ढके रहेंगे। लेकिन ऐसा करना सही नहीं है। हर मौसम की तरह सर्दियों में भी वैक्स कराते रहना चाहिए।

वैक्सिंग क्यों है सही

वैक्सिंग शरीर से बालों को हटाने का सबसे लोकप्रिय तरीका है। हाथ, पैर, अंडरआर्म, यहां तक ​​कि पीठ के बालों को भी वैक्सिंग से आसानी से हटाया जा सकता है। वैक्सिंग के बाद स्किन सॉफ्ट हो जाती है। वैक्सिंग से लंबे समय तक अनचाहे बालों से छुटकारा मिलता है इसलिए ज्यादातर महिलाएं हेयर रिमूविंग का यही तरीका अपनाती हैं।

वैक्सिंग से बाल जड़ से हट जाते हैं और धीरे-धीरे समय के साथ बालों का विकास कम होने लगता है। लगातार वैक्सिंग करने से इसके सेशन के बीच का अंतराल बढ़ने लगता है। इसकी वजह है कि वैक्सिंग से धीरे-धीरे बालों का विकास कम होने लगता है और वापस उगने वाले बाल भी सॉफ्ट होते जाते हैं।

वैक्सिंग के बाद स्किन सॉफ्ट हो जाती है, लंबे समय तक अनचाहे बालों से छुटकारा मिलता है
वैक्सिंग के बाद स्किन सॉफ्ट हो जाती है, लंबे समय तक अनचाहे बालों से छुटकारा मिलता है

सर्दियों में वैक्सिंग है जरूरी

कहा जाता है कि वैक्सिंग के लिए सर्दियां बेहतर समय होता है, क्योंकि इसके परिणाम लंबे समय तक रहते हैं। सर्दियों में बाल धीरे-धीरे वापस बढ़ते हैं। अगर आप सर्दियों में वैक्सिंग बंद कर देंगी तो बाल लंबे हो जाएंगे और लंबे बालों की वैक्सिंग कराने में दर्द होगा। इसलिए सर्दियों में वैक्सिंग जरूर करवाएं। आप जितना जल्दी वैक्स करेंगी, दर्द उतना कम होगा। सर्दियों में आप चार हफ्ते के बाद वैक्स कर सकती हैं।

सर्दियों में वैक्सिंग के दर्द से बचने के लिए कुछ लोग शेव करते हैं, लेकिन इससे बाल जल्दी आ जाते हैं और उनका टैक्स्चर भी सॉफ्ट नहीं रहता। वैक्सिंग से बाल जड़ से निकलते हैं, स्किन सॉफ्ट होती है और टैनिंग भी ठीक हो जाती है

नींबू और शक्कर का वैक्स

खुद करने के बजाय आप किसी ब्यूटी सैलून में भी वैक्सिंग करा सकती हैं। ज्यादातर ब्यूटी सैलून वैक्स तैयार करने के लिए चीनी और नींबू के मिश्रण का उपयोग करते हैं। ये नैचुरल इंग्रीडिएंट्स हेयर रिमूविंग क्रीम में मौजूद केमिकल से ज्यादा सुरक्षित हैं। चीनी और नींबू दोनों में एक्सफोलिएटिंग गुण हैं जो डेड सेल्स को हटाकर स्किन को सॉफ्ट बनाते हैं। यह हाथ और पैरों से टैन हटाने में भी मदद कर सकता है। इसलिए वैक्सिंग के बाद त्वचा चिकनी और चमकदार दिखती है।

चीनी और नींबू के वैक्स से हाथ-पैर से टैन हट जाता है और स्किन सॉफ्ट हो जाती है
चीनी और नींबू के वैक्स से हाथ-पैर से टैन हट जाता है और स्किन सॉफ्ट हो जाती है

मार्केट में मिलने वाले वैक्स

आजकल, विभिन्न प्रकार के वैक्स उपलब्ध हैं जो सर्दियों के दौरान त्वचा की मदद करते हैं, जैसे लिपोसॉल्युबल वैक्स, जिसमें प्राकृतिक तत्व होते हैं, जैसे कि वेजीटेबल ऑयल, जो त्वचा को पोषण देते हैं और मॉइस्चराइज करते हैं। सॉफ्ट, क्रीमी टेक्सचर के कारण इसे फैलाना आसान है। इस वैक्स के इस्तेमाल से स्किन सॉफ्ट हो जाती है। यह टैन और डेड सेल्स को हटाने में भी मदद करता है, जिससे स्किन सॉफ्ट और शाइनी बनती है।

अब चॉकलेट वैक्स भी मिलने लगा है, जो त्वचा के लिए भी फायदेमंद है। रेडी-टू-यूज वैक्स भी उपलब्ध हैं, जिनमें पैराफिन होता है, जो एक प्राकृतिक तत्व भी है। बेहतर परिणाम के लिए, वैक्स को बालों के बढ़ने की दिशा में लगाया जाता है, जबकि पट्टी को विपरीत दिशा में खींचा जाता है।

शेव करने से बाल जल्दी आ जाते हैं और उनका टैक्स्चर भी सॉफ्ट नहीं रहता
शेव करने से बाल जल्दी आ जाते हैं और उनका टैक्स्चर भी सॉफ्ट नहीं रहता

वैक्सिंग करते समय बचें इन गलतियों से

  • अगर आपकी त्वचा पर वैक्सिंग के बाद रैशेज होने का खतरा है, तो आप एस्ट्रिंजेंट लोशन लगा सकती हैं।
  • सर्दियों में वैक्सिंग के बाद एलोवेरा जेल लगाएं। एलोवेरा एक शक्तिशाली मॉइस्चराइजर है, जो त्वचा को मुलायम बनाता है। इसमें जिंक भी होता है, जो जलन कम करने में मदद करता है।
  • सर्दियों में जब हम धूप में बैठते हैं तो त्वचा अधिक सांवली हो जाती है, इसलिए वैक्सिंग के तुरंत बाद त्वचा को धूप के संपर्क में लाएं।