फैशन विद स्टाइल:सेकंड हैंड कपड़े खरीद रहे हैं तो विंटेज सेलर्स को फॉलो करें, हमेशा कपड़ों के साइज पर खास ध्यान दें

अमी कैप्रीहनएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक
  • सोशल मीडिया पर इन दिनों कई विंटेज सेलर्स मौजूद हैं। आप उन ब्रैंड्स को फॉलो कर सकते हैं
  • सेकंड हैंड कपड़े लेते हुए साइज को लेकर किसी प्रकार का संदेह न हो, वरना आप अपना पसंद किया हुआ गारमेंट मिस कर देंगे

लोग अब इको-कॉन्शियस होते जा रहे हैं। नतीजा ये कि सेकंड हैंड कपड़ों की मांग लगातार बढ़ रही है। पैंडेमिक के बाद रीसेल पहले से ज्यादा मशहूर हुआ है। ज्यादातर लोग अपनी वॉर्डरोब्स खाली कर रहे हैं, केवल जरूरी कपड़े ही बचा रहे हैं।

रिसर्च बताती हैं कि 2021 तक जहां ऑनलाइन रिटेल मार्केट 69 प्रतिशत तक बढ़ सकता है, वहीं पारंपरिक रिटेल सेक्टर में 15 प्रतिशत तक की गिरावट हो सकती है। हर साल लगभग सौ बिलियन नए कपड़े बनते हैं। ऐसे में सेकंड हैंड कपड़ों को खरीदना समझदारी ही होगी, लेकिन सेकंड हैंड कपड़े खरीदते हुए इन बातों का ध्यान रखना भी जरूरी है:

1. टाइमलेस पीसेस ले सकते हैं

सेकंड हैंड की दुनिया में नए हैं तो क्लासिक वॉर्डरोब स्टेपल्स में निवेश कर सकते हैं। टाइमलेस पीसेस से शुरुआत कर सकते हैं कि ये कभी आउट ऑफ फैशन नहीं होते। आइडिया यह है कि अब वॉर्डरोब की लाइफ बढ़ानी चाहिए। इसके लिए जरूरी है कपड़ों की क्वालिटी अच्छी होनी चाहिए।

2. सोशल मीडिया से प्रेरणा ले सकते हैं

सोशल मीडिया पर इन दिनों कई विंटेज सेलर्स मौजूद हैं। आप उन ब्रैंड्स को फॉलो कर सकते हैं जो आपकी पसंद से मेल खाते हुए कपड़े रखते हैं। यहां आपको कपड़ों को स्टाइल करने के आइडिया भी मिल जाएंगे। आउटफिट कोई भी हो, उसे सही तरीके से कैरी करना आना चाहिए।

3. अपना साइज़ पता होना चाहिए

सेकंड हैंड कपड़े लेते हुए साइज को लेकर किसी प्रकार का संदेह न हो, वरना आप अपना पसंद किया हुआ गारमेंट मिस कर देंगे। हालांकि कई विंटेज सेलर्स कपड़ों को ऑल्टर करके देते हैं। आइटम के साइज पर बहुत ध्यान दें और कोई सवाल हो तो सेलर से पूछ सकते हैं।