खाइए और मुस्कुराइए:अगर रहना चाहते हैं खुश और पॉजिटिव, तो बड़े काम आएगी इनकी दोस्ती

एक वर्ष पहलेलेखक: श्वेता कुमारी
  • कॉपी लिंक

दिन भर कुछ बुरा नहीं हुआ, घर-ऑफिस में सब अच्छा चल रहा है, लेकिन मूड खराब है। कुछ अच्छा नहीं लग रहा है या माइंड अपसेट है। क्या कभी आप भी ऐसी स्थिति से गुजरी हैं? आज डाइट फॉर डिलाइट की डायटीशियन डॉ. खुशबू शर्मा के साथ मिलकर हम आपको बताते हैं ऐसे सुपर फूड्स के बारे में जो मूड बेहतर बनाए रखने में मदद करते हैं।

कैसे काम करते हैं सुपर फूड्स?

ये ऐसे फूड्स हैं, जो हमारे माइंड को पॉजिटिव बनाए रखते हैं। इसमें मौजूद प्रोटीन, विटामिन्स और मिनरल्स हमारे लिए स्ट्रेस बस्टर साबित होते हैं। सुपर फूड्स बाकियों से इसलिए अलग हैं, क्योंकि ये हमारे बायोकेमिस्ट्री पर असर डालते हैं। इन्हें खाने के तुरंत बाद, हम न सिर्फ एनर्जेटिक महसूस करते हैं, बल्कि हमें खुद में पॉजिटिव और अच्छी फीलिंग भी आती है।

क्या आपने इन फूड्स को अपनी डाइट में शामिल किया?

खुश रहने के लिए ओमेगा 3 है जरूरी - ओमेगा 3 से भरपूर फूड प्रोडक्ट्स को दिलो-दिमाग को खुश रखने के लिए एक जबर्दस्त विकल्प माना जाता है। रिसर्च के मुताबिक ये माइनर से मेजर तक के डिप्रेशन से लड़ने में मददगार साबित होता है। अलसी, अखरोट, टोफू, ग्रीन बींस, स्ट्रॉबेरी, सोयाबीन, स्प्राउट्स और ब्रोकली में भरपूर मात्रा में ओमेगा-3 पाया जाता है।

एंटी-ऑक्सीडेंट युक्त आहार - हमारे शरीर में एक हर्मोन है एंडोर्फिन, जो स्ट्रेस रिलीज करता है। इससे बचने के लिए जरूरी है कि हम अपनी डाइट में एंटी-ऑक्सीडेंट से भरपूर फूड्स शामिल करें। इसके लिए सबसे अच्छा विकल्प है डार्क चॉकलेट। इसके अलावा लहसुन, गाजर, पालक, जामुन, कद्दू, बैंगन एंटी-ऑक्सीडेंट का अच्छा सोर्स माना जाता है।

स्ट्रेस कम करेगा विटामिन बी6 - विटामिन बी6 को अपनी डाइट में शामिल करना इसलिए भी जरूरी है, क्योंकि ये हमारे दिमाग में डोपामाइन केमिकल को एक्टिवेट करता है, जो हमें खुश रहने में मदद करती है। अगर आप भी मेंटली खुश रहना चाहते हैं तो दलिया, केला, ब्राउन राइस, मूंगफली, अंडा, गाजर, सोयाबीन और मछली को अपनी डाइट में शामिल करें, क्योंकि इन फूड्स में विटामिन बी6 पाया जाता है।

चिंता से दूर रखेगा विटामिन डी - अगर आपको छोटी-छोटी बातों पर भी चिंता होती है, तो सबसे पहले अपनी डाइट सुधारें। विटामिन डी युक्त आहार मेंटल स्ट्रेस को कम करने में मदद करती है। संतरा, गाय का दूध, ओट्स, दही और मशरूम खाकर शरीर में विटामिन डी की जरूरतों को पूरा किया जा सकता है।

अच्छे बैक्टीरिया भी होते हैं मददगार - प्रोबायोटिक्स यानी गुड बैक्टीरिया से भरे फूड्स भी हमें चिंता और डिप्रेशन से दूर रहने में मदद करते हैं। दही, किमची, पनीर और चीज को अपनी रेगुलर डाइट में शामिल करते हुए हम अच्छे बैक्टीरिया से भरपूर डाइट ले सकते हैं।

डॉ. शर्मा बताती हैं कि हमारे खुश या उदास रहने का सीधा जुड़ाव डोपामाइन केमिकल से है। खुश रहने के लिए इसका बढ़े रहना बेहद जरूरी है, लेकिन इस बात पर भी ध्यान देना चाहिए कि दिमाग में डोपामाइन जब जरूरत से ज्यादा बढ़ जाता है, तब यही हमारे डिप्रेशन और चिंता की वजह बनता है। कुल-मिलाकर इसका बैलेंस्ड होना बेहद जरूरी है।

खबरें और भी हैं...