• Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • LED Light : After Lighting Up The Houses, Now The Face Is Also Shining, Know What Is This Face Mask And Its Merits

एलईडी लाइट:घरों को रौशन करने के बाद अब चेहरे भी चमका रहा, जानें क्या है ये फेस मास्क और इसकी खूबी

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

स्किन केयर इंडस्ट्री में एक बेहद नया और एडवांस ट्रीटमेंट आया है, जिसका नाम है एलईडी फेस मास्क। ये नासा की डेवेलप की गई टेक्नोलॉजी है, जिसका इस्तेमाल डर्मेटोलॉजिस्ट चेहरे को निखारने के लिए इस्तेमाल कर रहे हैं। ये कहना है डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. इप्शिता जोहरी।

क्या है एलईडी फेस मास्क?

ये एक ऐसी तकनीक है, जिसमें नैनो मीटर लाइट को अलग-अलग वेव लेंथ पर सेट करते हुए चेहरे पर इस्तेमाल किया जाता है। स्किन कि हर तरह की समस्या के लिए अलग कलर की लाइट है। लाइट्स के रंगों और इसके इस्तेमाल पर बात करते हुए डॉ. जोहरी ने बताया कि कुल 7 तरह की फेस लाइट्स अलग-अलग ट्रीटमेंट के लिए मौजूद है।

कौन से रंग का मास्क आता है किस काम?

रेड फेस मास्क 620-630 नैनो मीटर लाइट वेव लेंथ का होता है। चेहरे में ब्लड सर्कुलेशन बेहतर करने के लिए, कोलेजन बढ़ाने के लिए, ओपन पोर्स को ठीक करने के लिए, फाइन लाइन्स हटाने के लिए और स्किन स्मूदनिंग के लिए एलइडी लाइट में इस रंग का इस्तेमाल होता है।

ब्लू फेस मास्क 465-470 नैनो मीटर लाइट वेव लेंथ का होता है। ये मास्क चेहरे के पिम्पल्स को कम करता है, उनके निशान हटाने में मदद करता है। साथ ही चेहरे पर एंटी-बैक्टीरियल प्रॉपर्टी डेवेलप करता है, जिससे पिम्पल न उभरे।

ग्रीन फेस मास्क 515-525 नैनो मीटर लाइट वेव लेंथ का होता है। इसका इस्तेमाल स्किन पिगमेंटेशन को ठीक करने, चोट के निशान कम करने और पिम्पल्स स्पॉट ठीक करने के लिए किया जाता है।

यलो फेस मास्क 565-590 नैनो मीटर लाइट वेव लेंथ का होता है। ये चेहरे पर उभरे फ्रेकल्स को कम करने के लिए कारगार साबित होता है। लाइट का ये कलर स्किन लाइटनिंग और ग्लोइंग में मदद करता है। साथ ही इसका इस्तेमाल डार्क स्पॉट्स को खत्म करने के लिए भी किया जाता है।

पर्पल फेस मास्क 400-420 नैनो मीटर लाइट वेव लेंथ का होता है। ये रेड और ब्लू कलर के कॉम्बिनेशन से बना होता है, जिसका डबल इफेक्ट स्किन को रिलैक्स करने में मदद करता है।

क्लियर ब्लू लाइट एडवांस मास्क है, जो स्किन एनर्जी बनाए रखने में मदद करता है। इसके अलावा इसका इस्तेमाल स्किन के मेटाबोलिज्म एंजाइम को हेल्दी बनाए रखने के लिए भी किया जाता है।

वाइट लेजर लाइट क्लियर ब्लू मास्क की तरह ही ये मास्क भी एडवांस तकनीकों से भरा है। चूंकि इसकी कीमत दूसरे कलर्ड मास्क से ज्यादा होती है, इसलिए इसका इस्तेमाल भी कम ही क्लिनिक में किया जाता है। ये मास्क स्किन की एजिंग को रोकते हुए उसे स्मूद बनाए रखने में मदद करता है।

एक ही मास्क को कई लोग ऐसे करें इस्तेमाल

चूंकि ये मास्क महंगी आती है, ऐसे में घर के हर सदस्य के लिए अलग-अलग मास्क लेना बजट के बाहर की बात होती है। इस बारे में बात करते हुए डॉ. जोहरी बताती हैं कि अलग-अलग लोग एक ही मास्क का इस्तेमाल कर सकते हैं। बस इस बात का ध्यान दें कि मास्क के इस्तेमाल से पहले फेस वॉश करें। चेहरे को पोछकर अच्छी तरह सुखा लें। इसके बाद ही इसका इस्तेमाल करें।

कुछ रेडी टू यूज मास्क होते हिं, जिसे आप घर पर खुद ही इस्तेमाल कर सकते हैं। जबकि एडवांस मास्क एक्सपर्ट की निगरानी में ही इस्तेमाल करने की जरूरत होती है। इसे हफ्ते में एक से दो बार 15-20 मिनट के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं। क्लिनिक में हर सिटिंग की कॉस्ट 3000 तक आती है। अगर आप एडवांस ट्रीटमेंट की तरफ बढ़ रही हैं, तो हर सिटिंग पर इसकी कॉस्ट 8,000 से 10,000 रूपए तक जा सकती है। डॉ. की सलाह लिए बिना किसी भी तरह की ट्रीटमेंट या रेडी टू यूज मास्क इस्तेमाल करने से बचना जरूरी है।