पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • Mother Of Kerala's Corona Positive Couple's Mother Gets Love From Dr. Mary Anitha, Staying Away From Her Three Children And Taking Care Of Alvin For Six Months Alone For A Month

डॉक्टर से मिली मां जैसी ममता:केरल के कोरोना पॉजिटिव कपल के बच्चे को डॉ. मैरी अनिथा से मिला मां का प्यार, अपने तीन बच्चों से दूर रहकर एक माह तक अकेले की छह माह के एलविन की देखभाल

एक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

कोराना काल में अपनों के बीच बढ़ती दूरियों के किस्से तो रोज सुनने में आते हैं। लेकिन केरल की एक डॉक्टर ने कोरोना पॉजिटिल कपल के छह माह के बच्चे की देखभाल करके लोगों की तारीफ पाई है। केरल के रहने वाले एक कपल को जब पता चला कि वे कोरोना पॉजिटिव हैं तो उन्हें अपने छह माह के बच्चे की फिक्र हुई।

उन्हें ये चिंता सताने लगी कि कहीं बच्चे को भी यह इंफेक्शन न हो जाए। ऐसे मुश्किल हालातों में डॉ. मैरी अनिथा ने बच्चे को संभालने की जिम्मेदारी ली। मैरी ने छह माह के एलविन को मां का प्यार देकर एक माह तक अपने साथ रखा।

बच्चे को इन्हें सौंप दिया

कल 15 जुलाई को जब इस कपल ने घर पर अपने क्वारेंटाइन होने की एक माह की अवधि पूरी कर ली तो मैरी ने बच्चे को इन्हें सौंप दिया। बच्चे से दूर होते हुए मैरी को रोना आ गया।

एलविन के माता-पिता अब पूरी तरह स्वस्थ्य हैं। दरअसल एलविन के पेरेंट्स एर्नाकुलम जिले के हैं। वे गुरूग्राम में नर्स हैं।

इस बच्चे की जिम्मेदारी उठा सके

पिछले महीने एलविन के पिता कोरोना पॉजिटिव पाए गए थे। तब इस बच्चे की मां ने उसका पूरा ध्यान रखा। लेकिन जब मां को भी कोरोना पॉजिटिव होने का पता चला तो माता-पिता को एलविन की देखभाल की चिंता हुई। डिस्ट्रिक्ट चाइल्ड वेलफेयर कमेटी ऐसे लोगों की तलाश में थी तो इस बच्चे की जिम्मेदारी उठा सकें। 

खुद तीन बच्चों की मां हैं

इंफेक्शन होने के डर से कोई भी इस काम के लिए राजी नहीं हो रहा था। तभी कमेटी ने डॉ. मैरी से बात की और वे इस काम के लिए तैयार हो गईं। वे दिव्यांग बच्चों के लिए एक संस्था चलाती हैं। वे एक मनोवैज्ञानिक हैं। मैरी खुद तीन बच्चों की मां हैं।

कोरोना पॉजिटिव होने की आशंका थी

एलविन के माता-पिता के कोरोना पॉजिटिव होने की वजह से एलविन के खुद भी कोरोना पॉजिटिव होने की आशंका थी। इसलिए मैरी अपने अपार्टमेंट के एक खाली फ्लैट में एलविन को लेकर एक महीने तक अकेले ही रहीं। मैरी के बच्चे उसके लिए फ्लैट के दरवाजे तक आते और खाना रखकर चले जाते थे।

वीडियो कॉल से लगातार संपर्क किया

डॉ. मैरी ने एलविन के माता-पिता से गुरूग्राम और कोच्चि से वीडियो कॉल के जरिये लगातार संपर्क भी किया। एलविन की मां कहती हैं कोरोना पॉजिटिव मरीज के बच्चे की देखभाल के लिए इस समय कोई अपना भी मदद के लिए तैयार नहीं होता।

ऐसे में डॉ. मैरी ने जो मेरे बच्चे के लिए किया, वो मैं हमेशा याद रखूंगी। मेरे लिए वे ईश्वर के समान हैं। साथ ही उनके परिवार को भी धन्यवाद देना चाहती हूं जिन्होंने उनके निर्णय का समर्थन किया।