पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • Mumbai Police Officer Rehana Shaikh Provided Oxygen, Plasma, Blood And Beds To The People In The Epidemic, People Lovingly Named Mother Teresa

मिसाल बना इनका जज्बा:मुंबई की पुलिस ऑफिसर रेहाना शेख ने महामारी में लोगों को ऑक्सीजन, प्लाजमा, ब्लड और बेड्स उपलब्ध कराए, लोगों ने प्यार से नाम दिया मदर टेरेसा

9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

मुंबई की पुलिस ऑफिसर रेहाना शेख ने अपनी जान की परवाह किए बिना कोरोना पेशेंट को ऑक्सीजन, प्लाजमा, ब्लड और बेड उपलब्ध कराए। पुलिस ऑफिसर होने के साथ ही रेहाना सोशल वर्कर और एक एथलीट भी हैं। 40 वर्षीय रेहाना ने 50 गरीब बच्चों की शिक्षा का भार उठाया। उनके कार्यों को देखते हुए मुंबई पुलिस कमिश्नर हेमंत नगराले से उन्हें सम्मानित किया। अपनी नौकरी के अलावा सोशल वर्क करने के लिए कमिश्नर ने उन्हें ऑफिस में बुलाकर सर्टिफिकेट दिया। इस ईमानदार पुलिस ऑफिसर ने रायगढ़ के बच्चों की दसवीं कक्षा तक पढ़ाई का खर्च उठाना का वादा भी किया। रेहाना के सामाजिक कार्यों को देखते हुए उनके दोस्त और पति उन्हें मदर टेरेसा कहकर बुलाते हैं।

रेहाना ने सोशल वर्क की शुरुआत के बारे में बताते हुए कहा कि पिछले साल उन्हें रायगढ़ के स्कूल के बारे में पता चला था। वहां उन्होंने देखा कि अधिकांश बच्चे गरीब परिवार से हैं जिनके पास पहनने को चप्पल तक नहीं है। इनकी दयनीय स्थिति देखकर उन्होंने अपने बेटी के बर्थडे और ईद की शॉपिंग के लिए जो बचत के पैसे रखे थे, वो भी इन गरीब बच्चों पर खर्च कर दिए। रेहाना ने बताया कि पिछले साल उन्होंने एक कॉन्स्टेबल की मां के लिए इंजेक्शन का इंतजाम किया था। इस काम के पूरा होने पर उन्हें हौसला मिला और वे अन्य लोगों की मदद करने में जुट गईं।

खबरें और भी हैं...