नजरिया देखने का:क्या ‘टैटू वाली मैडम’ को देख आपके दिमाग में भी कुलबुलाता है यही कीड़ा

2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • टैटू वाली लड़की को बोल्ड, अल्ट्रा मॉर्डन, नेगेटिव यहां तक की सेक्सुअली अवेलेबल भी मान लिया जाता है।
  • ये सोच सिर्फ भारत ही नहीं बल्कि अमेरिका, यूके और कई देशों में देखी गई है, जिसका खुलासा कई रिपोर्ट में हो चुका है।

आज के दौर में यूथ के लिए फैशन फॉलो करना केवल कपड़ों तक ही सीमित नहीं रह गया है, बल्कि शरीर पर बने तरह-तरह के टैटू भी उनके लिए फैशन स्टेटस का सिंबल बन गए हैं। यही वजह है कि किसी के हाथ, पैर या गर्दन पर टैटू बना देख हर कोई तुरंत राय बनाने लगता है। इसमें भी महिलाओं को जज करने वालों की तादाद सबसे ज्यादा है।

टैटू बनवाने वाले व्यक्ति को मॉडर्न और खुले ख्यालातों का भी माना जाता है। ऑफिस में अगर कोई महिला टैटू बनवाकर आती है तो लोग उसे न केवल हैरत भरी निगाहों से देखने लगते हैं, बल्कि उसके पीठ पीछे तरह-तरह के नाम देकर मजाक उड़ाने के बाज नहीं आते। कोई उन्हें ‘टैटू वाली मैडम’ बुलाने लगता है तो कोई उन्हें अल्ट्रा बोल्ड, नेगेटिव यहां तक की सेक्सुअली अवेलेबल भी समझ लिया जाता है।

भारत ही नहीं बल्कि वेस्टर्न सोसाइटी में भी टैटू किसी टैबू से कम नहीं
टैटू वाली लड़की को जज करने की मानसिकता सिर्फ भारत में ही नहीं बल्कि पश्चिमी देशों में भी देखी गई है। एल्सेवियर पब्लिशिंग कंपनी की रिसर्च के अनुसार टैटू बनवाने वाली महिलाओं को पुरुष अलग ढंग से देखते हैं। 76 पुरुषों के बीच हुए सर्वे में पाया गया कि टैटू बनवाने वाली महिलाओं को ज्यादातर लड़के खूबसूरत नहीं मानते लेकिन उन्हें सेक्सुअली अवेलेबल जरूर समझते हैं। उन्हें बोल्ड समझा जाता है। बात यूरोप की करें तो यूनिवर्सिटी ऑफ पोर्ट्समाउथ ने 2018 में 1000 यूके में रह रहे लोगों के बीच हुए सर्वे में पाया गया कि 18 साल से अधिक उम्र के 20% युवाओं ने अपने शरीर के किसी न किसी हिस्से पर छोटा या बड़ा टैटू जरूर बनवाया है। इसमें 15% महिलाओं ने माना कि उन्हें उनके टैटू के लिए जज किया जाता है। लोग अक्सर उन्हें अल्ट्रा मॉर्डन मानते हैं और नेगेटिव इमेज भी बना लेते हैं, जबकि केवल 9% पुरुषों का कहना है कि उन्हें टैटू के लिए जज किया जाता है।

टैटू बनवाने से लेकर हटवाने तक सबसे आगे हैं महिलाएं
पॉप स्टार लेडी गागा, सेलेना गोमेज और रिहाना जैसे स्टार्स खुलकर अपने टैटू सैलिब्रेट करती हैं, यह भी सच है कि टैटू आर्ट अपने गोल्डन ऐरा में चल रहा है। इसका एक असर तो यह है कि पुरुषों की तुलना में महिलाएं ज्यादा टैटू बनवाती हैं, वहीं दूसरा पहलू यह भी है कि एक आम लड़की के लिए टैटू बनवाने से भी ज्यादा मुश्किल है लोगों की जज करने वाली निगाहों का सामना करना, जो एक झटके में आपको करेक्टर सर्टिफिकेट थमा जाती हैं, यही कारण हैं कि कई महिलाएं इसके चलते टैटू हटवाती हैं।
लाइटस्पीड रिसर्च ने 2012 में 1000 अमेरिकन की बीच सर्वे कर पाया कि 40% पुरुषों के मुकाबले 60 % महिलाओं ने टैटू बनवाए हैं। वहीं जब बात टैटू छुपाने की आती है तो 70% महिलाओं का कहना है कि लोग उन्हें टैटू छुपाने के लिए मजबूर करते हैं, नौकरी से लेकर घर तक उन्हें काफी परेशानी झेलनी पड़ती है, वहीं पुरुष इसे अपनी मर्दानगी का सबूत मानते हुए शान से दिखाते हैं। टैटू हटवाने की बात की जाए तो इसमें भी सबसे ज्यादा लड़कियां ही आगे हैं। यूके में 20% लड़कों के मुकाबले 30% लड़कियों ने दबाव में आकर पर्मानेंट टैटू हटवाएं हैं। इससे यह तो साफ होता है कि टैटू आर्ट तो वही है लेकिन यह जैसे ही एक लड़की के शरीर पर बनाई जाती है, लोगों को इसे देखने का नजरिया बदल जाता है।

विमेन पावर दिखाते हैं यह ट्रेंडिंग फैमिनिस्ट टैटू
फैशन के बदलते ट्रेंड को साथ खुद को अप-टू-डेट रखना किसको पसंद नहीं और जब बात टैटू बनवाने की हो तो ट्रेंडिंग टैटू सबसे पहले सर्च किए जाते हैं। अगर आप भी टैटू बनवाने से पहले अपनी चेकलिस्ट तैयार कर रही हैं तो हम आपको बता दें कि लड़कियां आजकल किस तरह के टैटू सबसे ज्यादा ट्रेंड में है।
वीनस टैटू - गर्ल पावर दिखाने के बात हो तो महिलाएं सबसे पहले वीनस टैटू को ही चुनती हैं। वीनस सिंबल को महिला का प्रतीक माना गया है, वह इसे अपनी लिस्ट में सबसे ऊपर इसलिए भी रखती हैं ताकि गर्व से खुद को फैमिनिस्ट कहलवा सकें।

गर्ल पावर कोट्स - दुनिया में लड़कियों को मजबूती से पेश करने के लिए लड़कियां गर्ल पावर के कोट्स वाले टैटू जैसे गर्ल गैंग, क्वीन ऑफ स्पेड्स, पावर, फैमिनिस्ट यूनिकार्न जैसे टैटू बनवाना पसंद कर रही हैं।

इक्वैलिटी - लड़के और लड़कियों के बीच बराबरी को दिखाने के लिए सबसे ज्यादा महिलाएं इक्वैलिटी के सिंबल का टैटू बनवा रहे हैं।

माई बॉडी माई च्वाइस - अपने शरीर को हम जैसे भी दिखाना चाहे यह अधिकार सिर्फ हमारा है, यह दिखाने के लिए ‘माई बॉडी माई च्वाइस’, ‘आई एम इनफ’ और ‘फ्री विल’ के कोट्स वाले टैटू बाकर स्ट्रॉंग मैसेज दे रही हैं।

कोरियन इंस्पायर्ड टैटू - एनेमे सीरीज को यूथ सबसे ज्यादा पसंद करते हैं, लड़कियां कोरियन इंस्पायर्ड मेकअप कर इंस्टाग्राम रील्स से लेकर पार्टी वियर में भी यही ट्रेंड फॉलो कर रही हैं। और अब इसकी झलक टैटू वर्ल्ड में भी दिखने लगी है, लड़के हो या लड़कियां सभी के दिलों पर कोरियन इंस्पायर्ड टैटू राज कर रहे हैं।

फैशन स्टाइलिस्ट वर्षा जाधव
फैशन स्टाइलिस्ट वर्षा जाधव

हाइजिनिक टैटू पार्लर चुनना है जरूरी
फैशन स्टाइलिस्ट वर्षा जाधव बताती हैं कि टैटू बनावने के पहले वुमन को कुछ बातों का खास ख्याल रखने की जरूरत है। क्योंकि टैटू डिजाइन चुनने के साथ ही यह देखना भी जरूरी है कि हमारा स्किन टाइप कैसा है, कहीं आपकी स्किन ज्यादा सेंसिटिव तो नहीं है। क्योंकि कई बार टैटू बनवाने के बाद लोग इन्फेक्शन का शिकार हो जाते हैं। टैटू इंक तैयार करने में हैवी मेटल जैसे टाईटेनियम, बेरियम, एल्यूमीनियम का इस्तेमाल होता है। अलग - अलग रंग देने के लिए आर्सेनिक, लीड, क्रोमियम इस्तेमाल किए जाते हैं। इससे एलर्जिक रिएक्शन होने के चांसेस भी होते हैं और अगर टैटू पार्लर में हाइजीन पर ध्यान न दिया गया हो तो हेपेटाइटिस बी और सी, एनटीएम ( नॉन- ट्यूबरक्लौसिस माइकोबैक्टेरियल) इन्फेक्शन व खून से संबंधित अन्य बीमारियां भी लग सकती हैं। इसलिए टैटू बनवाने से पहले इस बात का जरूर ध्यान रखें कि टैटू पार्लर में इस्तेमाल होने वाली सुई और बाकी मशीन सैनिटाइज हुई है या नहीं।

टैटू बनवाने के लिए महिलाओं का यह है फेवरेट स्पॉट
टैटू बनवाने की सभी की अलग कहानी होती है। कोई पेरेंट्स या पार्टनर के नाम का टैटू बनवाता है तो किसी के दिल को आर्ट और प्रकृति की सुंदरता छू जाती है। टैटू का जैसा नेचर हो उसे बॉडी के उसी हिस्से पर बनवाना सही है। यूनिवर्सिटी ऑफ पोर्ट्समाउथ ने एक सर्वे में पाया कि 1000 में से 15% महिलाएं लोअर बैक उनका फेवरेट स्पॉट है। पेट पर 11% महिलाएं टैटू बनवाना पसंद करती हैं। कलाई पर 10% और शोल्डर पर 7% लड़कियां टैटू बनवाना पसंद करती हैं। इनके अलावा अपर बैक, एंकल, चेस्ट, बट, गर्दन, उंगलियां, बाइसेप्स और कान के पीछे का हिस्से भी अच्छा टैटू स्पॉट है। इसमें भी 24.33 % नेम टैटू बनवाती हैं, 15 % स्टार्स, 12 % नेचर थीम, 11.37 % एनिमल थीम, 12.64 % एशियन करेक्टर, 6.95 % ट्राइबल थीम पर टैटू बनवाती हैं।

आखिर क्यों फीमेल टैटू आर्टिस्ट से टैटू बनवाना चाहती हैं महिलाएं
जिपिया डेटा साइंसेस ने अमेरिका में 2020 में सर्वे कर पाया कि यूएस में फिलहाल 7,340 टैटू आर्टिस्ट काम करते हैं जिसमें से मात्र 25 % फीमेल टैटू आर्टिस्ट हैं। यह हाल उस देश का है जहां दुनिया की सबसे पहली फीमेल टैटू आर्टिंस्ट मौड स्टीवंस वैगनर ने टैटू की दुनिया में महिलाओं के लिए रास्ता खोला था। भारत में देखें तो यहां काफी मशक्कत के बाद एक आद कोई फीमेल टैटू आर्टिस्ट मिलेगी, क्योंकि ज्यादातर टैटू पार्लर में महिलाओं का काम सिर्फ क्लीनिंग और ऑफिस वर्क तक ही सीमित है। टैटू वर्ल्ड में फीमेल टैटू आर्टिस्ट को बूस्ट करने की भी काफी जरूरत है, और इस काम में महिलाएं ही उनका साथ दे रही हैं। फैमिनिज्म को आगे बढ़ाने के लिए कई लड़कियां अब फीमेल टैटू आर्टिस्ट से ही टैटू बनवाने की डिमांड करने लगी हैं ताकि फीमेल टैलेंट निखरकर बाहर आए।

ये हैं दुनिया के फेमस टैटू आर्टिंस्ट, जिनकी आर्ट से सब है दीवानें

डॉन एड हार्डी - दुनिया में सबसे महंगे टैटू आर्टिस्ट होने के साथ-साथ अमेरिकन टैटू आर्टिस्ट डॉन एड हार्डी अमीर आर्टिस्ट की लिस्ट में भी शामिल हैं। उनकी एक अपॉइंटमेंट के लिए लोग महीनों इंतजार करते हैं और एक घंटे के $1500 देते हैं।

स्कॉट कैम्पबेल - सिलेब्रिटी टैटू आर्टिस्ट स्कॉट कैम्पबेल दुनिया के फेसम टैटू आर्टिस्ट में गिने जाते हैं। अपने एक टैटू के लिए $ 1000 चार्ज करते हैं।

एमि जेम्स - टैटू की दुनिया में फेमस ब्रैड बनकर उभरे एमि जेम्स कई टैटू पार्लर चलाते हैं और एक टैटू आर्ट का $ 500 एक घंटे चार्ज करते हैं।

अनिल गुप्ता - भारत के टैटू आर्टिस्ट अनिल गुप्ता दुनिया के सबसे फेमस टैटू आर्टिस्ट में गिने जाते हैं। हैरानी की बात ये है कि उनके शरीर पर टैटू का नामो निशान नहीं है लेकिन उनकी ट्राइबल आर्ट और पोट्रेट का हर कोई दीवाना है। न्यू यॉर्क में बने टैटू स्टूडियो में हर एक टैटू के लिए $450 चार्ज करते हैं।

बैंग बैंग - अगर आप पॉप स्टार कैटी पैरी, रिहाना और जस्टिन बीबीर के दिवाने है तो ये जरूर जानना चाहेंगे कि इन सभी स्टार्स के टैटू आर्टिस्ट बैंग बैंग दुनिया के फेसम टैटू आर्टिस्ट में शामिल है। अपने हर टैटू के लिए $400 चार्ज करते हैं।

खबरें और भी हैं...