पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App
  • Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • Taking A Loan Is A Bad Thing, It Is Necessary To Remove This Perception From The Minds Of Children, Also Tell When It Is Good And How Bad To Take It

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

अपने बच्चों को सही सीख दें:लोन लेना बुरी बात है, बच्चों के मन से यह धारणा दूर करना जरूरी है, इसे कब लेना अच्छा और कैसे बुरा है, यह भी बताएं

जमना सुखदेव, बैंकरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कर्ज लेना बुरी बात है। बच्चों की धारणा आम तौर पर यही होती है। लेकिन, यह सही नहीं है। मसलन, यदि कोई पढ़ाई या मकान के लिए लोन लेता है तो यह अच्छी बात है, लेकिन रोज के आम खर्चे पूरे करने के लिए लोन लेना गलत बात है। दरअसल पढ़ाई और मकान जैसी बड़ी जरूरतें पूरी करने के लिए अकसर हमारी बचत कम पड़ती है। यह कमी पाटने के लिए लोन लेना गलत नहीं है। इसे ऐसे समझें कि कोई काम समय पर पूरा करने में यदि पैसे की कमी बाधा बन रही हो तो उसे न करने या टालने से बेहतर है कि लोन ले लिया जाए।

शोम बंसल आज मिठाई बांट रहे हैं, लेकिन यदि वह समय पर 20 लाख रुपए का लोन लेकर बेटे सिद्धार्थ को पढ़ने के लिए विदेश न भेजते तो हो सकता है कि उतने खुश नहीं होते, जितने अभी हैं। सिद्धार्थ की पढ़ाई पूरी हो गई है और अब वह नौकरी कर रहा है। उसने लोन चुकाना शुरू कर दिया है और कहता है कि छोटी बहन को डॉक्टर बनाने का खर्च भी वही उठाएगा। बंसल कहते हैं कि यदि उन्होंने लोन न लिया होता तो यह सब संभव नहीं होता।

इन मामलों में लोन अच्छे हैं

पढ़ाई के लिए

प्रोफेशनली सफल होने के लिए एक खास उम्र में ही पढ़ाई पूरी करनी होती है। पैसे की कमी के चलते कोई खास यूनिवर्सिटी, स्कूल या इंस्टीट्यूशन में पढ़ने की योजना टाली नहीं जा सकती। ऐसे में यदि एजुकेशन लोन लेते हैं तो इसमें कोई गलत बात नहीं है। ऐसे लोन की किश्तें पढ़ाई पूरी होने के एक साल बाद या नौकरी लगने के 6 माह बाद शुरू होती है। उससे पहले केवल ब्याज चुकाना होता है।

मकान के लिए

अपने घर का सपना पूरा करने के लिए होम लोन लेने में कुछ गलत नहीं है। वैसे भी हम हर महीने मकान का किराया तो चुकाते ही हैं। सच में मकान ऐसी जरूरत है, जिसे हर हाल में पूरा करना होता है। चाहे हम किराए के मकान में रहें या अपने मकान में, रहने के लिए घर तो चाहिए ही। यह लोन की किश्तों के रूप में धीरे-धीरे पैसे जोड़कर एक बड़ी प्रॉपर्टी खड़ी करने जैसा मामला है।

बिजनेस के लिए

कई बार हमारे पास बिजनेस का जोरदार आइडिया होता है, लेकिन पूंजी नहीं होने के कारण हम उस पर काम नहीं कर पाते। ऐसी जरूरत लोन से पूरी की जा सकती है। दरअसल यह एक तरह का निवेश है, जो आगे चलकर मुनाफा दिलाएगा और लोन चुकाना आसान हो जाएगा। यह पूंजी से पूंजी बढ़ाने जैसे मामला है। जैसे खेत से फसल लेने के लिए उसमें बीज और खाद डालनी पड़ती है।

ऐसे मामलों में लोन बुरे हैं

1. गैर-जरूरी वस्तुओं, शॉपिंग या मौज-मस्ती के खर्च के लिए लोन लेना बुरी बात है। बच्चों की धारणा आम तौर पर यही होती है। लेकिन, यह सही नहीं है। मसलन, यदि कोई पढ़ाई या मकान के लिए लोन लेता है तो यह अच्छी बात है, लेकिन रोज के आम खर्चे पूरे करने के लिए लोन लेना गलत बात है।

2. लोन लेने में हैसियत का ध्यान न रखना। ऐसे में किश्तें भारी पड़ती हैं।

3. एक के बाद एक ढेर सारे लोन लेकर अपने ऊपर कर्ज का बोझ बढ़ा लेना।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज दिन भर व्यस्तता बनी रहेगी। पिछले कुछ समय से आप जिस कार्य को लेकर प्रयासरत थे, उससे संबंधित लाभ प्राप्त होगा। फाइनेंस से संबंधित लिए गए महत्वपूर्ण निर्णय के सकारात्मक परिणाम सामने आएंगे। न...

और पढ़ें