• Hindi News
  • Women
  • Lifestyle
  • These 5 things related to mother should be adopted by children, this will help in improving mutual relationship.

रिश्ते-नाते / मां से जुड़ी ये 5 बातें बच्चों को अपनाना चाहिए, इससे आपसी रिश्ता संवारने में मिलेगी मदद

These 5 things related to mother should be adopted by children, this will help in improving mutual relationship.
X
These 5 things related to mother should be adopted by children, this will help in improving mutual relationship.

दैनिक भास्कर

May 31, 2020, 02:05 PM IST

मां अपना सब कुछ अलग रखकर बच्चे की परवरिश में खुद को खो देती है। ऐसे में हमारा भी कर्तव्य होना चाहिए कि कैसे अपनी मां को ये अहसास कराएं कि वो हमारे लिए क्या हैं? इन 5 बातों का यदि हम अनुसरण करेंगे तो अपनी मां को दिल की गहराई से रूबरू करा सकते हैं।

1. यादें ताजा करें

सबसे ज्यादा खुश मां तब होती है जब वो ये याद करती है कि उसके बच्चे ने बचपन में क्या शरारतें की थीं और वो कैसे खेला करते थे। कभी मां से पूछें कि वो अपने बचपन के दिनों में क्या किया करती थीं। मां से बातों के दौरान आप गौर करें कि उनकी आंखें उसी दौर में पहुंच चुकी होंगी, जब आप छोटे थे। वो आपको सिर्फ अच्छी आदतें ही बताएंगी और बस खुश होती चली जाएंगी।

2. उनकी मदद करें

लॉकडाउन के दौरान हमें जो समय मिला है, इन सबके बीच सबसे ज्यादा भला हुआ है उस मां का जो हमेशा चाहती थी कि मेरे बच्चे कुछ समय बिना दुनिया जहान की परवाह किए मेरे पास बैठें। वैसे भी हर घर में पत्नी और बच्चों के लिए पुरुष कितना भी बिजी हो समय निकाल ही लेता है, पर मां के लिए ये संभव नहीं होता है। ऐसा करने से मां को आपके जीवन में उनकी अहमियत पता चलेगी।

3. उनकी परवाह करें

जैसा मां हमें प्यार करती हैं, वैसी ही देखभाल करना तो मुश्किल है पर जितना हम कर सकते हैं, उतने प्रयास जरूर करना चाहिए। यह सच है कि मां का दिल बच्चे की परवाह में जैसा जन्म के पहले दिन होता है, वैसा ही आखिरी तक बना रहता है। बच्चे भी उन पर ध्यान केंद्रित करेंगे तो ये बराबर की खुशी महसूस कराएगा। उनकी छोटी-छोटी सी चीजों की परवाह करें और उन पर ध्यान रखें।

4. संस्कारों को अपनाएं

जैसे मां हमारी प्रथम गुरु होती हैं तो उनकी दी हुई शिक्षा भी महत्वपूर्ण होती है। इसे अपने जीवन में उतारें। मां की दी हुई सीख ही हमारा आधार बनती है। यही व्यक्तित्व की पहचान भी होती है। जब भी उनकी दी हुई सीख की झलक मां हम में देखती हैं तो वो अपने आप को गौरवान्वित महसूस करती हैं। ये करके हम उनकी ममता को वो दर्जा देते हैं जिसकी वो हकदार हैं। यकीन मानिए उनके दिए संस्कार हमें जीवन में सदा काम आते हैं।

5. नई चीजें सिखाएं

इंटरनेट जैसी दैनिक जीवन में काम आने वाले अपडेशन से अवगत कराएं। जैसे हमारी मां ने वक्त के हिसाब से हर उम्र में कुछ नया सिखाया है तो क्यों ना हम भी उन्हें आज के जमाने के हिसाब से नई चीजें सिखाएं। ताकि वो भी दुनिया से कदम से कदम मिलाकर चल सकें और अपने आप को पिछड़ा हुआ महसूस न करें। उनका यह ज्ञान उन्हें आज के समय में अपडेट रहने में मदद करेगा।

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना