• Hindi News
  • Women
  • After Saving, He Left For Work Without Meeting Anyone, Now Got A Medal

बच्ची को बचाने 8वीं मंजिल पर चढ़ा जांबाज:बचाने के बाद बिना किसी से मिले काम पर निकल गया, अब मिला मेडल

नूर-सुल्तान12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

तीन साल की बच्ची को बचाने के लिए एक शख्स ने ऐसी दिलेरी दिखाई कि लोग अब उसे हीरो कह रहे हैं। कजाकिस्तान के रहने वाले 37 साल ने इस शख्स ने काम पर जाते हुए एक बच्ची को 8वीं मंजिल से लटके हुए देखा। वहां और लोग भी जमा थे, लेकिन कोई भी बच्ची को बचाने ऊपर नहीं जा रहा रहा था। ऐसा में उस शख्स ने बिना किसी सहारे के खिड़की से लटक कर 80 फीट ऊपर से बच्ची को सुरक्षित उतार लिया।

दोस्त के साथ काम पर जा रहे था, खिड़की से लटकती दिखी मासूम

सबित शोंतकबाएव हर दिन की तरह अपने दोस्त के साथ काम पर जा रहे थे। तभी उन्होंने भीड़ देखी। भीड़ एक बिल्डिंग के नीचे खड़ी थी। उस बिल्डिंग की 8वीं मंजिल की खिड़की पर एक छोटी बच्ची फंसी हुई थी। ऐसे में सबित ने उसे बचाने का फैसला किया और बिना किसी सुरक्षा उपकरण के उन्होंने खिड़की से लटक कर बच्ची को सुरक्षित नीचे उतार लिया।

मां गई थी शॉपिंग करने, घर में अकेले थी बच्ची

तीन साल की बच्ची की मां उसे घर में अकेला छोड़ कर शॉपिंग करने गई थी। बच्ची खेलते हुए खिड़की से लटक गई थी। इसके लिए उसने तकिए और अपने खिलौनों की सीढ़ी बनाई थी। खेलते-खेलते बच्ची खिड़की पर ही फंस गई थी। यह खिड़की जमीन से 80 फीट ऊंची थी।

देर हो रही थी तो रेस्क्यू के बाद सीधे काम पर चले गए सबित

सबित ने काम पर जाते हुए बच्ची को फंसा हुआ देखा था। उसे बचाने में सबित को काम के लिए देर हो गई, इसलिए रेस्क्यू के बाद वो बिना किसी से मिले सीधा अपने दोस्त के साथ काम पर चले गए। उन्होंने बच्ची की मां के शॉपिंग से लौटने का भी इंतजार नहीं किया। अब सबित को कजाकिस्तान सरकार की ओर से मेडल दिया गया है। लोग उन्हें हीरो के रूप में देख रहे हैं।

डेली मेल की एक रिपोर्ट के मुताबिक सबित का कहना था कि उन्हें नहीं लगता है कि उन्होंने कोई हीरो वाला काम किया है। सभी को ऐसी स्थिति में यही करना चाहिए।