• Hindi News
  • Women
  • Amidst The Noise Of Roaring Russian Cannons, The Screams Echoed In The Basements Of The Hospitals.

यूक्रेन में बंकरों में गूंज रहीं किलकारियां:रूस की बमबारी के बीच अंडरग्राउंड शेल्टर बने अस्पताल, 7 दिन में 100 बच्चों ने जन्म लिया

कीवएक वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

जंग तो चंद रोज होती है, लेकिन जिंदगी बरसों तलक रोती है। यूक्रेन और रूस के बीच जंग की तस्वीरें वो हकीकत बयां कर रही हैं जो कभी भुलाई या बदली नहीं जा सकतीं। रूसी सेना की तोपें लगातार बम बरसा रही हैं। हर तरफ तबाही का मंजर है। इस बीच खौफ के साये में यूक्रेन के अस्पतालों की बेसमेंट में किलकारियां गूंज रही हैं।

दरअसल, यूक्रेन के मारियुपोल शहर में मैटरनिटी हॉस्पिटल की बेसमेंट को बॉम्ब शेल्टर और अस्थायी मैटरनिटी वार्ड में तब्दील कर दिया गया है। ऐसा ही एक नजारा खार्किव में भी देखने को मिला, जहां एक प्रसूति वार्ड को बॉम्ब शेल्टर बनाया गया। यूक्रेन के विदेश मंत्रालय के मुताबिक यूक्रेन में जंग शुरू होने के बाद से अब तक 100 से ज्यादा बच्चे जन्म ले चुके हैं। यहां 10 तस्वीरों में देखिए कि कैसे धमाकों के बीच बच्चे बेसमेंट में जन्म ले रहे हैं।

यूक्रेन में अस्पताल ऐसे वक्त पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं, जब मेडिकल उपकरणों की कमी पड़ गई है। किसी को मालूम नहीं है कि रूसी सेना की अगली मिसाइल कहां आकर गिरे। 2 मार्च, 2022 को कीव में अपने नवजात बच्चे को लेकर मैटरनिटी वार्ड पहुंचा कपल।
यूक्रेन में अस्पताल ऐसे वक्त पर अपनी सेवाएं दे रहे हैं, जब मेडिकल उपकरणों की कमी पड़ गई है। किसी को मालूम नहीं है कि रूसी सेना की अगली मिसाइल कहां आकर गिरे। 2 मार्च, 2022 को कीव में अपने नवजात बच्चे को लेकर मैटरनिटी वार्ड पहुंचा कपल।
प्रियंका चोपड़ा ने हाल ही में सोशल मीडिया पर नवजात बच्चों का वीडियो शेयर किया था। चिंतित यूक्रेनी बच्चों को इस बात से अनजान देखा जा सकता है कि क्या हो रहा है। तस्वीर में बेसमेंट में बने मैटरनिटी सेंटर में बच्चे बैठकर फोन पर वक्त गुजार रहे हैं।
प्रियंका चोपड़ा ने हाल ही में सोशल मीडिया पर नवजात बच्चों का वीडियो शेयर किया था। चिंतित यूक्रेनी बच्चों को इस बात से अनजान देखा जा सकता है कि क्या हो रहा है। तस्वीर में बेसमेंट में बने मैटरनिटी सेंटर में बच्चे बैठकर फोन पर वक्त गुजार रहे हैं।
रूस-यूक्रेन जंग के बीच अस्पतालों के बेसमेंट में बने बॉम्ब शेल्टर में नन्हे यूक्रेनी जन्म ले रहे हैं। कीव में हवाई हमलों से बचने के लिए प्रेग्नेंट महिलाओं ने बेसमेंट में बने मैटरनिटी सेंटर में शरण ली है।
रूस-यूक्रेन जंग के बीच अस्पतालों के बेसमेंट में बने बॉम्ब शेल्टर में नन्हे यूक्रेनी जन्म ले रहे हैं। कीव में हवाई हमलों से बचने के लिए प्रेग्नेंट महिलाओं ने बेसमेंट में बने मैटरनिटी सेंटर में शरण ली है।
रूसी हमलों से बचने के लिए अस्पतालों के बेसमेंट को बॉम्ब शेल्टर और अस्थायी मैटरनिटी वार्ड में तब्दील किया गया है। तस्वीर में एक नवजात बच्चा अपनी मां के बगल में हवाई हमले के सायरन की आवाज सुनकर रोता नजर आ रहा है।
रूसी हमलों से बचने के लिए अस्पतालों के बेसमेंट को बॉम्ब शेल्टर और अस्थायी मैटरनिटी वार्ड में तब्दील किया गया है। तस्वीर में एक नवजात बच्चा अपनी मां के बगल में हवाई हमले के सायरन की आवाज सुनकर रोता नजर आ रहा है।
हाल ही में यूक्रेनी राष्ट्रपति की पत्नी ओलेना जेलेंस्की ने एक नवजात की तस्वीर शेयर की थी, जिसमें शिशु बंकर में ही पैदा हुआ था। फोटो में एक महिला नवजात को पकड़े हुए नजर आ रही है।
हाल ही में यूक्रेनी राष्ट्रपति की पत्नी ओलेना जेलेंस्की ने एक नवजात की तस्वीर शेयर की थी, जिसमें शिशु बंकर में ही पैदा हुआ था। फोटो में एक महिला नवजात को पकड़े हुए नजर आ रही है।
रूसी आक्रमण से बचने को लेकर लोग छिपने के लिए सुरक्षित जगहों की तलाश में हैं। कीव में हवाई हमलों के सायरन की आवाज सुनाई देने पर एक प्रेग्नेंट महिला ने मैटरनिटी सेंटर में पनाह ली।
रूसी आक्रमण से बचने को लेकर लोग छिपने के लिए सुरक्षित जगहों की तलाश में हैं। कीव में हवाई हमलों के सायरन की आवाज सुनाई देने पर एक प्रेग्नेंट महिला ने मैटरनिटी सेंटर में पनाह ली।
कीव में रूसी सेना के हमले से बचने के लिए महिलाओं और बच्चों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। तस्वीर में कीव के मैटरनिटी सेंटर में एक पति अपनी गर्भवती पत्नी की मदद करता नजर आ रहा है।
कीव में रूसी सेना के हमले से बचने के लिए महिलाओं और बच्चों को सुरक्षित स्थानों पर भेजा गया है। तस्वीर में कीव के मैटरनिटी सेंटर में एक पति अपनी गर्भवती पत्नी की मदद करता नजर आ रहा है।
बेसमेंट में बने अस्थायी मैटरनिटी वार्ड में मांओं ने नवजात बच्चों की सुरक्षा के लिए उन्हें खिड़कियों पर गद्दों के बीच पालने में लिटाया है। तस्वीर में- प्रेग्नेंट महिलाएं नए मेहमान के आने का इंतजार करती नजर आ रही हैं ।
बेसमेंट में बने अस्थायी मैटरनिटी वार्ड में मांओं ने नवजात बच्चों की सुरक्षा के लिए उन्हें खिड़कियों पर गद्दों के बीच पालने में लिटाया है। तस्वीर में- प्रेग्नेंट महिलाएं नए मेहमान के आने का इंतजार करती नजर आ रही हैं ।
चेर्नीहीव शहर के मैटरनिटी वार्ड में बीते गुरुवार से अब तक 46 बच्चे जन्म ले चुके हैं। तहखाने में बने प्रसव केंद्र में रूसी मिसाइलों की आवाज सुनकर लोग डरे-सहमे नजर आए।
चेर्नीहीव शहर के मैटरनिटी वार्ड में बीते गुरुवार से अब तक 46 बच्चे जन्म ले चुके हैं। तहखाने में बने प्रसव केंद्र में रूसी मिसाइलों की आवाज सुनकर लोग डरे-सहमे नजर आए।
तेरी उम्र लंबी हो...यूक्रेन के मारियूपोल में एक मैटरनिटी हॉस्पिटल के बेसमेंट में कैटरयेना सुहारोकोवा ने एक खूबसूरत से बच्चे को जन्म दिया है। जंग के माहौल में जन्मे अपने बच्चे को चूमती हुई सुहारोकोवा ने बम की बौछारों से बचने की खातिर इस अस्पताल में शरण ली है।
तेरी उम्र लंबी हो...यूक्रेन के मारियूपोल में एक मैटरनिटी हॉस्पिटल के बेसमेंट में कैटरयेना सुहारोकोवा ने एक खूबसूरत से बच्चे को जन्म दिया है। जंग के माहौल में जन्मे अपने बच्चे को चूमती हुई सुहारोकोवा ने बम की बौछारों से बचने की खातिर इस अस्पताल में शरण ली है।
खबरें और भी हैं...