• Hindi News
  • Women
  • Baloch Shari Was Troubled By The Arrogance Of Pakistan China, Blew Himself Up

कराची सुसाइड बॉम्बर ने M.Phil-जूलॉजी में की थी पढ़ाई:पाकिस्तान-चीन की दबंगई से परेशान थी बलूच शैरी, खुद को उड़ा लिया

कराची7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

पाकिस्तान के कराची में 26 अप्रैल यानी मंगलवार को एक महिला सुसाइड बॉम्बर ने खुद को उड़ा दिया। इस आत्मघाती हमले में चीनी नागरिकों सहित कई लोगों की मौत हो गई। हमला कराची यूनिवर्सिटी के भीतर तब हुआ जब एक वैन घटना स्थल से गुजर रही थी। मरने वालों में 3 चीनी और 1 पाकिस्तानी नागरिक है।

बीएलए की पहली महिला फिदायी ने हमले को दिया अंजाम

यूनिवर्सिटी में हुए इस हमले को बलूचिस्तान लिबरेशन आर्मी (BLA) की पहली महिला फिदायी शैरी बलूच ने अंजाम दिया। उग्रवादी समूह ने एक लिखित बयान में इस हमले की जिम्मेदारी ली है। मजीद ब्रिगेड की पहली महिला फिदायी शैरी बलूच का यह वीडियो भी सोशल मीडिया पर मौजूद है जिसमें शैरी बलूच कराची यूनिवर्सिटी के भीतर खुद को उड़ाते हुए नजर आ रही है।

कराची यूनिवर्सिटी से की M.Sc. और M.Phil

डॉक्टर पति और दो बच्चों की मां शैरी बलूच कराची यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाली छात्रा थी जिसने चीनी नागरिकों को निशाना बनाने के लिए खुद को उड़ा लिया। शैरी ने जूलॉजी से एमएससी और फिर एमफिल किया था। बता दें कि कराची यूनिवर्सिटी में हमला करने वाली शैरी बलूच पाकिस्तानी इतिहास में सुसाइड हमला करने वाली दूसरी महिला थी।

बीएलए की पहली महिला बॉम्बर थी शैरी बलूच

यह हमला पाकिस्तान में चीनी परियोजनाओं के खिलाफ बलूच विद्रोहियों के गुस्से को दिखाता है जो लंबे समय से चीन पाकिस्तान आर्थिक गलियारे का विरोध कर रहे हैं क्योंकि सीपीईसी का रूट बलूचिस्तान से होकर गुजरता है। बीएलए का कहना है कि चीन उनके संसाधनों की चोरी कर रहा है। इस वजह से वे चीनी नागरिकों और उनकी सुरक्षा करने वाले पाकिस्तानी सुरक्षा बलों को निशाना बना रहे हैं।

शैरी बलूच भी इसी विद्रोह का हिस्सा थी जिसने चीनी टीचरों को मौत के घाट उतार दिया। बीएलए के मुताबिक, शैरी समूह की पहली महिला बॉम्बर थी। लिखित बयान में बीएलए ने कहा, 'शैरी बलूच ने बलूच विद्रोह के इतिहास में नया अध्याय जोड़ा है।'

खबरें और भी हैं...