• Hindi News
  • Women
  • Boxing Champion Nikhat Said If I Win The Olympic Medal, I Will Go Straight To Mumbai And Meet Salman Khan

'लोगों का भाई होगा वो, मेरी तो जान है':बॉक्सिंग की चैम्पियन निखत बोलीं- ओलिंपिक मेडल जीती तो सीधे मुंबई जाऊंगी और सलमान खान से मिलूंगी

नई दिल्ली3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

भारतीय मुक्केबाज निखत जरीन ने वुमन्स वर्ल्ड बॉक्सिंग चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल जीतकर इतिहास रच दिया है। तेलंगाना की 25 साल की मुक्केबाज निखत जरीन वर्ल्ड चैम्पियनशिप में सोना जीतने वाली 5वीं भारतीय महिला बन गईं। सोशल मीडिया पर उन्हें बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है। इस बीच, बॉलीवुड अभिनेता सलमान के लिए की गई उनकी एक टिप्पणी जमकर वायरल हो रही है। दरअसल, उन्होंने सलमान को अपनी जान बताया है।

निखत जरीन ने एनडीटीवी से इंटरव्यू में अपनी इच्छा जाहिर करते हुए कहा था, 'सलमान खान मेरी जान हैं। मैं ओलिंपिक में पहला गोल्ड जीतने के बाद मुंबई जाकर सलमान खान से मिलूंगी।' उनकी यह टिप्पणी सोशल मीडिया पर ट्रेंड कर रही है।

दरअसल, जब एंकर ने निखत से पूछा- आपको प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का संदेश मिल चुका है। क्या आपको सलमान भाई की ओर से भी कोई मैसेज मिला? इसके जवाब में निखत कहती हैं, 'कौन भाई, अच्छा आपका भाई। लोगों का भाई होगा, वह मेरी तो जान हैं। मैं सलमान की बहुत बड़ी फैन हूं। मेरा सपना है कि सबसे पहले गोल्ड मेडल जीतूं, उसके बाद मैं मुंबई जाकर सलमान खान से मिलूं।'

गोल्ड जीतने पर 'भाईजान' ने दी निखत को मुबारकबाद
निखत जरीन के इस इंटरव्यू वीडियो ट्वीट करते हुए सलमान खान ने लिखा, 'गोल्ड के लिए मुबारक हो निखत जरीन।' साथ ही निखत को टैग भी किया। सलमान खान के मुबारकबाद देने के बाद निखत ने ट्वीट कर अपनी भावनाएं व्यक्त कीं।

निखत ने लिखा, 'दिल से सलमान की फैन होने के नाते यह मेरा सपना था, जो सच हो गया। मुझे विश्वास नहीं हो रहा कि खुद सलमान खान मेरे लिए ट्वीट करेंगे। मैं बेहद विनम्र हूं। मेरी जीत को और खास बनाने के लिए आपका बहुत-बहुत शुक्रिया। इस पल को हमेशा अपने दिल में सजा कर रखूंगी।'

बॉक्सिंग चैम्पियन को भाईजान का लव पंच
बॉलीवुड के भाईजान ने भी निखत के ट्वीट को रिट्वीट करते हुए लिखा, 'बस मुझे मत मारना। ढेर सारा प्यार.. जो कर रही हो, वो करती रहो। और मेरे हीरो 'सिल्वेस्टर स्टेलोन' की तरह मुक्के मारती रहो।'

निखत से पहले इन महिलाओं ने जीता खिताब
इस टूर्नामेंट में भारत के 12 सदस्यीय दल ने हिस्सा लिया था। पिछली बार की तुलना में इस बार मेडल की संख्या कम रही है। साल 2018 के बाद कोई भारतीय विश्व चैम्पियन बना है। निखत जरीन से पहले छह बार की चैम्पियन एमसी मैरीकॉम (साल 2002, 2005, 2006, 2008, 2010 और 2018), सरिता देवी, जेनी आरएल और लेखा केसी (साल 2006) में यह विश्व खिताब जीत चुकी हैं। जरीन के गोल्ड मेडल के अलावा मनीषा मोन (57 किग्रा) और पदार्पण कर रही परवीन हुड्डा (63 किग्रा) ने कांस्य पदक जीते।

खबरें और भी हैं...