• Hindi News
  • Women
  • Boys Can Play Barefoot, Why Can't We Wear Sports Bras, But The School Has Banned Girls On The Dress Code, Where Do You Argue?

लड़के नंगे खेल सकते हैं हम स्पोर्ट्स-ब्रा में क्यों नहीं:ड्रेस कोड पर स्कूल ने लड़कियों को किया बैन, कहा-बहस करती हो?

न्यूयॉर्क6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अमेरिका में एक स्कूल ने पूरी गर्ल्स टीम को केवल इसलिए बैन कर दिया, क्योंकि उन्होंने स्पोर्ट्स-ब्रा पहनी थी। स्कूल की लड़कियां गर्मी की वजह से स्पोर्स्ट ब्रा में खेलना चाहती थीं। जबकि स्कूल मैनेजमेंट को यह मंजूर नहीं था। स्कूल की लड़कियों का कहना है कि लड़के गर्मियों में अक्सर बिना टी-शर्ट प्रैक्टिस करते हैं।

गर्ल्स स्पोर्ट्स टीम की लड़कियों ने मैनेजमेंट पर दोहरे रवैये का आरोप लगाया है। वहीं, मैनेजमेंट का कहना है कि लड़कियों ने उनके स्टाफ के साथ बहस की। न्यूयार्क के इस स्कूल के फैसले के खिलाफ अब लड़कियां एकजुट हो रही हैं।

विरोध करने पर पूरी टीम को निकाला

न्यूयॉर्क समेत अमेरिका के कई हिस्से इन दिनों हीट वेव की चपेट में हैं। ऐसे में स्कूल की गर्ल्स एथलीट टीम स्पोर्ट्स-ब्रा पहन कर खेलना चाहती थी। लेकिन स्कूल मैनेजमेंट ने उन्हें ड्रेस कोड के साथ खेलने के लिए कहा था। ऐसे में टीम की कुछ लड़कियों ने स्पोर्ट्स-ब्रा पहन कर अपना विरोध जताया। जिसके बाद स्कूल मैनेजमेंट ने पूरी टीम को ही बैन कर दिया। जबकि अगले सप्ताह ही कुछ लड़कियों के लोकल कॉम्पिटिशन होने वाले हैं।

मेल है कोच, इसलिए नहीं पहन सकते ब्रा

स्कूल की ओर से गर्ल्स टीम को बताया गया कि उनके कोच मेल हैं। इसलिए उन्हें स्पोर्ट्स ब्रा पहन कर खेलने की इजाजत नहीं दी जा सकती। स्कूल के जेंडर बायस्ड ड्रेस कोड के खिलाफ लड़कियों ने मुहिम चलायी है। अब तब 3 हजार से ज्यादा लोगों ने इस पर हस्ताक्षर किए हैं। गर्ल्स टीम की मांग है कि उन पर कोई ऐसा फैसला न थोपा जाए जो केवल लड़कों के हिसाब से बना हो।

ड्रेस कोड केवल लड़कियों के लिए, नंगे खेलते हैं लड़के

स्कूल की गर्ल्स टीम इसलिए भी ड्रेस कोड का विरोध कर रही हैं। क्योंकि स्कूल का यह ड्रेस कोड केवल लड़कियों के लिए है। लड़के कई बार शर्ट लेस होकर खेलते हैं। इस स्कूल में आज तक ऐसे किसी भी लड़के पर एक्शन नहीं लिया गया है।

लड़कियों की कोच से हुई थी बहस

स्कूल के फैसले के बाद लड़कियों ने उसका विरोध किया। जिसके बाद लड़कियों की स्पोर्ट्स कोच और स्कूल स्टाफ से बहस हुई थी। इसी को आधार बनाते हुए अब स्कूल ने लड़कियों पर एक्शन लिया है।

खबरें और भी हैं...