• Hindi News
  • Women
  • Bride’s Nose Job Goes Wrong: Surgery Done To Look Beautiful In Marriage, Case Done On Surgeon, Asked For Rs 86 Lakh

दुल्हन की नाक का शेप बिगड़ा, दूल्हे ने तोड़ी सगाई:शादी में सुंदर दिखने के लिए कराई सर्जरी, सर्जन पर किया केस, 86 लाख रुपये मांगे

दुबई5 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

अपनी शादी के दिन सबसे सुंदर दिखने की चाहत हर लड़की की होती है। इसके लिए लड़कियां कई तरह के ब्यूटी ट्रीटमेंट भी लेती हैं। नाक और होंठ का शेप मनमाफिक कराने के लिए प्लास्टिक सर्जरी कराती हैं, लेकिन संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) की एक दुल्हन की सुंदर दिखने की चाहत ही शादी टूटने की वजह बन गई। दरअसल, दुल्हन ने शादी से पहले नाक की प्लास्टिक सर्जरी कराई, जिससे नाक का शेप बिगड़ गया। यह देखकर दूल्हे ने सगाई तोड़ दी।

अरब न्यूज रिपोर्ट के मुताबिक, यूएई की एक महिला ने अपनी शादी के दिन सबसे सुंदर दिखने के लिए नाक की प्लास्टिक सर्जरी कराई थी, लेकिन सर्जरी के बाद महिला की नाक का शेप बिगड़ गया। इससे उसका चेहरा अजीब सा दिखने लगा। यह देखकर दूल्हे ने सगाई तोड़ दी और शादी करने से साफ मना कर दिया। इससे लड़की काफी आहत हुई। लड़की ने दुबई स्थित पॉलीक्लिनिक और सर्जन मुकदमा दायर किया। इसमें शारीरिक, भावनात्मक, नैतिक और वित्तीय तौर पर नुकसान पहुंचाने का आरोप लगाया। क्षतिपूर्ति के तौर पर लड़की ने 1.11 लाख डॉलर यानी 86 लाख से अधिक रुपये मांगे।

सर्जरी कराते ही सूजन और सिरदर्द से तड़प उठी महिला
पीड़िता ने बताया कि साल 2020 में उसने दुबई के एक पॉलीक्लिनिक में अपनी नाक के आकार को सही कराने के लिए सर्जरी कराई थी। क्लिनिक में मौजूद सर्जन ने बोटॉक्स इंजेक्शन और एक फिलर के साथ उसका इलाज किया। घर पहुंचते ही महिला की नाक पर सूजन आ गई और सिरदर्द होने लगा। इसके बाद महिला सर्जन से मिलने क्लिनिक पहुंची, जहां उसे आइस पैक से सिकाई करने के लिए कहा गया। आइस पैक से सिकाई करने पर महिला का दर्द और सूजन कम होने की बजाय बढ़ गई। वह फिर क्लिनिक गई, जहां उसी सर्जन ने दो इंजेक्शन, दर्द निवारक दवा, चेहरे से झुर्रियां और घावों को ठीक करने के लिए मरहम दिया।

दूसरे डॉक्टर ने की मरहम पट्टी
जब कई हफ्ते बाद महिला की नाक ठीक नहीं हुई तो सर्जन एक अन्य डॉक्टर से मिलने के लिए क्लिनिक बुलाया। उस डॉक्टर ने महिला की नाक पर जमी पपड़ी को हटाया। मरहम लगाया और पट्टी बांध दी। मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक, टैक्सी से घर लौटते वक्त महिला की नाक से खून बह रहा था। इसके बाद ड्राइवर ने उसे नजदीक प्राइवेट हॉस्पिटल ले गया। साल 2021 में महिला ने पॉलीक्लिनिक और सर्जन के खिलाफ केस किया।

महिला की शिकायत पर बनाई गई समिति
महिला की शिकायत के बाद दुबई हेल्थ केयर अथॉरिटी के विशेषज्ञों की एक समिति बनाई गई। समिति ने मामले की जांच के बाद सर्जन को दोषी पाया। सर्जरी के चलते महिला की नाक में 10% से अधिक विकलांगता आ गई। समिति ने बताया कि सर्जन प्लास्टिक सर्जरी के लिए जरूरी सभी तकनीक से अनभिज्ञ था। उसने महिला की सर्जरी किसी एक्सपर्ट से कराने के बजाय खुद कर दी। साथ ही इस तरह के सर्जन से अपने यहां महिला की सर्जरी कराने के लिए पॉलीक्लिनिक को भी उत्तरदायी माना गया।

अदालत ने सर्जन के​ खिलाफ सुनाया फैसला
अदालत में महिला ने बताया कि उसके चेहरे विकृत हो जाने की वजह से उसकी शादी टूट गई। नौकरी छोड़नी पड़ी। इसके साथ ही उसने कभी शादी हो पाएगी, यह उम्मीद भी खो दी। उसे मानसिक और भावनात्मक तकलीफों का सामना करना पड़ा। दिसंबर, 2021 में अदालत ने पॉलीक्लिनिक और सर्जन के खिलाफ फैसला सुनाया। साथ ही महिला को 14,000 डॉलर का मुआवजा दिए जाने का फैसला सुनाया। पीड़िता ने इस मामले को बरकरार रखने के लिए अपीलीय अदालत में अपील की थी।

खबरें और भी हैं...