• Hindi News
  • Women
  • Couple From Kolkata Ties The Knot In An Intimate Ceremony Family

दूल्हा लड़का, दुल्हन भी लड़का, लिए 7 फेरे:हिंदू रीति-रिवाज से समलैंगिक जोड़े ने रचाई शादी, पुजारी ने विवाह के मंत्र भी पढ़े

नई दिल्लीएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोलकाता के एक समलैंगिक जोड़े ने बंगाली रीति-रिवाज से शादी की। उनके विवाह समारोह में करीबी दोस्त और परिवार के सदस्य शामिल हुए। अभिषेक रे और चैतन्य शर्मा ने एक करीबी समारोह में 'आई डू' कहा और उनकी शादी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर वायरल हो गई हैं।

चैतन्य ने शादी की कई तस्वीरें अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर भी शेयर कीं। सोशल मीडिया पर लोग इस कपल को जमकर बधाइयां दे रहे हैं। तस्वीरों में दोनों की खुशी साफ झलक रही है। बता दें कि भारत की पहली गे शादी 2017 में हुई थी। आईआईटी ऋषि ने विएतनाम के विन्ह से शादी कर इतिहास बनाया था। 30 दिंसबर 2017 को यह शादी हुई थी।

LGBTQ कम्युनिटी के लिए कपल करता है काम
शादी में अभिषेक ने पारंपरिक बंगाली दूल्हे के रूप में धोती और कुर्ता पहना, जबकि चैतन्य ने शेरवानी पहनी। चैतन्य ने शादी की कई तस्वीरें अपनी इंस्टाग्राम स्टोरी पर शेयर की हैं। फैशन डिजाइनर अभिषेक रे ने अपने साथी चैतन्य शर्मा से एक समारोह में शादी की, जो कोलकाता में LGBTQ+ समुदाय के लिए काम करते हैं।

शादी में सभी हिंदू रीति-रिवाजों का पालन किया गया, जिसमें एक पुजारी ने मंत्रों के बाद जोड़ों ने फेरे लिए।
शादी में सभी हिंदू रीति-रिवाजों का पालन किया गया, जिसमें एक पुजारी ने मंत्रों के बाद जोड़ों ने फेरे लिए।

पिछले साल भी एक जोड़े की शादी बना था चर्चा का विषय
इसी बीच पिछले साल दिसंबर में हैदराबाद में एक गे कपल ने शादी के बंधन में बंध गए। सुप्रियो चक्रवर्ती और अभय डांग ने अंगूठियों का आदान-प्रदान किया और हैदराबाद के बाहरी इलाके में स्थित एक रिसोर्ट में शादी के बंधन में बंध गए। समारोह का संचालन हैदराबाद की एक ट्रांसवेस्टाइट व्यक्ति सोफिया डेविड ने किया था।

इसके पहले भी कई जोड़ों की शादी चर्चा का विषय रहा है..

खुश रहने के लिए किसी की जरूरत नहीं
तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद में हुई एक शादी की खूब चर्चा रही थी। इस शादी में जोड़ा तो था, लेकिन दूल्हा-दुल्हन नहीं थे, बल्कि दोनों दूल्हे ही थे। दिल्ली के अभय डांगे (34) और पश्चिम बंगाल के सुप्रियो चक्रवर्ती (31) आठ साल से एक दूसरे को डेट कर रहे थे और अब उन्होंने शादी (समलैंगिक विवाह) कर ली है।

अभय और सुप्रियो ने शादी के बाद कहा कि खुश रहने के लिए उन्हें किसी की मंजूरी की जरूरत नहीं है।
अभय और सुप्रियो ने शादी के बाद कहा कि खुश रहने के लिए उन्हें किसी की मंजूरी की जरूरत नहीं है।

31 साल के सुप्रियो चक्रवर्ती और 34 साल के अभय डांगे की मुलाकात आठ साल पहले एक सोशल नेटवर्क प्लेटफॉर्म प्लैनेटरोमियो पर हुई थी। दोनों ने अक्टूबर में शादी की घोषणा की थी।दिल्ली के अभय डांगे सॉफ्टवेयर डेवलपमेंट मैनेजर हैं। वो हैदराबाद में ही एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करते हैं।

18 दिसंबर को दोनों ने परिवार और दोस्तों की मौजूदगी में एक-दूसरे को अंगूठी पहनाकर सगाई की रस्म पूरी की।
18 दिसंबर को दोनों ने परिवार और दोस्तों की मौजूदगी में एक-दूसरे को अंगूठी पहनाकर सगाई की रस्म पूरी की।

सगाई का कार्यक्रम भी हैदराबाद में ही रखा गया था। इस शादी में दोनों के परिवार वाले और दोस्त मौजूद रहे। शादी में शामिल हुए कुछ लोगों का कहना है कि धीरे-धीरे लोगों की सोच बदल रही है। लोग ऐसे रिलेशन को मंजूर भी कर रहे हैं। समारोह में बंगाली और पंजाबी परंपराओं के साथ हल्दी, मेहंदी और संगीत भी हुआ।

सुप्रियो होटल मैनेजमेंट लाइन में हैं। वो शिक्षा के क्षेत्र से भी जुड़े हैं। सुप्रियो और अभय ने रिंग सेरेमनी से पहले बैचलर्स पार्टी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर कीं। दोनों ने 'ग्रूम टू बी' का टैग पहना हुआ था।
सुप्रियो होटल मैनेजमेंट लाइन में हैं। वो शिक्षा के क्षेत्र से भी जुड़े हैं। सुप्रियो और अभय ने रिंग सेरेमनी से पहले बैचलर्स पार्टी की तस्वीरें सोशल मीडिया पर शेयर कीं। दोनों ने 'ग्रूम टू बी' का टैग पहना हुआ था।

फिर अभय ने सुप्रियो के लिए 'आए हो मेरे जिंदगी में तुम बहार बनके' गाना गाया। शादी LGBTQ समुदाय से संबंध रखने वाली सोफिया डेविड ने करवाई। इस शादी में पंजाबी और बंगाली रस्में निभाई गईं। इसे तेलंगाना का पहला सेम सेक्स मैरिज बताया जा रहा है।

सुप्रियो ने अपने सोशल मीडिया पर शादी की तस्वीरों को साझा किया है। इन तस्वीरों में उनकी मां उन्हें चूमकर आशीर्वाद देती नजर आ रही हैं। उनकी मां ने उनके लिए मिठाई भी बनाई।
सुप्रियो ने अपने सोशल मीडिया पर शादी की तस्वीरों को साझा किया है। इन तस्वीरों में उनकी मां उन्हें चूमकर आशीर्वाद देती नजर आ रही हैं। उनकी मां ने उनके लिए मिठाई भी बनाई।

शादी के बाद सुप्रियो चक्रवर्ती ने कहा कि हम काफी खुश हैं और हमने एक खास संदेश भी दिया कि खुश रहने के लिए किसी की इजाजत की जरूरत नहीं है।

केरल में भी हो चुकी दो शादियां

जुलाई 2018 में कोच्चि के आईटी प्रोफेशनल्स निकेश उषा पुष्करन और सोनू एमएस ने गुरुवायुर मंदिर में अंगूठियां बदल कर शादी कर ली थी। दिसंबर 2019 में निवेद एंटनी चुल्लीकल और अब्दुल रहीम केरल में दूसरे समलैंगिक विवाहित जोड़े बने थे।