• Hindi News
  • Women
  • Currently 44 Percent Of Women Workers In The Company, Female Users Also Only 30%

मस्क क्या टि्वटर को महिलाओं के काम का बनाएंगे:कंपनी में अभी 44% महिलाकर्मी, फीमेल यूजर्स बस 30%, बोर्ड में 3 महिला अधिकारी

नई दिल्ली7 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कुछ साल पहले प्यू रिसर्च सेंटर का एक सर्वे आया था, जिसके मुताबिक ट्विटर को जेंडर को लेकर समान होना चाहिए। जब ये रिसर्च आई थी, उस वक्त ट्विटर के बोर्ड मेंबर में एक भी महिला शामिल नहीं थी। 7-8 साल बाद भी बोर्ड ऑफ डायरेक्टर में मात्र तीन महिलाएं हैं।

अब दुनिया के सबसे अमीर व्यक्ति एलन मस्क का माइक्रो ब्लॉगिंग साइट ट्विटर पर पूरा कंट्रोल होगा। 44 बिलियन यानी कि लगभग 3,368 अरब खर्च करके वो इसके नए मालिक बन चुके हैं। एलन ट्विटर के कामकाज के तरीक़े से खुश नहीं रहते थे। आए दिन इसमें बदलाव की बात करते रहते थे। अब क़यास लगाया जा रहा है कि जल्द ही ट्विटर अपने कई फ़ीचर्स में बदलाव लाएगा। लेकिन सवाल ये है कि क्या एलन बाकी बदलावों के साथ जेंडर गैप को भरेंगे?

29% महिलाएं यूजर तो 43% बतौर इम्पलॉयी कंपनी में

एक डेटा के मुताबिक दुनिया भर में 21.7 करोड़ लोग ट्विटर के एक्टिव यूजर्स हैं। हर रोज 50 करोड़ ट्वीट होते हैं। इसमें महिलाओं की भागीदारी मात्र 29.6 फीसदी है, जबकि पुरुष 70.4% हिस्सेदार हैं। पिछले साल ट्विटर ने अपनी दूसरी तिमाही की डाईवर्सिटी रिपोर्ट पब्लिश की थी। उसके हिसाब से कंपनी में महिलाओं की भागीदारी बढ़ी है। लेकिन 2020 की रिपोर्ट पता चलता है कि सामान वेतन के मामले में वो अब भी बराबरी पर नहीं थीं। कंपनी की 43% महिला स्टाफ को 37% ही सैलरी मिलती है।

लीडरशिप रोल और टेक्निकल रोल में पुरुषों का दबदबा

दिसंबर 2021 तक, ट्विटर में 59.9 प्रतिशत नेतृत्व की भूमिका और 67.1 फ़ीसदी तकनीकी रोल में पुरुष थे। कुल मिलाकर, ट्विटर के सभी कर्मचारियों में महिलाओं की हिस्सेदारी 44.7 प्रतिशत थी। सभी रोल में लगभग एक प्रतिशत ही कर्मचारियों की पहचान गैर-बाइनरी या गैर-अनुरूपता के रूप में की गई है।

सभी यूज़र्स होंगे ऑथेंटिक, स्पैम बॉट अकाउंट का होगा सफ़ाया

एलन मस्क फ़्रीडम ऑफ स्पीच के पक्षधर रहे हैं। कई दफ़ा उन्होंने इसे लेकर ट्वीट किया है। यहां तक कि ट्विटर ख़रीदने के पीछे उनका सबसे बड़ा मक़सद यही है। ट्विटर से डील फ़ाइनल होने के बाद उन्होंने अपने ट्वीट में भी लिखा- ‘किसी भी लोकतंत्र में फ़्रीडम ऑफ स्पीच मूलभूत अधिकार है।’ तो पहला बदलाव फ़्री स्पीच को लेकर होगा। साथ ही ट्विटर का ऐल्गोरिद्म ओपन सोर्स किया जाएगा। प्लेटफ़ॉर्म पर जुड़े सभी ह्यूमन को ऑथेंटिकेट किया जाएगा। इसके अलावा स्पैम बॉट अकाउंट्स को हटाया जाएगा। इसका नतीजा ये होगा कि लोगों को फॉलोअर्स तेज़ी से कम होंगे।

एलन के ट्विटर ख़रीदते ही, #Leavingtwitter हुआ ट्रेंड, मीम्स की भारमार

यह न्यूज जैसे ही कंफर्म हुई कि एलन ने ट्विटर ख़रीद लिया है, तबसे ट्विटर पर हैशटैग और मीम्स की बाढ़ आ गई है। #CEOofTwitter, #Leavingtwitter, #Trump ये कुछ हैशटैग हैं जो सुबह से ट्रेंड में बने हुए हैं। एलन के टेकओवर से नाखुश कुछ यूज़र्स ने #Leavingtwitter के साथ साइट को छोड़ने का ऐलान किया तो इसका मज़ाक़ उड़ाते हुए कई यूज़र्स ने इसपर मीम बना दिया।

वहीं ट्विटर के बिकते ही ट्रंप भी अचानक से ट्रेंड में आ गए। ट्रंप और ट्विटर का विवाद खूब सुर्खियों में रहा था। ट्विटर ने उनके अकाउंट के सस्पेंड कर दिया था। ऐसे में ट्रंप का सेलिब्रेट करते हुए मीम वायरल हो रहा है।

अपने कामकाज को लेकर कब-कब ट्विटर विवादों में घिरा

बहुत सारे सोशल मीडिया प्लेटफ़ॉर्म हैं लेकिन ट्विटर उनमें सबसे पावरफुल मीडिया रहा है। यहां एक ट्वीट से चीजें बनती और बिगड़ती हैं। दुनिया के अधिकांश पावरफुल लोग इस प्लेटफ़ॉर्म पर मौजूद हैं। दुनिया के सबसे ताकतवर इंसान माने जाने वाले पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप से ट्विटर का विवाद जग ज़ाहिर है। ट्रंप के कई पोस्ट पर फैक्ट चेक और सेंसरशिप लगाने के बाद फाइनली ट्विटर ने उनका अकाउंट सस्पेंड कर दिया था। किसान आंदोलन और टूलकिट केस में भारत सरकार ने कंपनी को कई अकाउंट पर कार्रवाई करने को कहा लेकिन ऐसा हुआ नहीं। केंद्र और ट्विटर का ये विवाद कोर्ट तक पहुँच गया।

पिछले साल ट्विटर ने अचानक बीजेपी के कई बड़े नेताओं के अकाउंट से ब्लू टिक हटा दिया, तो वहीं उस वक़्त के आईटी मंत्री रविशंकर प्रसाद सिंह का अकाउंट लॉक कर दिया था। इसे पूरे मामले को लेकर भी काफ़ी खींचतान चली। 2020 के ही दिसंबर में आईटी सेल हेड अमित मालवीय ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी को लेकर एक ट्वीट था, जिस पर कंपनी ने मैनीपुलेट मीडिया का टैग लगा दिया था।