• Hindi News
  • Women
  • Do You Know What Things Need To Be Taken Care Of After Taking Laser Treatment For Facial Hair?

फेशियल हेयर:जानिए लेजर ट्रीटमेंट लेने के बाद किन बातों का ध्यान रखना है जरूरी

एक वर्ष पहलेलेखक: श्वेता कुमारी
  • कॉपी लिंक

चेहरे पर उभर आए बाल न सिर्फ महिलाओं पर अजीब दिखते हैं, बल्कि लोगों के बीच उन्हें असहज भी महसूस करवाते हैं। इन्हें हटाने के लिए थ्रेडिंग, वैक्सिंग जैसे विकल्पों की जगह अब लेजर ट्रीटमेंट ने ले ली है। ये क्या है और किस तरह काम करता है बता रही हैं डर्मेटोलॉजिस्ट डॉ. इप्शिता जोहरी।

महिलाओं के चेहरे पर बाल दो कारणों से आते हैं, पहला जेनेटिक और दूसरा हार्मोनल चेंज। डॉ. जोहरी बताती हैं कि चेहरे के बाल लोगों की नजर में सबसे पहले आते हैं, इसलिए महिलाएं अब इस ट्रीटमेंट की ओर बढ़ रही हैं। ऐसे तो लेजर की शुरुआत 20 साल पहले ही हो गई थी, लेकिन इसकी तकनीक में बढ़ोतरी और लोगों का इस ओर रुझान करीब आठ साल पहले बढ़ना शुरू हुआ।

क्यों बढ़ रहा है लेजर ट्रीटमेंट का चलन?

सबसे बड़ी वजह है कि इससे आप अनचाहे बालों से हमेशा के लिए छुटकारा पा सकती हैं। अगर आप इसकी तुलना लाइफटाइम के हेयर रिमूवल तरीकों से करेंगी, तो पाएंगी कि इसका खर्च हर महीने के एक रेजर से भी कम आता है। बस इस ट्रीटमेंट में आप कुछ सिटिंग में पैसे इकट्ठे खर्च कर देती हैं, जबकि वैक्सिंग, थ्रेडिंग में थोड़ा-थोड़ा करके पैसे खर्च करती हैं। डॉ. बताती हैं कि इस ट्रीटमेंट का न कोई साइड एफेक्ट है, न ही इससे दर्द या जलन की समस्या होती है। यही वजह है कि महिलाएं ये विकल्प चुन रही हैं। वे हिसाब लगाने पर पाती हैं कि लेजर ट्रीटमेंट किफायती होने के साथ-साथ सुविधाजनक भी है।

कैसे काम करता है लेजर ट्रीटमेंट

इस ट्रीटमेंट में बालों के रूट्स को खत्म कर दिया जाता है, जिससे उनकी ग्रोथ बंद हो जाती है। लेजर ट्रीटमेंट लेकर आपके 85 से 90 % तक के बाल आने बंद हो जाते हैं। इसके लिए कितनी सिटिंग लेनी होती हैं इस पर बात करते हुए डॉ. ने बताया कि ये बात पूरी तरह से ग्रोथ पर आधारित है। यानि जिसकी जैसी हेयर ग्रोथ उसे उतनी सिटिंग की जरुरत पड़ती है। फिर भी देखा जाता है कि 6 से 8 सिटिंग लेने के बाद चेहरे के अनचाहे बाल खत्म होने लगते हैं। वे आगे बताती हैं कि कुछ पार्लर में भी ये ट्रीटमेंट दिया जाता है, जहां चाइनीज मशीन का इस्तेमाल होता है, जो आपके लिए खतरनाक हो सकता है। चूंकि वहां हर सिटिंग का चार्ज कम होता हैं, इसलिए लोग वहां जाना पसंद करते हैं। लोगों को समझना चाहिए कि जब भी आप ट्रीटमेंट लें, आपके पास डर्मेटोलॉजिस्ट का होना जरूरी है, जिससे वो आपके स्किन टाइप को समझ सके और कोई परेशानी हो, तो उससे डील कर सके।

ट्रीटमेंट के बाद क्यों लौटते हैं बाल?

आपने सिटिंग पूरी कर ली है, तो बाल वापस नहीं आएंगे, लेकिन आपके शरीर में कोई हार्मोनल बदलाव आ रहा है, आप थायरॉइड, पीसीओडी से जूझ रही हैं या फिर प्रेग्नेंट हैं, तो बाल वापस आ सकते हैं। इसके लिए मेंटेनेंस सेशन लिया जा सकता हैं, जिससे दोबारा आए बालों से आप छुटकारा पा सकती हैं। आपका काम 1-2 सिटिंग में भी बन सकता हैं या उससे ज्यादा सिटिंग की जरूरत भी पड़ सकती है।

उम्र का ट्रीटमेंट पर असर

इस ट्रीटमेंट को लेने की सही उम्र 16 साल से लेकर 45 साल तक होती है। डॉ. जौहरी बताती हैं कि ये ट्रीटमेंट काले बालों पर ही असरदार सबित होती है। अगर आपके बाल सफेद हो चुके हैं, तो मुमकिन है आपको इस प्रोसेस का फायदा न मिले। इसलिए अगर आप इस उम्र के बीच ये विकल्प चुनती हैं, तो रिजल्ट अच्छा देखने को मिलता है। ये ट्रीटमेंट पुरुष और महिला दोनों के लिए ही मददगार साबित होती है। इसकी हर सिटिंग की फीस 5000 रूपए या उससे कम-ज्यादा हो सकती है। अगर आपने ट्रीटमेंट लिया है तो उसके बाद कड़ी धूप में निकलने और ज्यादा पसीना बहाने से बचें। साथ ही आपको ट्रीटमेंट लेने के 3 दिन पहले से 3 दिन बाद तक सैलून एक्टिविटी से बचने की जरूरत है।

खबरें और भी हैं...