• Hindi News
  • Women
  • Elder Brother Gave The Idea Before Death, Both Were Living In Poverty After Mother's Death

जेल की रोटी के लिए ‘झूठा हत्यारा’ बना:बड़े भाई ने मरने से पहले दिया आइडिया-मां की मौत के बाद गरीबी में थे दोनों

कोलकाता6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

कोलकाता में एक शख्स ने थाने पहुंच कर पुलिस को बताया कि उसने अपने बड़े भाई की हत्या की है। शख्स का कहना था इसके लिए उसे जेल भेजा जाए। लेकिन जब पुलिस ने मृतक का पोस्टमार्टम कराया तो उसमें बीमारी से मौत की बात सामने आई। जिसके बाद पूछताछ करने पर खुद को भाई का हत्यारा बताने वाले शख्स ने मुफ्त के खाने के लिए जेल जाने की बात कही।

खास बात यह है कि मरने से पहले बड़े भाई ने ही उसे यह आइडिया दिया था। क्योंकि शख्स बेरोजगार था और उसके पास जीविका का कोई दूसरा साधन नहीं था। मां के मरने के बाद दोनों गरीबी में जी रहे थे।

बड़े भाई ने मरने से पहले दिया था आइडिया

कोलकाता का रहने वाला शुभाशीष चक्रवर्ती नाम के शख्स ने पुलिस को बताया कि उसने अपने बड़े भाई की हत्या कर दी है। पुलिस जब मौके पर पहुंची तो वहां सचमुच उसके बड़े भाई की लाश पड़ी थी। उसका मुंह तकिया से ढंका था। ताकि ऐसा लगे कि उसकी सांसें रोक कर उसे मारा गया हो। लेकिन शुभाशीष की बातों से पुलिस को शक हुआ। बाद में यह बात सामने आई कि शख्स की हत्या नहीं हुई, बल्कि उसकी मौत सेरिब्रल स्ट्रोक से हुई है।

जीवन भर जेल की रोटी खाना चाहता था शख्स

पूछताछ में शुभाशीष चक्रवर्ती ने बताया उनकी मां ही दोनों भाइयों का खर्च उठाती थीं। कुछ दिन पहले मां की मौत के बाद दोनों 15 हजार रुपए पेंशन पर गुजारा कर रहे थे।

बड़े भाई को अपनी खराब तबीयत देख कर मौत का अंदेशा हो गया था। पेंशन भी उसे ही मिलती थी। ऐसे में उसने अपने बेरोजगार छोटे भाई को गुजारे के लिए एक आइडिया दिया। उसने बताया कि उसकी मौत के बाद वह पुलिस के सामने हत्या की बात कहे और जेल चला जाए। हत्या के जुर्म में आजीवन कारावास होने पर उसे जीवन भर खाने की चिंता नहीं होगी। बड़े भाई की इसी बात पर अमल करते हुए शुभाशीष थाने गया था। लेकिन पुलिस ने उसके इस खेल को पकड़ लिया।

खबरें और भी हैं...