• Hindi News
  • Women
  • Indias Laughter Champion Rohit Sharma: Heart Got Entangled In Comedy And Mind Job, Then Wife Said You Choose Passion, I Will Run The House

इंडियाज लाफ्टर चैंपियन में छाए राजस्थान के रोहित:इंजीनियर की नौकरी छोड़ कॉमेडी की राह चुनी तो पत्नी बाेली-तुम अपना शौक पूरा करो, घर मैं चलाऊंगी

नई दिल्लीएक महीने पहलेलेखक: दीप्ति मिश्रा
  • कॉपी लिंक

मैं रोहित शर्मा... जब यह युवा मंच से अपना परिचय देता है तो ऑडिटोरियम हंसी के ठहाकों और तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठता है। हर पंच पर लोग हंसते-हंसते लोटपोट हो जाते हैं। कॉरपोरेट की अच्छी-खासी नौकरी छोड़ हंसने-हंसाने को फुल टाइम करियर बनाने वाले रोहित शर्मा ने टीवी शो इंडियाज लाफ्टर चैंपियन के क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली है। शो में उनकी परफॉर्मेंस देख जज शेखर सुमन और अर्चना पूरन सिंह ने रोहित की प्रतिभा की जमकर सराहना की और उन्हें कॉमेडी की 'होप' बताया। रोहित अपनी सफलता का श्रेय अपनी पत्नी को देते हैं। पढ़िए, भास्कर वुमन से स्टैंड अप कॉमेडियन रोहित शर्मा की बातचीत...

स्टैंड अप कॉमेडियन रोहित शर्मा राजस्थान के सीकर जिले के फतेहपुर शेखावाटी के मूलनिवासी हैं और इन दिनों मुंबई में रह रहे हैं। इस रविवार को प्रसारित हुए इंडियाज लाफ्टर चैंपियन के एपिसोड में रोहित बेहद चुटीले अंदाज में घर-परिवार, वर्कप्लेस और टेक्नोलॉजी के बदलते तेवर पर व्यंग करते नजर आ रहे हैं। उनका वन लाइन ह्यूमर कमाल का है। वह लोगों को हंसाते हैं और साथ ही सोचने को मजबूर भी कर देते हैं। शो में उनकी परफॉर्मेंस देख जज शेखर सुमन और अर्चना पूरन सिंह ने रोहित के चुटीले अंदाज और परफेक्ट टाइमिंग की खूब तारीफ की। उन्होंने रोहित को कॉमेडी की होप और लाफ्टर की तोप करार दिया। साथ ही इस एपिसोड को बेहद अलग और यादगार बताया।

इंडियाज लाफ्टर चैंपियन के मंच पर स्टैंड अप कॉमेडियन रोहित शर्मा। रोहित ने अपनी पढ़ाई-लिखाई मुंबई से हुई पूरी की है।
इंडियाज लाफ्टर चैंपियन के मंच पर स्टैंड अप कॉमेडियन रोहित शर्मा। रोहित ने अपनी पढ़ाई-लिखाई मुंबई से हुई पूरी की है।

पेशे से इंजीनियर और नेचर से कॉमेडियन
मुंबई से फोन पर बातचीत में रोहित शर्मा बताते हैं, 'मेरे पिता एक हास्य कवि हैं और मां गृहणी। बचपन से ही मुझे खुशनुमा माहौल पसंद है। हंसना और हंसाना अच्छा लगता था। दोस्तों के बीच चुटकुले सुनाता। लोगों की नकल कर सबको हंसाता। स्कूलिंग खत्म कर इंजीनियरिंग के लिए कॉलेज पहुंचा। वहां मैं ज्यादातर कार्यक्रमों में मंच संचालन करता। हालांकि, तब तक कभी नहीं सोचा था कि एक दिन मैं अच्छी खासी नौकरी और मोटी सैलरी छोड़कर लोगों को हंसाने को ही अपना करियर चुनूंगा। इंजीनियरिंग की पढ़ाई खत्म कर जॉब मिल गई। सैलरी ठीक ठाक मिलने लगी थी तो घर-परिवार की गाड़ी भी पटरी पर दौड़ने लगी। शादी भी हो गई।'

रोहित शर्मा कहते हैं कि नौकरी के साथ-साथ मैंने शौकिया तौर पर हास्य सम्मेलनों में जाना शुरू कर दिया। धीरे-धीरे मुझे सम्मेलन से बुलावा आने लगा। कुछ दिन तो पैशन और प्रोफेशन दोनों को साथ-साथ चलते रहे, लेकिन जब शो के ऑफर्स बढ़ने लगे और छुट्टी मिलती नहीं थी। मेरा दिल चाहता था कि मैं अपना पैशन चुनूं, लेकिन दिमाग घर-परिवार की जिम्मेदारी के बारे में सोचकर नौकरी को ही प्राथमिकता दे रहा था। दिल और दिमाग की गुत्थी सुलझ ही नहीं रही थी।

माता-पिता, पत्नी और बेटी के साथ कॉमेडियन रोहित शर्मा।
माता-पिता, पत्नी और बेटी के साथ कॉमेडियन रोहित शर्मा।

पत्नी बोली- सिर्फ घर चलाने के लिए पैशन मत छोड़िए..
नौकरी छोड़कर शो करने के बारे में परिवार को बताया तो घर में मातम सा माहौल हो गया। पापा बोले- पागल है क्या। मैंने जिंदगी भर शो किए हैं। शो कभी मिलते हैं तो कभी नहीं, लेकिन घर के खर्चे कभी-कभी आने वाले पैसों से नहीं चलते। घर के माहौल को देखकर मैं कुछ सोच नहीं पा रहा था। उस वक्त पत्नी मेरी हिम्मत बनी। उसने कहा कि अगर आपका पैशन लोगों को हंसाना है और ऐसा करके आपको खुशी मिलती है तो अपना पैशन फॉलो कीजिए। आपको डर है कि घर कैसे चलेगा तो उसकी चिंता मत कीजिए, मैं काम करूंगी और घर चलाऊंगी। सिर्फ घर चलाने के लिए अपना पैशन मत छोड़िए।

पैशन से की दोस्ती और जॉब से किया रिजाइन
रोहित शर्मा बताते हैं कि महिला...यानी 'म' से ममता, 'हि' से हिम्मत और 'ल' से लाज। उस वक्त मुझे महिला शब्द का सही अर्थ समझ आया। मैं रिजाइन करके फुल टाइम शो करने लगा। पापा की बिना हेल्प लिए शो करने शुरू कर दिए। थोड़ा वक्त बीता ही था कि कोविड-19 आ गया। पूरी दुनिया घर में पैक हो गई। शो बंद हो गए। वाइफ प्रेग्नेंट थी। आय के सारे साधन ठप हो गए। एकबारगी उस वक्त लगा था कि शायद मैंने गलत फैसला ले लिया। हालांकि, वक्त के साथ सब ठीक हो गया। महामारी का कहर कम हुआ तो काम भी शुरू हो गया।

इस तरह उतार-चढ़ाव के दौर से गुजरते हुए इंडियाज लाफ्टर चैंपियन तक पहुंचा। अब तक कई मुशायरों-कवि सम्मेलनों में शिरकत कर चुका हूं, लेकिन इस शो से एक अलग ही पहचान मिल रही है। बता दें कि सोनी टीवी के इस शो को शेखर सुमन और अर्चना पूरन सिंह जज कर रहे हैं।

पत्नी और बेटी के साथ कॉमेडियन रोहित शर्मा। रोहित बताते हैं कि टीवी शो इंडियाज लाफ्टर चैंपियन के बाद से उनके पास कई शो के ऑफर आने लगे हैं।
पत्नी और बेटी के साथ कॉमेडियन रोहित शर्मा। रोहित बताते हैं कि टीवी शो इंडियाज लाफ्टर चैंपियन के बाद से उनके पास कई शो के ऑफर आने लगे हैं।

लव मैरिज है या अरेंज मैरिज?
रोहित शर्मा मजाकिया अंदाज में जवाब देते हैं, 'मेरी शादी घर वालों की मेहनत है। पत्नी पेशे से अकाउंटेंट है। शायद इसलिए घर में प्यार, खुशी और सुकून बनाए रखने की उनकी कैलकुलेशन भी जबरदस्त है। एक कलाकार के लिए सबसे बड़ी चुनौती है- वर्क लाइफ और पर्सनल लाइफ बैलेंस करना। घर से निकलने के बाद लौटने का कोई समय नहीं। घर में होकर भी घर वालों के साथ नहीं होता। अगले शो की तैयारी में लगा होता हूं। ऐसे में घर वालों का सपोर्टिव होना बहुत जरूरी है। इस मामले में मैं थोड़ा लकी हूं। मुझे घरवालों का पूरा सपोर्ट मिलता है। अभी परिवार में साढ़े चार लोग हैं। मां-पापा, हम पति-पत्नी और दो साल की बेटी। रोहित हंसते हुए कहते हैं, मुझे लगता है कि शायद श्री​म​ती जी की कैलकुलेशन गड़बड़ हो गई थी, जो उन्होंने मुझे चुना। जबकि उन्हें लगता है कि उसने मास्टरस्ट्रोक मारा है। बस इसी खुशफहमी में परिवार खुशहाल बना हुआ है।'

खबरें और भी हैं...