• Hindi News
  • Women
  • If The Girl Is Older Than The Boy, Then There Is No Relationship, All The Rituals Are Performed

कर्नाटक में करवाई जाती है मरे हुए लोगों की शादी:लड़की-लड़के से बड़ी होती है तो नहीं होता है रिश्ता, निभाई जाती हैं सारी रस्मे

नई दिल्ली2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

हमारे यहां कई तरीके से शादियां होती, जगह, धर्म, जात बदलते ही शादी करने के तरीके भी बदल जाते हैं। आपने कई तरीके की शादियों के बारे में सुना होगा, लेकिन क्या कभी आपने ये सुना है कि दो मरे हुए लोगों की भी शादी होती है। जी हां.. कर्नाटक में दो ऐसे लोग जो कि मर चुके हैं उनकी शादी करवाई जाती है।

हाल ही में एनी अरुण नाम के एक यूट्यूबर ने इसके बारे में ट्वीट करते हुए जानकारी दी है। कर्नाटक में दक्षिण कन्नड़ जिले में दो बच्चों के मरने के बाद उनकी शादी कराने की प्रथा है। इस प्रथा को 'प्रेत कल्याणम' के नाम से जाना जाता है। कर्नाटक और केरल के कुछ हिस्सों में आज भी कुछ समुदाय इस प्रथा को निभाते है। आइए आपको बताते हैं कैसे होती है ये शादी।

यूट्यूबर ने ट्विटर पर डीटेल में वीडियो शेयर कर के दी जानकारी

एनी अरुण नाम के एक यूट्यूबर ने लिखा "मैं आज एक शादी में शामिल होने जा रहा हूं। आप पूछ सकते हैं कि इसमें ट्वीट करने वाली क्या बात है। खैर, ये 'प्रेत कल्याणम' है, जिसमें दूल्हा और दुल्हन लगभग 30 साल पहले मर चुके हैं। आज उनकी शादी करवाई जा रही है। ये दक्षिण कन्नड़ की एक परंपराओं या प्रथा है, कुछ लोगों को ये अजीब भी लग सकता है। ये शादी जन्म के दौरान मरने वाले बच्चे के बीच करवाई जाती है। अगर आप सोच रहे हैं कि इस शादी को तय करना आसान है, तो ऐसा नहीं है। हाल ही में इस दूल्हे के परिवार ने एक दुल्हन को इसलिए मना कर दिया था क्योंकि दुल्हन दूल्हे से कुछ साल बड़ी थी।"

शादी के सभी रस्में निभाए जाते हैं

'प्रेत कल्याणम' के दौरान सगाई से लेकर शादी तक की सारी रस्में निभाई जाती हैं। सारे रीति-रिवाज दूल्हे और दुल्हन के परिवार द्वारा निभाई जाती है। रीत के अनुसार सबसे पहले दूल्हा साड़ी लाता है जिसे दुल्हन मुहूर्त होते ही पहनती है। दूल्हा और दुल्हन के बैठने के लिए अलग से 2 कुर्सियां भी रखी जाती हैं। शादी में मौजूद रिश्तेदार कन्यादान करते हैं, फेरे करवाते हैं, मंगलसूत्र पहनवाते हैं। शादी होने के बाद दूल्हा-दुल्हन घर से बाहर आकर चारों दिशाओं से आशीर्वाद लेते हैं। इसके बाद दुल्हन-दूल्हे के घर में गृह प्रवेश भी करती है।

अंत में दुल्हन के परिवार ने अपनी बेटी की जिम्मेदारी दूल्हे के परिवार को सौंप देते हैं। जैसे कि विदाई होती है। शादी खत्म होने के बाद सबको खाना भी खिलाया जाता है, जैसे और किसी शादी में खिलाया जाता है।

बच्चें या कंवारे नहीं होते हैं इस शादी में शामिल

ऐसी शादी को लेकर मान्यता है कि इसमें बच्चे और अनमैरिड लोग नहीं जा सकते हैं। इस शादी के दौरान दूल्हे और दुल्हन का नाम भी रखा जाता है। प्रेत कल्याणम से जुड़ी सारी जानकारी यूट्यूबर एनी अरुण ने अपने ट्विटर पर पोस्ट की है। लोग इस शादी के बारे में जान कर अलग-अलग तरीके से रिएक्ट कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...